मुख्य समाचार:

दिवाली पर खरीदारी के लिए क्रेडिट कार्ड EMI का कर रहे हैं इस्तेमाल? इन बातों का रखें ध्यान

Diwali Shopping: अक्सर कोई चीज हमारे बजट से बाहर होती है तो उसे खरीदने के लिए हम EMI का ऑप्शन चुनते हैं. लेकिन इसे लेते समय कुछ सावधानियों को ध्यान में रखना जरूरी है.

Updated: Oct 22, 2019 6:24 PM
Representational Image

Diwali Shopping:  त्योहार का सीजन चल रहा है. दिवाली आने में कुछ ही दिन बचे हैं. ऐसे में दिवाली की खरीदारी भी जारी है. अक्सर कोई चीज हमारे बजट से बाहर होती है तो उसे खरीदने के लिए हम EMI का ऑप्शन चुनते हैं. ये ऑप्शन हमें हमारे बजट से बाहर की चीज खरीदने में मदद करता है. इसमें हम क्रेडिट कार्ड  (Credit Card) पर भी EMI का ऑप्शन लेते हैं. जरूरत पर इस तरह की खरीदारी सही हैै और इस ऑप्‍शन को चुनते समय हमें कुछ सावधानियां भी ध्‍यान में रखनी चाहिए. वरना ये आपको परेशानी भी दे सकता है.

क्रेडिट कार्ड से ईएमआई लेकर शॉपिंग करना बिल्कुल वैसा ही है जिस तरह आप एक लोन लें और फिर फिर कुछ समय तक किस्‍तों में उसका भुगतान करें. आप इसकी एक भी किस्‍त का समय पर भुगतान करना न भूलें. इससे ये जुड़ता चला जाएगा और आपके क्रेडिट स्कोर पर भी इसका असर पड़ेगा. इसके साथ ही आप सिर्फ इसलिए अपने खर्च करने की क्षमता को मत खत्म कीजिए कि आपके पास ईएमआई का ऑप्शन मौजूद है.

प्रोसेसिंग फीस की जानकारी लें

ईएमआई की प्रोसेसिंग फीस कार्ड के वेरिएंट के हिसाब से जितनी राशि की वस्‍तु आपने खरीदी है उसका 1 से 3 फीसदी होगी. ये देखने में आपको बड़ी राशि न लग रही हो, लेकिन यह आपकी ईएमआई में जुड़कर दिक्कत दे सकती है. आप इसके लिए अपने कार्ड के फाइनप्रिंट को पढ़ें या बैंक से इसके बारे में पूरी जानकारी लें.

दिवाली पर मिला है बोनस! बैंक में रखने की बजाए यहां करें निवेश, मिलेगा डबल फायदा

EMI पर ब्याज दर को देख लें

क्रेडिट कार्ड कभी-कभी कम ब्याज दर और कुछ मौकों पर जीरों प्रोसेंसिंग फीस ऑफर करता है. ईएमआई पर लगने वाला ब्याज अक्सर क्रेडिट कार्ड पर लगने वाले ब्याज से कम होता है. क्रेडिट कार्ड से जुड़ी ईएमआई पर ब्याज 12-24% सालाना होता है. इसलिए आप ब्याज पर पूरी साफ जानकारी ले लें कि आपको कितना भुगतान करना है और अपने अलग-अलग क्रेडिट कार्ड में इसकी तुलना कर लें. इसके अलावा बैंकों से ईएमआई पर मिलने वाले फेस्टिव ऑफर्स के बारे में जानकारी ले लें. इससे आपको बचत होगी.

प्री-क्लोजर चार्ज की पहले लें जानकारी

EMI का भुगतान करने के दौरान ऐसा हो सकता है कि आप लोन का भुगतान पूरे समय में करने चाहते हों या हो सकता है कि आप एक ही बार में अपनी पूरी राशि का भुगतान करना चाहते हों. लेकिन इसमें प्री क्लोजर चार्ज का ध्यान रखना जरूरी हो जाता है. इस स्थिति में ऐसा हो सकता है कि आप से बकाया राशि का 3% वसूला जाए. इसलिए जब आप अपना ईएमआई प्लान चुनें, तो प्री क्लोजर चार्ज की जानकारी ले लें. इससे आप ब्याज की राशि तो बचा सकते हैं, लेकिन आपको प्री क्लोजर चार्ज से नुकसान हो सकता है.

जैसे ही आप इस ऑप्शन से खरीदारी करते हैं, तो उसी वक्त आपकी क्रेडिट कार्ड की लिमिट उतनी राशि तक ब्लॉक हो जाएगी. ये तभी खुलेगी जब आप पूरी ईएमाई का भुगतान कर देंगे. आप इसे भी ध्यान में रखें क्योंकि इससे आपके दूसरे खर्चों पर असर पड़ेगा.

क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते समय उसके फायदों के बारे में पूरी जानकारी लेनी चाहिए. इससे आपको बचत करने में मदद मिलती है. अगर आपको अपने क्रेडिट कार्ड के बारे में पूरी जानकारी हो जैसे EMI ऑप्शन के बारे में, तो आपको परेशानी नहीं होती. तो आप ये ध्यान में रखें कि इससे आपका बजट नहीं बढ़े, भले ही आपको क्रेडिट कार्ड पर EMI का ऑप्शन ही मिल रहा हो. साथ ही इससे जुड़े चार्ज, के बारे में जानकारी ले लें और अपने बिल का हर महीने समय पर भुगतान करें जिससे आपको पेनल्टी न भरनी पड़े.

 

By: Adhil Shetty, CEO, BankBazar

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. दिवाली पर खरीदारी के लिए क्रेडिट कार्ड EMI का कर रहे हैं इस्तेमाल? इन बातों का रखें ध्यान

Go to Top