scorecardresearch

Covid Effect on Travel Insurance: कोरोना ने बदल दी ट्रैवल इंश्योरेंस की दुनिया, सर्वे में हुआ अहम खुलासा

Travel Insurance: कोरोना महामारी के चलते ट्रैवल इंश्योरेंस को लेकर लोगों के नजरिए में अहम बदलाव आया है. इसे लेकर एक सर्वे में अहम नतीजे सामने आए हैं.

Covid Effect on Travel Insurance: कोरोना ने बदल दी ट्रैवल इंश्योरेंस की दुनिया, सर्वे में हुआ अहम खुलासा
Travel Insurance: ट्रैवल इंश्योरेंस पॉलिसी के लिए आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस, बजाज एलियान्ज, एस्को जनरल इंश्योरेंस, एचडीएफसी एर्गो जनरल इंश्योरेंस और एसबीआई जनरल इंश्योरेंस अहम बीमा कंपनियां हैं. (Image- Pixabay)

Covid Effect on Travel Insurance: कोरोना महामारी ने घूमने-फिरने को लेकर लोगों की प्रवृत्ति में काफी बदलाव लाया है. जैसे कि कोरोना महामारी के बाद अब अधिकतर अंतरराष्ट्रीय सफर किसी उद्देश्य के लिए किए जा रहे हैं जैसे कि किसी काम या कारोबार के सिलसिले में या स्वास्थ्य कारणों से. इसके अलावा ट्रैवल इंश्योरेंस को लेकर भी लोगों के रूझान में बदलाव आया है. पहले इंटरनेशनल ट्रिप के दौरान इस प्रकार के इंश्योरेंस को लेकर जागरुकता व अडॉप्शन यानी पॉलिसी खरीदने का आंकड़ा 50 फीसदी थी लेकिन महामारी के बाद यह बढ़कर 76 फीसदी गया.

ट्रैवल इंश्योरेंस को लेकर ये अहम खुलासा आईसीसीआई लोम्बार्ड के एक सर्वे से हुआ है. इसमें लोगों के ट्रैवल बिहैवियर और भविष्य में ट्रैवल इंश्योरेंस को लेकर उनके इरादों को लेकर सर्वे किया गया. बता दें कि ट्रैवल इंश्योरेंस पॉलिसी के लिए आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस, बजाज एलियान्ज, एस्को जनरल इंश्योरेंस, एचडीएफसी एर्गो जनरल इंश्योरेंस और एसबीआई जनरल इंश्योरेंस अहम बीमा कंपनियां हैं.

Travel Festival Sale: हवाई टिकट बुकिंग पर 15% तक की छूट, पेटीएम ने पेश की शानदार डील, चेक करें कैसे उठायें फायदा

सर्वे में ये नतीजे आए सामने

  • महामारी ने ट्रैवल इंश्योरेंस को एक कमोडिटी से बदलकर जरूरत में बदल दिया है और अब अधिक से अधिक लोग विदेशी यात्राओं का इंश्योरेंस कराने पर फोकस कर रहे हैं.
  • कोरोना महामारी के बाद अधिकतर विदेशी यात्राएं महज घूमने-फिरने की बजाय किसी उद्देश्य को लेकर हुई जैसे कि कारोबार/काम या स्वास्थ्य कारण.
  • कोरोना से पहले विदेशी यात्राओं के लिए ट्रैवल इंश्योरेंस को लेकर जागरुकता और यह पॉलिसी खरीदने का आंकड़ा 50 फीसदी था जो महामारी के बाद बढ़कर 76 फीसदी हो गया. वहीं जिन लोगों ने भविष्य में विदेशी सफर की योजना बनाई है, उनमें से 94 फीसदी ने यह इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने की इच्छा जाहिर की है.
  • ट्रैवल इंश्योरेंस में अधिकतर ट्रैवलर्स सिर्फ मेडिकल कवरेज ही नहीं बल्कि कोविड कवरेज भी चाहते हैं और यह कवरेज नॉन-मेडिकल कवरेज में भी चाहते हैं.
  • ट्रैवल इंश्योरेंस की खरीदारी अधिकतर डिजिटल माध्यम से हो रही है. करीब एक तिहाई यात्री जो ट्रैवल इंश्योरेंस लेना चाहते हैं, उन्होंने इसके लिए किसी इंश्योरेंस कंपनी की वेबसाइट पर जाने की योजना बनाई है. वहीं 30 फीसदी यात्री इसे ऑनलाइन एग्रीगेटर्स और ऑनलाइन ट्रैवल प्लेटफॉर्म से खरीद रहे हैं.

इस तरह हुआ सर्वे

यह सर्वे 25 से 55 वर्ष के 798 लोगों पर किया गया जिन्होंने कम से कम पिछले दो वर्षों में कोई सफर किया हो या पिछले छह महीने में एक विदेशी ट्रिप किया हो या अगले 6-8 महीने में सफर की योजना बना रहे हों. सर्वे 11 मई से 20 मई 2022 के बीच किया गया. सर्वे में दिल्ली, मुंबई, वाराणसी, रांची, कोलकाता, मुंबई, नागपुर, पटना, चेन्नई, कोच्चि और हैदराबाद समेत 23 शहरों से 453 पुरुष और 345 महिलाएं शामिल थीं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News