मुख्य समाचार:

Credit Card पर देने पड़ते है ये 7 चार्जेज, बैंक अक्सर छुपाते हैं जानकारी

Credit Card के एक गलत इस्तेमाल से आपको सालाना 36 से 48 फीसदी तक ब्याज देना पड़ सकता है, जो कि बहुत ज्यादा है.

August 29, 2018 1:42 PM
credit card hidden charges, credit card hidden fees, hidden charges of credit card, hidden charges of sbi credit card, hidden charges of icici credit card, hidden charges of hdfc credit card, business news in hindiCredit Card के एक गलत इस्तेमाल से आपको सालाना 36 से 48 फीसदी तक ब्याज देना पड़ सकता है, जो कि बहुत ज्यादा है.

मौजूदा वक्त में क्रेडिट कार्ड किसी के लिए वरदान तो किसी के लिए अभिशाप की तरह है. क्रेडिट कार्ड से दूर रहना अभी के दौर में मुश्किल है लेकिन क्या आप जानते हैं कि जब बैंक कर्मचारी आपको क्रेडिट कार्ड देते हैं तो अधिकतर मुफ्त है कहकर ही देते हैं. बैंक आपको यह नहीं बताता है कि आपके क्रेडिट कार्ड पर छिपे हुए शुल्क हैं. यहां कुछ शुल्क के बारे में बताया जा रहा है जो आपके क्रेडिट कार्ड पर लागू होते हैं और जिनके बारे में आपको पता होना चाहिए.

सालाना मेंटेनेंस चार्ज

यह वार्षिक रखरखाव शुल्क है जो क्रेडिट कार्ड के लिए लागू होता है. जब फ्री क्रेडिट कार्ड की पेशकश की जाती है तो इसका मतलब है कि जॉइनिंग फीस और सालाना फीस से सिर्फ एक निश्चित समय के लिए छूट दिया गया है.

ब्याज शुल्क

क्रेडिट कार्ड का मासिक बिल आपको कुल ड्यू अमाउंट और मिनिमम ड्यू अमाउंट दिखाता है. कई बार लोग मिनिमम ड्यू अमाउंट का भुगतान करना चुनते हैं, यह मानते हुए कि बाकी अमाउंट को बाद में भुगतान किया जा सकता है. लेकिन इससे आप कर्ज के जाल में उलझ जाएंगे. ड्यू अमाउंट पर बैंक आम तौर पर मासिक 3 से 4 फीसदी की दर से ब्याज वसूलते हैं. लेकिन क्रेडिट कार्ड के लिए ब्याज की मासिक दर आम तौर पर सालाना 36 फीसदी से 48 प्रतिशत तक होती है, जो कि बहुत ज्यादा है.

GST

मौजूदा जीएसटी दरों के अनुसार क्रेडिट कार्ड के तहत किए गए सभी लेनदेन जीएसटी के अंतर्गत आते हैं.

विलंब शुल्क

यदि कोई व्यक्ति समय पर ड्यू अमाउंट का भुगतान नहीं करता है, तो बैंक अतिरिक्त शुल्क लगाता है जिसे ‘लेट पेमेंट चार्ज’ कहा जाता है. जब ड्यू डेट के बाद भुगतान किया जाता है तब यह शुल्क लागू होता है. यह एक सपाट शुल्क राशि होती है और यह इंटरेस्ट चार्ज पर निर्भर नहीं होती है.

ओवरड्राफ्ट चार्ज

जब कोई ग्राहक अपने क्रेडिट कार्ड पर निर्धारित मासिक क्रेडिट सीमा से अधिक खर्च करता है तो ओवरड्राफ्ट चार्ज देना होता है.

पेट्रोल शुल्क

रेल टिकट और पेट्रोल खरीदने के लिए क्रेडिट कार्ड से अतिरिक्त शुल्क देना होता है.

ATM निकासी शुल्क

ग्राहकों के पास क्रेडिट कार्ड के माध्यम से एटीएम से पैसे निकासी की सुविधा भी होती है. हालांकि, ऐसे लेन-देन के लिए अलग से शुल्क देना होता है. यह शुल्क आप जितने की निकासी करेंगे उसका करीब 2.5 फीसदी रहता है. इसके अलावा, निकासी की तारीख से नकद पर ब्याज देय होगा और यह ब्याज लागत सालाना 36 फीसदी से 48 फीसदी तक हो सकती है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. Credit Card पर देने पड़ते है ये 7 चार्जेज, बैंक अक्सर छुपाते हैं जानकारी

Go to Top