scorecardresearch

Banking Charges: बैंकों के ये सर्विसेज नहीं हैं मुफ्त, चेक करें चार्जेज की पूरी लिस्ट

Banking Charges: बैंकिंग सेवाओं का इस्तेमाल करने से पहले इनसे जुड़े चार्जेज के बारे में जानकारी होना जरूरी है.

Banking Charges: बैंकों के ये सर्विसेज नहीं हैं मुफ्त, चेक करें चार्जेज की पूरी लिस्ट
बैंक अपने ग्राहकों को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से कई सेवाएं मुहैया कराता है. इनमें से कुछ सेवाएं मुफ्त होती हैं तो कुछ पर शुल्क चुकाना होता है. (Image- Pixabay)

Banking Charges: बैंक अपने ग्राहकों को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से कई सेवाएं मुहैया कराता है. इनमें से कुछ सेवाएं मुफ्त होती हैं तो कुछ पर शुल्क चुकाना होता है. आमतौर पर बैंक अपने मौजूदा ग्राहकों को फ्री एटीएम कार्ड, चेकबुक और ऑनलाइन सर्विसेज जैसी सेवाएं फ्री में मुहैया कराते हैं. वहीं दूसरी तरफ कुछ सेवाओं के लिए शुल्क चुकाना होता है या कुछ मुफ्त सेवाएं भी एक सीमा के बाद चार्जेबल हो जाती हैं. ऐसे में इन सेवाओं का इस्तेमाल करने से पहले इन चार्जेज के बारे में जानकारी होना जरूरी है.

विदेश में टैक्स पेमेंट पर क्रेडिट के दावे की बढ़ी टाइमलाइन, टैक्सपेयर्स को बड़ी राहत, लेकिन सिर्फ इन्हें मिलेगी सुविधा

बैंक से जुड़े चार्जेज की डिटेल्स

  • सर्विस चार्ज आमतौर पर बहुत मामूली होती है और तभी लगाया जाता है जब यूजर मुफ्त इस्तेमाल की सीमा से अधिक इसे इस्तेमाल करता है. उदाहरण के लिए एटीएम से पैसे निकालने की अधिकतम निकासी की सीमा तय है.
  • अगर खाते में जमा पैसा बैंक द्वारा तय न्यूनतम सीमा से कम हो जाए तो पेनाल्टी लगती है.
  • डेबिट कार्ड के लिए सालाना फीस चुकाना होता है.
  • चेक बुक के दोबारा इश्यू कराने या इसके बाउंस होने पर फीस लगती है.
  • पेमेंट ट्रांसफर फीस.

EPFO के नए कैलकुलेटर से चेक कर सकते हैं कितनी मिलेगी पेंशन, स्टेपवाइज जानें कैलकुलेट करने का प्रोसेस

  • नगदी की निकासी और जमा पर भी राशि के हिसाब से शुल्क चुकाना पड़ सकता है.
  • कैश डिलीवरी जैसे होम बैंकिंग सर्विसेज के लिए भी शुल्क चुकाना होता है.
  • अगर आप लोन के लिए आवेदन करते हैं तो इस पर प्रोसेसिंग फीस, डॉक्यूमेंटेशेन चार्ज, एप्लीकेशन फीस और लीगल चार्जेज चुकाना पड़ सकता है.

Stock Tips: 37% रिटर्न का शानदार मौका, दुनिया की पांचवी सबसे बड़ी एग्रोकेमिकल कंपनी में करें निवेश

  • लोन के लिए कुछ कागजात बैंक के पास जमा करने होते हैं, जब आप इनकी डुप्लीकेट कॉपी के लिए आवेदन करते हैं तो इस पर भी कुछ चार्ज लगता है.
  • अगर लोन फिक्स्ड ब्याज दरों पर लिया हो तो इसे समय से पहले बंद कराने पर शुल्क चुकाना पड़ सकता है.
  • लॉकर सुविधा.
  • अपने डेबिट कार्ड से देश के बाहर यानी विदेशों में पेमेंट के लिए भी चार्ज देना पड़ता है.
  • डिमांड ड्राफ्ट बनवाने में.
  • अधिक पन्ने वाला चेकबुक लेने के लिए.

Fixed Deposit Rates: Repo Rate में उछाल के बाद इन बैंकों में बढ़ी FD की दरें, तो यहां शुरू हुई नई योजनाएं

हर बैंक में अलग-अलग हो सकते हैं चार्ज

बैंकबाजारडॉटकॉम के सीईओ आदिल शेट्टी के मुताबिक बैंक अपने ग्राहकों को बेसिक सर्विसेज के लिए सभी चार्जेज के बारे में जानकारी मुहैया कराते हैं. इनमें कोई बदलाव होता है तो इस की भी जानकारी दी जाती है. इसके अलावा बैंक अपने वेबसाइट और मोबाइल ऐप्स पर भी इसकी पूरी डिटेल्स सार्वजनिक करते हैं. ये चार्जेज हर बैंक के लिए अलग-अलग हो सकते हैं. इसके अलावा बैंक कुछ ग्राहकों को अधिक छूट देते हैं यानी उन्हें मुफ्त सेवाएं अधिक मिलती हैं.
(Article: Sanjeev Sinha)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News