सर्वाधिक पढ़ी गईं

APY: यूपी में सबसे अधिक भरोसा, अन्य राज्यों में कैसा है अटल पेंशन योजना का हाल

केंद्र सरकार ने करीब छह साल पहले रिटायरमेंट के लिए अटल पेंशन योजना की शुरुआत की थी. यह योजना इतनी लोकप्रिय हुई कि अब तक इससे करीब 2.75 करोड़ सब्सक्राइबर्स जुड़ चुके हैं.

February 19, 2021 11:17 AM
apy subscribrs from up most while mp out of top five know here state wise dataउत्तर प्रदेश में सबसे अधिक लोग एपीवाई में अंशदान कर रहे हैं.

APY Scheme: केंद्र सरकार ने करीब छह साल पहले रिटायरमेंट के लिए एक विशेष योजना Atal Pension Scheme की शुरुआत की थी. यह योजना इतनी लोकप्रिय हुई कि अब तक इससे करीब 2.75 करोड़ सब्सक्राइबर्स जुड़ चुके हैं. मौजूदा वित्त वर्ष में ही अब तक 52 लाख से अधिक नए सब्सक्राइबर अटल पेंशन स्कीम (APY) से जुड़ चुके हैं. सबसे अधिक उत्तर प्रदेश के लोगों ने इस स्कीम को अपनाया है. पेंशन कोष नियामक एवं विकास प्राधिकरण (PFRDA) के आंकड़ों के मुताबिक 30 जनवरी 2021 तक 42,46,137 लोगों ने एपीवाई के तहत रजिस्ट्रेशन कराया.

खास बात यह है कि APY के तहत सिर्फ भारत में रहने वाले लोगों ने ही नहीं रजिस्ट्रेशन कराया है. PFRDA के आंकड़ों के मुताबिक 30 जनवरी 2021 तक 2655 एनआरआई व अन्य ने इसका सब्सक्रिप्शन लिया. जनसंख्या के मामले में देश का पांचवां सबसे बड़ा राज्य होने के बावजूद मध्य प्रदेश एपीवाई सब्सक्राइबर्स के मामले में आठवें स्थान पर है.

असम को छोड़कर पूर्वोत्तर राज्यों में कम प्रचलित

पूर्वोत्तर भारत की बात करें को असम को छोड़कर अन्य राज्यों में एपीवाई स्कीम कम लोगों ने अपनाया. पीएफआरडीए के आंकड़ों के मुताबिक असम में 30 जनवरी 2021 तक 613458 लोगों ने एपीवाई का सब्सक्रिप्शन लिया जबकि अरुणाचल प्रदेश में 21649, नगालैंड में 36061, मणिपुर में 34668, मिजोरम में 15328, मेघालय में 29970 और त्रिपुरा में 96123 लोगों ने एपीवाई का सब्सक्रिप्शन लिया.

दक्षिण में केरल और तेलगांना में कम आकर्षण

तमिलनाडु में 21,06,586 लोग एपीवाई के तहत अंशदान कर रहे हैं जबकि आंध्र प्रदेश में 18,02,043 लोग और कर्नाटक में 17,98,057 लोग. इसकी तुलना में केरल में सिर्फ 5,90,158 लोग ही एपीवाई के जरिए अपना भविष्य सुरक्षित कर रहे हैं और तेलंगाना में 6,94,270 लोग, पुडुचेरी में महज 51,517 लोग एपीवाई के सब्सक्राइबर्स हैं. यह आंकड़ा 30 जनवरी 2021 तक का है.

यूपी के बाद बिहार-बंगाल में सब्सक्राइबर्स अधिक

देश में 30 जनवरी 2021 तक एपीवाई के सबसे अधिक सब्सक्राइबर्स यूपी के रहे. इसके बाद एपीवाई का सबसे अधिक आकर्षण बिहार में रहा. बिहार के करीब 26,08,529 लोग एपीआई में अंशदान कर रहे हैं जबकि पश्चिम बंगाल में 22,29,551 लोग.

पांच सबसे अधिक जनसंख्या वाले राज्यों की स्थिति

2011 की जनगणना के मुताबिक देश में सबसे अधिक जनसंख्या वाला राज्य उत्तर प्रदेश है. उत्तर प्रदेश के बाद महाराष्ट्र, बिहार, पश्चिम बंगाल और मध्य प्रदेश हैं. इन राज्यों में एपीवाई सब्सक्राइबर्स की बात करें तो सबसे अधिक सब्सक्राइबर्स उत्तर प्रदेश में हैं लेकिन महाराष्ट्र दूसरा सबसे अधिक जनसंख्या वाला प्रदेश होने के बावजूद एपीवाई के मामले में चौथे स्थान पर है. महाराष्ट्र में 30 जनवरी 2021 तक 21,94,282 लोगों ने इसका सब्सक्रिप्शन लिया. बिहार और पश्चिम बंगाल एपीआई सब्सक्राइबर्स के मामले में दूसरे व तीसरे स्थान पर हैं. जनसंख्या के मामले में देश में पांचवे स्थान पर होने के बावजूद आठवें स्थान पर है. पीएफआरडीए के मुताबिक एमपी से 16,61,646 लोग एपीवाई से जुड़े हुए हैं.

apy subscribrs from up most while mp out of top five know here state wise data

APY Scheme के फीचर्स

  • एपीवाई के तहत 18-40 साल की उम्र का कोई भी भारतीय नागरिक इस योजना का लाभ उठा सकता है.
  • 60 साल की उम्र तक हर साल मासिक, तिमाही या छमाही आधार पर अंशदान करना होता है.
  • 60 साल की उम्र पूरी होने के बाद 1 हजार रुपये से 5 हजार रुपये तक का मासिक पेंशन मिलता है. यह पेंशन राशि गारंटीड होती है.
  • किसी बैंक या डाकघर में खुलवा सकते हैं.
  • निवेश करने वाले व्यक्ति की मृत्यु होने पर उसकी पत्नी और पत्नी की भी मृत्यु होने की स्थिति में बच्चों को पेंशन मिलने का प्रावधान है.
  • कम उम्र से निवेश शुरू करने पर कम अंशदान करना पड़ता है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. APY: यूपी में सबसे अधिक भरोसा, अन्य राज्यों में कैसा है अटल पेंशन योजना का हाल

Go to Top