सर्वाधिक पढ़ी गईं

उम्र के हर पड़ाव पर रहेंगे ‘बादशाह’, पैसे बनाने के लिए हर समय है शानदार मौका

Investment: सही समय पर चुनें निवेश का सही विकल्प

April 10, 2019 6:59 AM
Investment, Right Investment, Invest According To Age, Mutual Fund, PPF, RD, FD, म्यूचुअल फंड, एफडी, आरडी, पीपीएफ, उम्र के हिसाब से करें निवेशInvestment: सही समय पर चुनें निवेश का सही विकल्प

Investment: आप कॉलेज स्टूडेंट हों या करियर की शुरूआत कर रह हों, मिड एज ग्रुप में हों या रिटायरमेंट के करीब हों, हर समय पैसों की जरूरत होती है. इन सभी उम्र के दौर में जरूरतें अलग होती हैं. लेकिन पैसों की आवश्यकता सभी को होती है. इसलिए जरूरी है कि उम्र के अलग अलग दौर के लिए फाइनेंशियल प्लानिंग जरूर करें. आज के समय कैपिटल मार्केट में कई ऐसे विकल्प मौजूद हैं जो वित्तीय सुरक्षा कम जोखिम के साथ दे सकते हैं. अगर आप सही योजनाओं का चुनाव कर लें तो उम्र के हर मोड़ पर खुद को बादशाह समझ सकते हैं.

Investment: सही समय पर सही विकल्प

BPN फिनकैप के डायरेक्‍टर एके निगम का कहना है कि जीवनशैली में बदलाव आने से जरूरतें बढ़ी हैं और उसी अनुपात में खर्च भी. किसी भी समय हमें ज्यादा पैसों की जरूरत पड़ सकती है. इसलिए जरूरी है कि इसकी तैयारी पहले से कर ली जाए. हालांकि अलग अलग उम्र के दौर में एक जैसे इंस्ट्रूमेंट में निवेश नहीं किया जा सकता है. जैसे कि अगर उम्र कम है तो निवेश का लक्ष्य लंबा हो सकता है. ऐसे में रिस्क लिया जा सकता है. लेकिन 50 या 60 की उम्र में सेफ रिटर्न ध्यान में रखना जरूरी है. वहीं यह रिस्क लेने की क्षमता पर भी निर्भर है. इसलिए जरूरी है कि सही समय पर सही विकल्प चुना जाए.

उम्र : 8-17 साल

(अगर बच्चे के नाम से करना हो निवेश)

निवेश का लक्ष्य: लंबी अवधि

कहां करें निवेश

  • इक्विटी और बैलेंस फंड (अगर जोखिम लेने की क्षमता है)
  • MIP म्यूचुअल फंड (मीडियम रिस्क)
  • डेट फंड्स (कम रिस्क)
  • शॉर्ट टर्म डेट फंड
  • रेकरिंग डिपॉजिट/SIP का विकल्प चुन सकते हैं.
  • इनकम बढ़ने के साथ साथ इन योजनाओं में मंथली निवेश भी बढ़ाते जाए.
  • हाइब्रिड फंड में भी निवेश बेहतर विकल्प है.

उम्र : 21 से 35 साल

निवेश का लक्ष्य: लांग टर्म

अगर 35 साल या इससे कम उम्र का निवेशक है तो निवेश के लिए ज्यादा समय मिल जाता है. ऐसे में जोखिम लेने की क्षमता भी बढ़ जाती है. ऐसे निवेशकों को अभी के माहौल में सबसे ज्यादा अलोकेशन मिड एंड स्मालकैप में करना चाहिए.

अलोकेशन

मिड एंड स्मालकैप इक्विटी फंड में 45%
मल्टीकैप फंड में 35%
लॉर्जकैप फंड में 20%

  • रेकरिंग डिपॉजिट/SIP का विकल्प चुन सकते हैं.
  • 5 साल की तक बैंक एफडी, पीपीएफ जो मेच्योरिटी पर अछा अमाउंट दे सकते हैं.

उम्र: 35 से 50 साल

निवेश का लक्ष्य: मिड टर्म

अगर 35 साल से 50 साल के बीच की उम्र का निवेशक है तो यही मान सकते हैं जोखिम लेने की क्षमता मॉडरेट होती है, क्योंकि यहां यंग इन्वेस्टर्स की तुलना में निवेश का लक्ष्य कम समय के लिए होता है. ऐसे इन्वेस्टर्स को मल्टीकैप सेग्मेंट को प्राथमिकता देनी चाहिए. इसके बाद लॉर्जकैप और फिर मिड एंड स्मालकैप में निवेश कर सकते हैं.

अलोकेशन

मल्टीकैप फंड में 40%
लॉर्जकैप फंड में 40%
मिड एंड स्मालकैप फंड में 20%

  • रेकरिंग डिपॉजिट/5 साल की एफडी
  • पोस्ट ऑफिस का मंथली इनकम प्लान

उम्र: 50 साल से ज्यादा

निवेश का लक्ष्य: शॉर्ट टर्म

अगर 50 साल से ज्यादा उम्र का निवेशक है तो यही मान सकते हैं जोखिम लेने की क्षमता नहीें होती है. इनके पास निवेश का लक्ष्य शॉर्ट टर्म का होता है. जोखिम न लेने वालों के लिए लॉर्जकैप सेग्मेंट में सबसे ज्यादा निवेश करना चाहिए.

अलोकेशन

लॉर्जकैप फंड में 50%
मल्टीकैप फंड में 40%
मिड एंड स्मालकैप फंड में 10%

  • इसके अलावा शॉर्ट ड्यूरेशन की बेहतर एफडी प्लान चुन सकते हैं.
  • पोस्ट ऑफिस का मंथली इनकम प्लान

(नोट: म्यूचुअल फंड में निवेश बाजार के जोखिम के अधीन है. हमने यहां एक्सपर्ट के हवाले से जानकारी दी है. निवेश से पहले अपने एडवाइजर से सलाह जरूर लें या अपने स्तर पर जांच लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. उम्र के हर पड़ाव पर रहेंगे ‘बादशाह’, पैसे बनाने के लिए हर समय है शानदार मौका

Go to Top