सर्वाधिक पढ़ी गईं

पीएम किसान का सबसे बड़ा फायदा: 6000 सालाना के साथ बिना किसी खर्च मिलेगी पेंशन, ये है नियम

पीएम किसान मानधन पेंशन योजना के लिए जरूरी अंशदान पीएम किसान सम्मान निधि में आने वाली सरकारी सहायता से कटवा सकते हैं.

May 21, 2020 11:02 AM
PM Kisan big benefit, PM Kisan Samman Nidhi, farmers who want to join PM KMY, PM Kisan Maan Dhan, pension scheme, option to allow payment from PM kisan installment, पीएम किसान मानधन पेंशन योजना, पीएम किसान सम्मान निधिपीएम किसान मानधन पेंशन योजना के लिए जरूरी अंशदान पीएम किसान सम्मान निधि में आने वाली सरकारी सहायता से कटवा सकते हैं.

पीएम किसान सम्मान निधि में अगर आपने रजिस्ट्रेशन कराया है तो आप डबल फायदा उठा सकते हैं. असल में अगर आपका रजिस्ट्रेशन पीएम किसान में है तो बिना किसी कागजी कार्यवाही के आप पीएम किसान मानधन में भी अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं. सबसे बड़ा फायदा यह है कि पेंशन योजना के लिए जरूरी अंशदान भी पीएम किसान सम्मान निधि के तहत आने वाली सरकारी सहायता से ही कट जाएगी. यानी आपको खुद के पास से कुछ भी खर्च करने की जरूरत नहीं होगी. पीएम किसान मानधन छोटे और सीमांत किसानों को मंथली पेंशन देने की योजना है, जिसमें बुढ़ापे में हर महीने 3 हजार रुपये पेंशन दी जाती है. हालांकि अगर पीएम किसान सम्मान निधि में रजिस्ट्रेशन नहीं है तो इसके लिए आपको हर महीने खुद के पास से अंशदान करना जरूरी होता है.

खास फीचर्स में है शामिल

पीएम किसान सम्मान निधि की वेबसाइट www.pmkisan.gov.in पर इसके खास फीचर्स में यह साफ है कि अगर कोई किसान पीएम-किसान सम्मान निधि का लाभ ले रहा है तो उसे पीएम किसान मानधन योजना के लिए कोई डॉक्युमेंट देने की जरूरत नहीं होगी. असल में पीएम किसान सम्मान निधि में रजिस्ट्रेशन के समय आपके सारे जरूरी डॉक्युमेंट सरकार जमा करवाती है. वहीं, इस योजना के तहत किसान पीएम किसान सम्मान निधि के तहत मिलने वाली किस्त में से सीधे ही पीएम किसान मानधन में अंशदान करने का विकल्‍प मिलता है. यानी उसे अपनी जेब से कुछ नहीं देना होता है.

पीएम किसान में मिलता है 6000 रुपये

पीएम किसान सम्मान निधि के तहत किसानों को 3 किस्त में हर साल 6000 रुपये की सहायता मिलती है. जबकि पीएम किसान मानधन में मंथली योगदान 55 रुपये से 200 रुपये ही होता है. जो सालाना आधार पर 660 रुपये से 2400 रुपये के बीच होता है. अगर आप पीएम किसान सम्मान निधि से मिलने वाले पैसों से ही अंशदान करने का विकल्प लेते हैं तो भी कम से कम आपके 3600 रुपयों की बचत होगी. साथ ही बुढ़ापे में 36 हजार सालाना पेंशन का भी इंतजाम हो जाएगा.

पेंशन योजना का कैसे लें लाभ

किसान पेंशन योजना में 18 से 40 वर्ष तक की आयु वाला कोई भी छोटी जोत वाला और सीमांत किसानों के लिए हैं, जिनके पास 2 हेक्टेयर तक ही खेती की जमीन है. इन्हें योजना के तहत कम से कम 20 साल और अधिकतम 40 साल तक 55 रुपये से 200 रुपये तक मासिक अंशदान करना होगा, जो उनकी उम्र पर निर्भर है. अगर 18 साल की उम्र में जुड़ते हैं तो मासिक अंशदान 55 रुपये या सालाना 660 रुपये होगा. वहीं अबर 40 की उम्र में जुड़ते हैं तो 200 रुपये महीना या 2400 रुपये सालाना योगदान करना होगा.

सरकार भी बराबर ही करेगी अंशदान

पीएम किसान मानधन में जितना योगदान किसान का होगा, उसी के बराबर योगदान सरकार भी पीएम किसान अकाउंट में करेगी. यानी अगर आपका योगदान 55 रुपये है तो सरकार भी 55 रुपये का योगदान करेगी.

36000 रु सालाना पेंशन

पीएम किसान मानधन के तहत 60 की उम्र पूरी होने के बाद खाताधारक को 3000 रुपये मंथली पेंशन मिलेगी. जो सालाना 36 हजार रुपये हुई. यह योजना निश्चित ही उन किसानों के लिए कारगर साबित हो सकती है, जो सिर्फ और सिर्फ खेती-बाड़ी के भरोसे हैं. खासतौर से गरीब किसानों को जिनके पास आजीविका का कोई और साधन नहीं है.

अगर बीच में छोड़ी स्कीम

अगर कोई किसान बीच में स्कीम छोड़ना चाहता है तो उसका पैसा नहीं डूबेगा. उसके स्कीम छोड़ने तक जो पैसे जमा किए होंगे उस पर बैंकों के सेविंग अकाउंट के बराबर का ब्याज मिलेगा.अगर पॉलिसी होल्डर किसान की मौत हो गई, तो उसकी पत्नी को 50 फीसदी रकम मिलती रहेगी. LIC किसानों के पेंशन फंड को मैनेज करेगा.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. पीएम किसान का सबसे बड़ा फायदा: 6000 सालाना के साथ बिना किसी खर्च मिलेगी पेंशन, ये है नियम

Go to Top