सर्वाधिक पढ़ी गईं

Investment Strategy: मार्केट में जारी रहेगा बुल रन! म्यूचुअल फंड निवेशकों को कहां लगाना चाहिए पैसे

Mutual Fund (म्यूचुअल फंड) Investment Strategy: मार्केट में बुल रन के बीच म्यूचुअल फंड निवेशकों को क्या करना चाहिए.

Updated: Feb 08, 2021 11:13 AM
Mutual Fund StrategyMutual Fund Strategy: मार्केट में बुल रन के बीच म्यूचुअल फंड निवेशकों को क्या करना चाहिए.

Mutual Fund (म्यूचुअल फंड) Investment Strategy in Hindi: बजट के बाद शेयर बाजार की रैली जारी है. इसी क्रम में सेंसेक्स ने 5 फरवरी को पहली बार 51000 का स्तर पार कर लिया. वहीं निफ्टी भी 15000 का लेवल तोड़ने में सफल रहा है. देखें तो बाजार का वैल्युएशन बहुत ज्यादा हो चुका है. बाजार के हाई वैल्युएशन के बीच में निवेशकों को क्वालिटी स्टॉक की तलाश है, वहीं इक्विटी म्यूचुअल फंड में पैसा लगाने वाले भी नए निवेश को लेकर कनफ्यूज हो रहे हैं. हालांकि, एक्सपर्ट का कहना है कि मार्केट में जो बुल रन चल रहा है, वह बीच-बीच में करेक्शन के साथ 1 साल से ज्यादा चल सकता है. कोरोना महामारी के बाद अर्थव्यवस्था तेजी से रिकवर कर रही है. वहीं, अगले फिस्कल ईयर में GDP में डबल डिजिट में ग्रोथ का अनुमान है. ऐसे में मार्केट में बुल रन के बीच म्यूचुअल फंड निवेशकों को क्या करना चाहिए.

एसेट अलोकेशन पर ध्यान दें

मिराए एसेट मैनेजमेंट इंडिया के CIO, फिक्स्ड इनकम, महेंद्र जाजू का कहना है कि आरबीआई पॉलिसी में रिकवरी को सपोर्ट करने के लिए अकोमोडेटिव स्टांस को बरकरार रखा गया है. वहीं यह भी संकेत दिए गए हैं कि सिस्टम में पर्याप्त लिक्विडिटी को बनाए रखा जाएगा. इससे बांड यील्ड में आगे कुछ और तेजी आ सकती है, हालांकि इकोनॉमी के रिकवरी पर इसका असर नहीं होगा. उनका कहना है कि ऐसे में निवेशकों को एसेट अलोकेशन स्ट्रैअेजी पर ध्यान रखना चाहिए और लंबी अवधि के लिए निवेश करना चाहिए. उनका यह भी कहना है कि बाजार में आगे कुछ करेक्शन आने से इनकार नहीं किया जा सकता है.

हर गिरावट पर करें खरीददारी

BPN फिनकैप के डायरेक्टर एके निगम का मानना है कि शेयर बाजार की यह रैली अभी थमने वाली नहीं है. यह 1 से 2 साल तक चल सकती है, हालांकि बीच बीच में करेक्शन आने से इनकार नहीं है. उनका कहना है कि लंबी अवधि की बात करों तो बाजार में जब भी करेक्शन आए या जरा भी स्पेस मिले, निवेशकों को इक्विटी फंड में अतिरिक्त खरीददारी करनी चाहिए. हालांकि, यह भी ध्यान रखें कि निवेश कम से कम 5 साल के लिए करें. लांग टर्म में बाजार का आउटलुक बेहद मजबूत दिख रहा है.

किन निवेशकों को कहां लगाना चाहिए पैसे

निगम का कहना है कि मौजूदा समय में देखें तो मिडकैप और स्मालकैप बेहतर दिख रहे हैं. अगर निवेशक एग्रेसिव है तो उन्हें अभी मिडकैप और स्मालकैप में पैसे लगाने चाहिए. घरेलू स्तर पर अर्थव्यवस्था में जैसे जैसे तेजी आएगी, छोटी और मध्यम कंपनियां आगे अच्छा प्रदर्शन करेंगी. मिडकैप और स्मालकैप लंबे दबाव के बाद से उबर रहे हैं, लेकिन अभी इनमें और तेजी आनी बाकी है.

वहीं, अगर निवेशक बाजार में ज्यादा रिस्क नहीं लेना चाहते हैं तो उन्हें लॉर्ज एंड मिडकैप सेग्मेंट पर फोकस करना चाहिए. यहां लॉर्जकैप और मिडकैप दोनों तरह की मार्केट कैप वाली कंपनियों में निवेश होने से रिस्क कम हो जाता है. लॉर्जकैप कंपनियों में बड़ी गिरावट का डर कम रहता है. लॉर्जकैप फंड पर उनका कहना है कि इनमें पहले से काफी तेजी आ चुकी है. सेंसेक्स और निफ्टी की बहुत सी टॉप कंपनियां अपने रिकॉर्ड हाई पर हैं. ऐसे में सिर्फ लॉर्जकैप में अभी पैसा लगाने से बचना चाहिए.

डेट फंड पर राय

एक्सपर्ट का कहना है कि डेट म्यूचुअल फंड में अभी निगेटिव रिटर्न आने लगे हैं. इसके पीछे वजह है कि बांड यील्ड में इस समय इजाफा हो रहा है और यह 6 फीसदी के पार चला गया है. बांड यील्ड में तेजी का मतलब है कि डेट सेग्मेंट में रिटर्न कमजोर होगा. उनका कहना है कि डेट फंडों पर मिड टर्म के लिए दबाव दिख रहा है. इसलिए अभी इनसे दूर रहने में भलाई है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. Investment Strategy: मार्केट में जारी रहेगा बुल रन! म्यूचुअल फंड निवेशकों को कहां लगाना चाहिए पैसे

Go to Top