मुख्य समाचार:
  1. इस दिवाली निवेश के लिए चुनें ये 4 पॉपुलर विकल्प, बिना किसी रिस्क बढ़ेगा आपका पैसा

इस दिवाली निवेश के लिए चुनें ये 4 पॉपुलर विकल्प, बिना किसी रिस्क बढ़ेगा आपका पैसा

मार्केट एक्सपर्ट्स कहते हैं पैसे बचाने से नहीं बढ़ता है, निवेश करने से बढ़ता है. आइये जानते हैं इस दिवाली कहां निवेश करना सुरक्षित और फायदे का सौदा रहेगा.

November 3, 2018 11:36 AM
best investment plans, ppf investment details, rd investment details, fd investment details, nsc investment details, mis investment options, top investment plans, best return investment policy, best return investment plans, investment with zero riskमार्केट एक्सपर्ट्स कहते हैं पैसे बचाने से नहीं बढ़ता है, निवेश करने से बढ़ता है. आइये जानते हैं इस दिवाली कहां निवेश करना सुरक्षित और मुनाफे का सौदा रहेगा.

बेहतर भविष्य के लिए फाइनेंशियल प्लानिंग करना जरूरी है. हर व्यक्ति के फाइनेंशियल गोल अलग होते हैं और उनके निवेश करने की क्षमता भी अलग होती है. अगर आय के साधन सीमित हैं तो यह ध्यान रखना चाहिए कि निवेश वहीं, करें जहां आपके निवेश को सुरक्षा मिले. आपका निवेश बिना रिस्क के बेहतर रिटर्न दे. दिवाली नजदीक आ रही है, ऐसे में आप भी इस मौके पर फाइनेंशियल प्लानिंग कर सकते हैं. निवेश के फैसले लेने में आसानी हो, इसके लिए हम आपको निवेश के 4 लोकप्रिय और सुरक्षित विकल्प बता रहे हैं.

  • PPF

PPF  (पब्लिक प्रोविडेंट फंड) के तहत आपको निवेश पर सुरक्षा की गारंटी मिलती है. स्कीम के तहत मिलने वाले ब्याज पर इनकम टैक्स नहीं लगता है. इसमें नॉमिनी की भी सुविधा है. यह अकाउंट पोस्‍ट आफिस और बैंकों की चुने हुए ब्रांच में 15 साल के लिए खोला जाता है, जिसे 5 साल तक के लिए बढ़ाया जा सकता है. अकाउंट 100 रुपये से खुल जाता है लेकिन इसमें एक वित्त वर्ष में कम से कम 500 रुपये निवेश करना जरूरी है. साल में अधिकतम 1.5 लाख रुपए का निवेश किया जा सकता है. इस अकाउंट में ब्‍याज दरें सरकार समय समय पर तय करती है. अक्टूबर 2018 से इस अकाउंट में 8 फीसदी (सालाना कंपाउंडिंग) का ब्‍याज मिल रहा है.

PPF अकाउंट को 100 रुपये के मिनिमम अमाउंट से खोला जा सकता है. आप किसी भी बैंक या पोस्ट आॅफिस में यह अकाउंट खुलवा सकते हैं. PPF पर आपको टैक्‍स में कटौती का लाभ मिलता है, साथ ही मिलने वाला ब्‍याज और 15 साल का मैच्‍योरिटी पीरियड पूरा होने पर हासिल होने वाली रकम भी टैक्‍स फ्री रहती है. PPF पर तीसरे वित्त वर्ष से लोन लेने की सुविधा के अलावा 7वें वित्त वर्ष से हर साल विदड्रॉल की सुविधा भी मौजूद है.

  • FD और RD

फिक्स्ड डिपॉजिट (FDs) और रेकरिंग डिपॉजिट (Rds) पारंपरिक और लोकप्रिय निवेश के माध्यम हैं. इसकी बड़ी वजह यह है कि जरूरत पड़ने पर इसमें से आसानी से विदड्रॉल किया जा सकता है. कई बैंकों में आप 100 रुपये और 500 रुपये जमा के साथ इनमें निवेश शुरू कर सकते हैं. अधिकांश पुराने कमर्शियल बैंकों के लिए FD ब्याज दरें 6.5 फीसदी से 7.75 फीसदी के बीच हैं. स्मॉल फाइनेंस बैंक 9 फीसदी तक ब्याज देते हैं.

रेकरिंग डिपॉजिट आपको आपके द्वारा चुने गए कार्यकाल के लिए हर महीने निवेश करने की अनुमति देती है. PSU बैंकों के अलावा, कई निजी क्षेत्र के बैंक आपको न्यूनतम 500 रुपये प्रति महीने जमा करने की अनुमति देते हैं और इसके बाद 100 रुपये के मल्टीप्ल में जमा करते हैं. डिपॉजिट की एवज में लोन लेने के लिए RD का इस्तेमाल किया जा सकता है. RD पर ब्याज दरें अधिकतर FD दरों के समान ही रहती हैं.

  • NSC

राष्ट्रीय बचत पत्र (NSC) सरकारी बचत स्कीम है. इसे किसी भी पोस्ट ऑफिस से खरीदा जा सकता है. सरकार ने 1 अक्टूबर 2018 से 5 साल की NSC पर ब्याज दर 7.6 से बढ़ाकर 8 फीसदी कर दी है. इतना ब्याज अभी किसी प्रमुख बैंक के FDs पर नहीं मिल रहा है. NSC में पैसा जमा करने पर इनकम टैक्‍स की धारा 80C के तहत टैक्‍स छूट भी मिलती है.

इंडिया पोस्ट द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, पोस्ट आॅफिस के NSC स्कीम के तहत 5 साल के लिए निवेश किया जा सकता है. इंडिया पोस्ट के अनुसार इस स्कीम के तहत खाता कम से कम 100 रुपये से खुलता है. वहीं, इसमें निवेश की अधिकतम लिमिट तय नहीं है. यानी स्कीम में आप कितना भी पैसा जमा कर सकते हैं जो 100 के मल्टिपल में हो. ध्यान रहे कि टैक्स छूट सिर्फ 1.5 लाख रूपये तक वाले बचत पत्र ही मिलेगी.

देशभर के पोस्ट आॅफिस ब्रांच में NSC खाता खोला जा सकता है. NSC स्कीम डिपार्टमेंट आॅफ इकोनॉमिक अफेयर द्वारा पोस्ट आॅफिस के जरिए संचालित की जा रही है.

  • MIS

पोस्ट ऑफिस की स्माल सेविंग्स स्कीम में मंथली इनकम स्कीम (MIS) आपको हर महीने तय इनकम का मौका देता है. 1 अक्टूबर से पोस्ट ऑफिस के इस स्कीम पर ब्याज दर बढ़ाकर 7.7 फीसदी कर दी गई है. स्कीम के तहत आपको कम से कम 1500 रुपये से पोसट ऑफिस में अकाउंट खुलवाना होगा. स्कीम को हर 5 साल बाद 5 साल के लिए आगे बढ़ा सकते हैं. यह स्कीम आपके लिए लंबे समय तक आमदनी का जरिया बन सकती है.

इस स्कीम में आप व्यक्तिगत रूप से अधिकतम 4.5 लाख रुपये निवेश कर सकते हैं और जॉइंट खाते के साथ अधिकतम 9 लाख रुपये निवेश कर सकते हैं. इस योजना में तय समय से पहले पैसे निकालने पर कुछ नुकसान है. साल भर के भीतर पैसे निकालने पर आपको इस पर कुछ रिटर्न नहीं मिलेगा. 1 से 3 साल के बीच आप पैसे निकाल सकते हैं लेकिन आपको 2 फीसदी का पेनल्टी देना होता है. 3 साल के बाद पैसे निकालने पर आपको 1 फीसदी का पेनल्टी देना होता है.

Go to Top