सर्वाधिक पढ़ी गईं

रखते हैं 1 से ज्यादा क्रेडिट कार्ड तो मिलते हैं ये 3 फायदे

कई लोग 1 से ज्यादा क्रेडिट कार्ड रखना सही नहीं समझते हैं. उनका मानना होता है कि इससे फिजूलखर्ची होने की गुंजाइश रहती है.

Updated: Oct 17, 2018 11:41 AM
advantages of multiple credit cardsक्रेडिट कार्ड का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि इससे आप जरूरत के वक्त खर्च कर सकते हैं और बाद में पेमेंट कर सकते हैं. (Reuters)

क्रेडिट कार्ड का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि इससे आप जरूरत के वक्त खर्च कर सकते हैं और बाद में पेमेंट कर सकते हैं. यह एक तरह का लोन उपलब्ध कराता है, जिसे एक तय अवधि के अंदर चुका देने पर आपको कोई ब्याज नहीं देना होता.

कई लोग 1 से ज्यादा क्रेडिट कार्ड रखना सही नहीं समझते हैं. उनका मानना होता है कि इससे फिजूलखर्ची होने की गुंजाइश रहती है. साथ ही हर कार्ड के अपने चार्ज, पेमेंट साइकिल, नियम-कानून आदि भी होते हैं. ऐसे में सबके बीच बैलेंस करना मुश्किल होता है. लेकिन अगर सही तरीके से इस्तेमाल किया जाए तो 1 से ज्यादा क्रेडिट कार्ड फायदेमंद साबित होते हैं. कैसे, आइए बताते हैं-

इमर्जेन्सी में खर्च कर सकते हैं ज्यादा अमाउंट

अगर आपके पास 1 से ज्यादा क्रेडिट कार्ड रहते हैं तो आप इमर्जेन्सी के वक्त बड़ा या ज्यादा अमाउंट खर्च कर सकने में सक्षम होते हैं. अगर एक ही कार्ड रहता है तो आप केवल उसी की लिमिट जितना खर्च कर सकते हैं. वहीं अगर क्रेडिट कार्ड अलग-अलग बैंकों के हैं तो ट्रान्जेक्शन, रिवार्ड, कैशबैक आदि के मामले में विभिन्न बैंकों के आॅफर का लाभ लिया जा सकता है.

लिमिट से कम खर्च रखने में मिलती है मदद

क्रेडिट कार्ड से कभी भी उसकी लिमिट के बराबर खर्च नहीं करना चाहिए. कोशिश करनी चाहिए कि आप हमेशा क्रेडिट लिमिट का लगभग फीसदी ही खर्च करें. इस खर्च को क्रेडिट यूटिलाइजेशन रेशियो (CUR) कहते हैं. CUR आपके क्रेडिट स्कोर को बेहतर बनाने में अहम भूमिका निभाता है. अगर आप क्रेडिट कार्ड लिमिट तक या उसके आस-पास तक खर्च करते हैं तो आपका क्रेडिट स्कोर घटता जाता है यानी आपकी निगेटिव इमेज बनती है. ऐसे में एक से ज्यादा क्रेडिट कार्ड आपके CUR को कम रखने में मदद करते हैं. इसे एक उदाहरण से समझें-

मान लीजिए आपके पास 1 लाख रुपये तक की क्रेडिट ​लिमिट वाला एक कार्ड है और आपका उससे खर्च का आंकड़ा 40,000 रुपये है. ऐसे में आपका CUR, क्रेडिट लिमिट का 40 फीसदी रहा, जबकि स्टैंडर्ड CUR 20-30 फीसदी है. वहीं अगर आपके पास 1-1 लाख लिमिट वाले दो क्रेडिट कार्ड हैं तो आप दोनों से 20-20 हजार रुपये खर्च कर अपनी स्पेंडिंग और स्टैंडर्ड CUR दोनों को बरकरार रख सकते हैं. इससे आपको क्रेडिट स्कोर भी बेहतर बना रहेगा.

advantages of multiple credit cardsImage: Reuters

इमर्जेन्सी में एक कार्ड नहीं हुआ एक्सेप्ट तो दूसरा आएगा काम

1 से ज्यादा क्रेडिट कार्ड होने का एक फायदा यह भी है कि अगर आपके पास कैश नहीं है और आपने किसी जगह एक कार्ड स्वाइप किया लेकिन किसी तकनीकी या अन्य खामी के चलते कार्ड एक्सेप्ट नहीं हुआ तो आप दूसरा कार्ड इस्तेमाल कर सकते हैं. ऐसा खासकर विदेश दौरों के दौरान फायदेमंद रहता है.

सावधानी और अनुशासन बचाएंगे नुकसान से

हालांकि मल्टीपल क्रेडिट कार्ड्स के फायदे के साथ नुकसान भी हैं. इसलिए खर्च में एहतियात बरतने की जरूरत तो है ही, साथ ही भुगतान की तारीख, ब्याज दर, पेनल्टी, चार्ज आदि याद रखना भी जरूरी है. अगर आप अनुशासन और सावधानी के साथ मल्टीपल क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं तो नुकसान होने की गुंजाइश न के बराबर रहती है.

एक साथ न करें अप्लाई

एक साथ कई क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई न करें. ऐसा इसलिए क्योंकि आपकी क्रेडिट हिस्ट्री में हर एप्लीकेशन रिकॉर्ड होती है. लोन लेने या क्रेडिट कार्ड लेने पर हर बैंक या फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशन आपकी क्रेडिट हिस्ट्री चेक करते हैं. ऐसे में एक साथ बहुत ज्यादा क्रेडिट कार्ड एप्लीकेशन आपके क्रेडिट स्कोर को प्रभावित करती हैं. आप ज्यादा कार्ड भी रख पाएं और क्रेडिट स्कोर पर नकारात्मक प्रभाव भी न पड़े, इसके लिए एप्लीकेशंस के बीच एक उचित गैप होना जरूरी है. साथ ही अपनी ईएमआई और क्रेडिट का भुगतान भी समय से करते रहें.

(नोट: लेखक बैंक बाजार डॉट कॉम के सीईओ हैं.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. रखते हैं 1 से ज्यादा क्रेडिट कार्ड तो मिलते हैं ये 3 फायदे

Go to Top