मुख्य समाचार:

EMI घटाने के चक्कर में हो जाएगा बड़ा नुकसान! 30 लाख लोन पर देना पड़ेगा 20 लाख एक्स्ट्रा, देखें कैलकुलेशन

होम लोन लेना है तो लो ईएमआई नहीं, बैंकों के इंटरेस्ट रेट पर नजर रखिए. लो ईएमआई के चक्कर में लाखों का नुकसान हो सकता है.

January 10, 2020 2:01 PM
home loan, bank loan, best home loan interest rate, lower EMI, loan tenure, total interest payable over loan term, total payment on home loan, check EMI, check best interest rate on home loan, होम लोन, ईएमआईहोम लोन लेना है तो लो ईएमआई नहीं, बैंकों के इंटरेस्ट रेट पर नजर रखिए. लो ईएमआई के चक्कर में लाखों का नुकसान हो सकता है.

होम लोन लेने जा रहे हैं तो लो ईएमआई नहीं, बल्कि बैंकों के इंटरेस्ट रेट पर नजर रखिए. लो ईएमआई के लिए लोन का टेन्योर बढ़ाने के चक्कर में फंसे तो आप अपना लाखों रुपये का नुकसान कर लेंगे. इसलिए लोन लेने के पहले जरूरी है कि इस बात की अच्छे से जांच पड़ताल कर लें कि कौन सा बैंक आपको किस ब्याज दर पर होमलोन उपलब्ध करवा रहा है. दूसरी जरूरी बात है कि होमलोन का टेन्योर सिर्फ इस वजह से न बढ़वाएं कि आपकी मंथली ईएमआई कम हो जाएगी. इससे आपको फौरी तौर पर तो राहत मिल सकती है. लेकिन लंबी अवधि में जब कैलकुलेशन करेंगे तो आपको इसमें लाखों रुपये का नुकसान दिखेगा.

हमने यहां इसी को लेकर कैलकुलेशन की है. इसमें आप देख सकते हैं कि एक समान लोन की रकम पर लोन की अवधि 5 साल या 10 साल बढ़ाने पर आपको भारी नुकसान हो रहा है. जबकि मंथली ईएमआई में मामूली अंतर ही आएगा. हम यहां आपको यह जानकारी भी दे रहे हैं कि कौन सा बैंक नए साल पर सबसे सस्ता लोन दे रहा है और किसके लिए कितना प्रॉसेसिंग फी देनी होगी. देखें होमलोन से जुड़ा पूरा ​कैल​कुलेशन…..

समझें EMI की गणित

केस 1. 30 लाख का लोन, 20 साल के लिए

कुल लोन: 30 लाख
टेन्योर: 20 साल
ब्याज: 8.25 फीसदी (SBI)

मंथली EMI: 25,562 रुपये
लोन पर कुल ब्याज: 31,34,873 रुपये
कुल चुकाई गई रकम: 61,34,873 रुपये

केस 2. 30 लाख का लोन, 25 साल के लिए

कुल लोन: 30 लाख
टेन्योर: 25 साल
ब्याज: 8.25 फीसदी (SBI)

मंथली EMI: 23,654 रुपये
लोन पर कुल ब्याज: 40,96,051 रुपये
कुल चुकाई गई रकम: 7,096,051 रुपये

केस 3. 30 लाख का लोन, 30 साल के लिए

कुल लोन: 30 लाख
टेन्योर: 25 साल
ब्याज: 8.25 फीसदी (SBI)

मंथली EMI: 22,538 रुपये
लोन पर कुल ब्याज: 51,13,679 रुपये
कुल चुकाई गई रकम: 81,13,679 रुपये

10 साल टेन्योर बढ़ाने पर तुलना

यहां साफ है कि अगर आप 30 लाख के लोन की EMI के लिए कुल अवधि 10 साल बढ़वाते हैं तो आपको करीब 20 लाख रुपये ब्याज ज्यादा देना पड़ता है. जबकि ईएमआई में सिर्फ 3000 रुपये महीने का ही अंतर आता है.

5 साल टेन्योर बढ़ाने पर तुलना

अगर आप 30 लाख के लोन की EMI के लिए कुल अवधि 5 साल बढ़वाते हैं तो आपको करीब 10 लाख रुपये ब्याज ज्यादा देना पड़ता है. जबकि ईएमआई में करीब 2000 रुपये महीने का ही अंतर आता है.

कौन सा बैंक कितने ब्याज पर दे रहा है लोन

Bank                          Interest Rate                             प्रॉसेसिंग फी

SBI                              7.90% – 8.55% सालाना                     2000–10,000 रुपये
HDFC Ltd.                8%-880% सालाना                              0.50% तक
ICICI बैंक                   8.60%-9.40% सालाना                       0.50% to 1%
Axis बैंक                     8.55%-9.40% सालाना                        1% तक
बैंक आफ बड़ौदा         8.10%-9.10% सालाना                          0.25% to 0.50%

कोटक महिंद्रा बैंक       8.60%-9.40% सालाना                          10,000 रुपये तक

(source: www.bankbazaar.com)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. EMI घटाने के चक्कर में हो जाएगा बड़ा नुकसान! 30 लाख लोन पर देना पड़ेगा 20 लाख एक्स्ट्रा, देखें कैलकुलेशन

Go to Top