मुख्य समाचार:
  1. बदल गए हैं कार इंश्योरेंस से जुड़े नियम, जानिए आपके प्रीमियम पर क्या होगा असर

बदल गए हैं कार इंश्योरेंस से जुड़े नियम, जानिए आपके प्रीमियम पर क्या होगा असर

Car Insurance : IRDAI ने सभी जनरल इंश्योरेंस कंपनियों को एक्सीडेंट कवर में मिलने वाली रकम को 15 लाख रुपये करने के निर्देश दिए.

March 19, 2019 3:41 PM
car insurance rule change from 1 aprilperonal accident cover to get mandatoryCar insurance : पर्सनल एक्सीडेंट कवर और लॉन्ग टर्म इंश्योरेंस हुए आनिवार्य

Car Insurance : इंश्योरेंस रेगुलेटरी और डेवलपमेंट ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (IRDAI) ने साल 2018 में कार इंश्योरेंस से जुड़े दो नियमों में बदलाव की घोषणा की थी. इन बदले हुए नियमों में पर्सनल एक्सीडेंट कवर और लॉन्ग टर्म मोटर इंश्योरेंस को आनिवार्य कर दिया गया है. लेकिन काफी फीडबैक के बाद पर्सनल एक्सीडेंट कवर से जुड़े नियमों में कुछ सुधार किया गया. आइये जानते हैं कि ये नियम क्या हैं और ये आप पर इनका किस तरह से असर पड़ेगा.

नियमों में बदलाव

IRDAI ने 1 सितम्बर 2018 से सभी जनरल इंश्योरेंस कंपनियों के लिए ऑन रोड व्हीकल को लॉन्ग टर्म मोटर इंश्योरेंस देना जरूरी कर दिया. इसके अलावा IRDAI ने सभी जनरल इंश्योरेंस कंपनियों को एक्सीडेंट कवर में मिलने वाली रकम को 15 लाख रुपये करने के निर्देश दिए.

कार के अंदर छूट गई है चाबी, इन 5 Tricks से खोल सकते हैं डोर

पर्सनल एक्सीडेंट कवर

IRDAI ने कहा कि पर्सनल एक्सीडेंट कवर पर मिलने वाली रकम को 15 लाख रुपये तक बढ़ाने की घोषणा की. इससे पहले 2 व्हीलर पर 1 लाख और 4-व्हीलर पर 2 लाख रुपये तक का न्यूनतम भुगतान करना होता था. इस बीमे पर सभी सेगमेंट्स के लिए प्रीमियम को भी बढ़ा कर 100 और 50 रुपये से 750 रुपये कर दिया है.

लॉन्ग टर्म मोटर इंश्योरेंस

सुप्रीम कोर्ट ने 6 जुलाई 2018 को लॉन्ग टर्म एक ऑर्डर दिया जिसमें सभी नई गाड़ी खरीदने वालों के लिए 3 साल का थर्ड पार्टी इंश्योरेंस लेना आनिवार्य कर दिया गया. टू-व्हीलर के लिए इस इंश्योरेंस की अवधि 5 साल है. अक्सर लोग इंश्योरेंस रिन्यू कराना भूल जाते हैं, जिससे उन्हें नुकसान उठाना पड़ता है. इसलिए ये नई व्यवस्था लाई गई.

नियमों में किए गए सुधार

अलग-अलग फीडबैक के बाद, IRDAI ने ग्राहकों के फायदे के लिए 1 जनवरी 2019 से पर्सनल एक्सीडेंट कवर को मोटर इंश्योरेंस पॉलिसी के अलग कर दिया है. इसका मतलब है कि इंश्योरेंस खरीदने वाले व्यक्ति CPA मौजूदा स्थिति वाली CPA कवर भी खरीद सकते हैं या सिर्फ लाइबिलिटी वाली पॉलिसी खरीद सकते हैं. अगर आपके पास पहले ही बीमा पॉलिसी है तो आपको CPA कवर खरीदने की जरूरत नहीं है. सभी वाहनों के लिए एक CPA मान्य होगी.

यह भी पढ़ें…EV: 1 अप्रैल से 10 लाख स्कूटर और 35 हजार कारें क्यों मिलेंगी सस्ती? जानिए पूरी स्कीम

इसके अलावा IRDAI ने इंश्योरेंस कंपनियों को पॉलिसी की कीमत तय करने की अनुमति दे दी है. हालांकि ये कीमतें IRDAI द्वारा तय किए गए सिद्धांतों के हिसाब से ही होनी चाहिए. CPA पॉलिसी के तहत सिर्फ स्थायी विकलांगता और मृत्यु ही कवर होगी. वहीं दूसरी तरफ रेगुलर एक्सीडेंट पॉलिसी में मोटर एक्सीडेंट भी कवर किया जाता है. तो अगर आपने पहले से ही कोई पॉलिसी खरीदी है तो आपको CPA खरीदने की कोई जरूरत नहीं है.

By- बालचंद्र शेखर, सीईओ, RenewBuy.com

Go to Top