सर्वाधिक पढ़ी गईं

वित्त वर्ष खत्म होने से पहले कर लें ये 5 जरूरी काम, नहीं तो बढ़ जाएगी आपकी टैक्स देनदारी

टैक्स सेविंग्स प्लानिंग के अलावा भी निवेश व टैक्स से जुड़ी कुछ ऐसी अहम चीजें हैं जिन पर मार्च 2021 खत्म होने से पहले विचार कर लेना चाहिए.

March 27, 2021 2:10 PM
5 key tasks that need to be completed by March 31 check list and is missed anyone then completeटैक्स सेविंग्स प्लानिंग के अलावा भी निवेश व टैक्स से जुड़ी कुछ ऐसी अहम चीजें हैं जिन पर मार्च 2021 खत्म होने से पहले विचार कर लेना चाहिए.

चालू वित्त वर्ष 2020-21 खत्म होने में अब महज कुछ ही दिन बचे हैं. वित्त वर्ष के अंतिम महीने मार्च में जिन लोगों ने अभी तक टैक्स सेविंग इंवेस्टमेंट्स नहीं किया होता है, वे इसे करते हैं. ऐसे में आपने भी इसके लिए प्लानिंग कर ली होगी और उचित तरीके से निवेश कर लिया होगा. हालांकि इसके अलावा भी निवेश व टैक्स से जुड़ी कुछ ऐसी अहम चीजें हैं जिन पर मार्च 2021 खत्म होने से पहले विचार कर लेना चाहिए जैसे कि पिछले वित्त वर्ष का आईटीआर फाइलिंग और फॉर्म 12बी. इसी प्रकार की जरूरी चीजों की सूची दी जा रही है, जिसे 31 मार्च 2021 तक हर हाल में पूरा कर लें.

Gold Loan: ध्यान दें! 31 मार्च तक अधिक मिलेगा कर्ज, यहां पाएं सस्ता गोल्ड लोन

इन चीजों को एक बार फिर कर लें चेक

  • FY20 की आईटीआर फाइलिंग: पिछले वित्त वर्ष 2019-20 या एसेसमेंट इयर 2020-21 के लिए आईटीआर आपने नहीं फाइल किया है तो इसे 31 मार्च 2021 तक फाइल कर लें. हालांकि लेट होने के चलते आपको 10 हजार रुपये की पेनाल्टी भी चुकानी होगी.
  • फॉर्म 12बी: चालू वित्त वर्ष के दौरान अगर आपने अपनी जॉब में बदलाव किया है तो यह सुनिश्चित कर लें कि आपने नई कंपनी में फॉर्म 12बी जमा कर दिया है. इस फॉर्म में पुरानी कंपनी द्वारा दिए जाने वाले इनकम और टैक्स डिडक्शन की जानकारी होती है. इस जानकारी के आधार पर नई कंपनी आपको फॉर्म 16 उपलब्ध कराती है. अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो आपकी टैक्स देनदारी बढ़ जाएगी. बता दें कि कंपनियां कर्मियों के कर बचत निवेश घोषणा के मुताबिक टैक्स डिडक्ट करती हैं.
  • न्यूनतम निवेश: पीपीएफ और एनपीएस जैसे निवेश विकल्पोंम में प्रत्येक वित्त वर्ष में एक निश्चित राशि का निवेश जरूरी होता है. ऐसा न करने की स्थिति में ये खाते फ्रीज हो जाते हैं और इन्हें दोबारा एक्टिव करने में बहुत समय लगता है और कभी-कभी पेनाल्टी भी चुकानी पड़ सकती है. ऐसा न हो, इसके लिए यह सुनिश्चित कर लें कि वित्त वर्ष समाप्त होने से पहले न्यूनतम राशि निवेश हो गई है.
  • फॉर्म 15जी/फॉर्म 15एच: बैंक एफडी पर 40 हजार रुपये (सीनियर सिटीजंस के मामले में 50 हजार रुपये) से अधिक ब्याज होने की स्थिति में टीडीएस कटता है. हालांकि फॉर्म 15जी/फॉर्म 15एच बैंकर के पास जमा करने पर टीडीएस नहीं कटता. ऐसे में सुनिश्चित कर लें कि 31 मार्च के पहले तक आपने ये फॉर्म बैंकर के पास जमा कर दिए हैं. अगर आपने वित्त वर्ष की शुरुआत में ही इसे जमा कर दिया है तो अगले वित्त वर्ष के पहले महीने यानी अप्रैल 2021 में जमा कर दें. फॉर्म 15 एच 60 वर्ष या उससे अधिक की उम्र और फॉर्म 15जी 60 वर्ष से कम उम्र के ऐसे लोगों के लिए है जिनकी टोटल इनकम टैक्स के दायरे में नहीं आती है.
  • निवेश प्रमाण: अगर आपने सभी टैक्स सेविंग्स इंवेस्टमेंट कर लिए हैं तो अपने एंप्लॉयर के पास उसके प्रमाण डॉक्यूमेंट्स जमा कर दें. अधिक एंप्लॉयर्स अपने कर्मियों से जनवरी या फरवरी में ही इसके लिए सूचित करती हैं. अगर आपकी कंपनी अब इन डॉक्यूमेंट्स को नहीं ले रही है तो इसे अगले वित्त वर्ष में आईटीआर फाइल करते समय रिफंड क्लेम करते समय प्रयोग करें. चालू वित्त वर्ष खत्म होने में अब महज कुछ ही दिन बचे हैं तो ऐसे में ड्रा्फ्ट टैक्स वर्कशीट को क्रॉस चेक करें अगर कंपनी ने आपके साथ इसे साझा किया है.
    (स्टोरी: सुनील धवन)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. वित्त वर्ष खत्म होने से पहले कर लें ये 5 जरूरी काम, नहीं तो बढ़ जाएगी आपकी टैक्स देनदारी

Go to Top