मुख्य समाचार:

कोरोना: हेल्थ इंश्योरेंस का प्रीमियम देना आसान, 31 मार्च 2021 तक रिन्यूअल पर किस्तों में कर सकेंगे भुगतान

IRDAI ने इंश्योरेंस कंपनियों को पॉलिसी धारकों के लिए प्रीमियम भुगतान की किस्तों में सुविधा शुरू करने को कहा है.

April 22, 2020 3:02 PM
coronavirus crisis now you can pay premium for health insurance in installments for policy which have renewal due for 31 march 2021IRDAI ने इंश्योरेंस कंपनियों को पॉलिसी धारकों के लिए प्रीमियम भुगतान की किस्तों में सुविधा शुरू करने को कहा है.

इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (IRDAI) ने उन निर्देशों में ढील दी है जिनसे हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी में छोटे बदलाव लाने के लिए कम से कम 12 महीने के अंतर को अनिवार्य किया गया था. इसके चलते IRDAI ने इंश्योरेंस कंपनियों को पॉलिसी धारकों के लिए प्रीमियम भुगतान की किस्तों में सुविधा शुरू करने को कहा है. उसने कहा है कि उन सभी स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी जिनका 31 मार्च 2021 तक रिन्यूअल होना है, उनके लिए प्रीमियम किस्त की सुविधा को 12 महीने की अवधि (एक पॉलिसी ईयर) के लिए स्थायी फीचर या अस्थायी राहत के तौर पर पेश किया जा सकता है.

पॉलिसी बाजार डॉट कॉम में हेल्थ इंश्योरेंस हेड अमित छाबड़ा ने कहा कि जब भी ग्राहकों के हित की बात होती है, IRDAI हमेशा ग्राहकों के साथ खड़ा होता है. एक बार फिर ग्राहकों के हित के बारे में सोचते हुए, IRDAI ने स्टैंडलोन हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियों और जनरल इंश्योरेंस कंपनियों को निर्देश जारी किए हैं जिसमें उन्हें ग्राहकों को इंश्योरेंस पॉलिसी के प्रीमियम का एकमुश्त राशि की जगह किस्तों में भुगतान का विकल्प शुरू करने के लिए कहा गया है. उन्होंने बताया कि यह उन सभी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के लिए लागू है, जिनका रिन्यूअल 31 मार्च 2021 तक होना है. पॉलिसी धारक अपनी सहूलियत के मुताबिक चुन सकते हैं क्योंकि प्रीमियम दोनों स्थितियों में समान रहेगा.

सालाना आधार पर लिया जाता है प्रीमियम

समान्य तौर पर, हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के प्रीमियम का भुगतान पॉलिसी धारकों द्वारा सालाना आधार पर किया जाता है. ज्यादातर इंश्योरेंस कंपनियां सालाना प्रीमियम के लिए कहती हैं, इसलिए सामान्य तौर पर पॉलिसी धारक साल में एक बार प्रीमियम का भुगतान करते हैं.

हालांकि, हेल्थ इंश्योरेंस गाइडलाइंस के मुताबिक, रेगुलेटर ने इंश्योरेंस कंपनियों को प्रीमियम भुगतान के दूसरे विकल्पों को जोड़ने की इजाजत दी है जिसमें अलग फ्रिक्वेंसी और किस्तों में प्रीमियम लेना शामिल है. कुछ इंश्योरेंस कंपनियां साथ में दो साल के लिए प्रीमियम का भुगतान का विकल्प देती हैं और इससे वे डिस्काउंट देती हैं.

कोरोना संकट में खुद को आर्थिक रूप से रखें मजबूत, काम आएंगे ये 4 टिप्स

प्रीमियम भुगतान को आसान बनाने की जरूरत

IRDAI ने सर्कुलर जारी किया है जिसमें पॉलिसी धारकों से किस्तों में प्रीमियम लेने के मौजूदा नियम को दोहराया गया है. यह खासकर मौजूदा स्थिति को देखते हुए कहा गया है दब कोरोना महामारी की वजह से हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम के भुगतान को आसान बनाने की जरूरत है. इंश्योरेंस कंपनियां ऐसा कर सकती हैं और सभी या कुछ हेल्थ इंश्योरेंस प्रोडक्ट्स के लिए किस्तों में प्रीमियम ले सकती हैं. पॉलिसी धारक के तौर पर आपको कंपनी के साथ चेक करना चाहिए कि आपकी पॉलिसी के लिए क्या किस्तों में प्रीमियम का भुगतान किया जा सकता है.

हालांकि, किस्त की सुविधा देने पर इंश्योरेंस कंपनी को रेगुलेटर द्वारा निर्धारित की गई शर्तों को पूरा करना होगा. इंश्योरेंस कंपनी मासिक या तिमाही तौर पर प्रीमियम के भुगतान को दे सकता है. हालांकि, बेसिक प्रीमियम में कोई बदलाव नहीं होगा. प्रीमियम के भुगतान की फ्रिक्वेंसी को बदलने के लिए वजहें सही होनी चाहिए.

 

(स्टोरी: सुनील धवन)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. कोरोना: हेल्थ इंश्योरेंस का प्रीमियम देना आसान, 31 मार्च 2021 तक रिन्यूअल पर किस्तों में कर सकेंगे भुगतान

Go to Top