सर्वाधिक पढ़ी गईं

2021 में बढ़ेगी प्रॉपर्टी की कीमत! 20% अमीर भारतीयों ने इन वजहों से बनाई नया घर खरीदने की योजना

एक रिपोर्ट के मुताबिक देश के करीब 20 फीसदी अल्ट्रा-हाई-नेटवर्थ इंडिविजुअल्स (UHNWI) इस साल 2021 में एक नया घर खरीदने की योजना बना रहे हैं.

February 25, 2021 7:56 AM
20 percent uhnwi planning to buy new home in 2021 reveals in a survey corona pandemic affected their choiceरियल एस्टेट के लिए यह साल 2021 बेहतर होने की उम्मीद है. (Representative Image)

पिछले साल कोरोना महामारी के चलते रियल एस्टेट प्रभावित हुआ था. हालांकि कोरोना के चलते इसे लेकर लोगों के व्यवहार में बदलाव आया है. एक रिपोर्ट के मुताबिक देश के करीब 20 फीसदी अल्ट्रा-हाई-नेटवर्थ इंडिविजुअल्स (UHNWI) इस साल 2021 में एक नया घर खरीदने की योजना बना रहे हैं. पिछले साल ऐसे लोगों की संख्या महज 10 फीसदी ही थी. इसके अलावा अल्ट्रा-रिच भारतीयों के लिए निवेश का पसंदीदा स्थान भारत है और इसके बाद ही अमेरिकी, ब्रिटेन, सिंगापुर व यूएई हैं. वैश्विक स्तर पर बात करें तो करीब 26 फीसदी अल्ट्रा-रिच इस साल 2021 में घर खरीदने की योजना बना रहे हैं. नाइट फ्रैंक के द वेल्थ रिपोर्ट 2021 के मुताबिक वैश्विक स्तर पर प्रमुख देशों में इस मांग के चलते घरों की कीमत में 7 फीसदी तक की बढ़ोतरी हो सकती है. इसके अलावा नाइट फ्रैंक के सर्वे के मुताबिक 41 फीसदी अल्ट्रा-रिच भारतीय रिसॉर्ट्स/तटीय क्षेत्र में नया घर खरीद सकते हैं. UHNWI का अर्थ ऐसे लोगों से है जिनके पास कम से कम 3 करोड़ डॉलर की संपत्ति है.

तीन कारणों से घर खरीद सकते हैं अल्ट्रा रिच

नाइट फ्रैंक द्वारा किए गए द एटिट्यूड सर्वे के मुताबिक भारत में ऐसे UHNWI की संख्या में बढ़ोतरी हुई है, जो 2021 में नया घर खरीदना चाहते हैं. सर्वे में शामिल लोगों ने तीन प्रमुख कारण गिनाए जिसकी वजह से वे इस साल 2021 में घर खरीद सकते हैं- अपने मुख्य निवास को अपग्रेड करना, एक नया हॉलिडे होम खरीदना और स्थाई रूप से किसी अन्य देश या भारत में ही किसी अन्य स्थान पर बसना. भारत में UHNWI ने रिसॉर्ट्स/तटीय क्षेत्र में नया घर खरीदने की संभावना जताई है.

ये सुविधाएं होना है जरूरी

सर्वे के मुताबिक नए घर का चयन करते समय भारतीय UHNWI के लिए ट्रांसपोर्ट लिंक्स, इंटरनेट कनेक्टिविटी जैसी सुविधाएं होना बहुत महत्वपूर्ण है. सर्वे में पाया गया कि अधिकतर भारतीय UHNWI भारत में निवेश के लिए ऑफिस और लॉजिस्टिक्स टॉप के दो रियल एस्टेट सेक्टरों के रूप में उभरा है. वैश्विक स्तर पर बात करें तो उनकी प्रमुखता आवासीय निजी किराए पर लिया जाने वाला सेक्टर और लॉजिस्टिक्स है. भारतीय UHNWI अपनी संपत्ति का 17% प्रॉपर्टी निवेश के लिए आवंटित करते हैं जबकि वैश्विक स्तर पर यह आंकड़ा 21 फीसदी है.

रियल एस्टेट के लिए बेहतर होगा यह साल 2021

नाइट फ्रैंक इंडिया के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर शिशिर बैजल के मुताबिक भारतीय बाजार में वर्ष 2021 रियल एस्टेट के लिए आशाजनक दिखाई दे रहा है. सरकारी सुधारों के चलते आवासीय बाजार ने 2020 की अंतिम दो तिमाहियों में ही रिकवरी दिखाना शुरू कर दिया था. इस साल 2021 में पर्यावरण, सामाजिक और शासन (ESG) केंद्रित प्रॉपर्टी में निवेश बढ़ सकता है. सर्वे के मुताबिक करीब 46 फीसदी भारतीय UHNWI ईएसजी केंद्रित प्रॉपर्टी में निवेश को लेकर रुचि रखते हैं जबकि वैश्विक स्तर पर यह आंकड़ा 43 फीसदी है. नाइट फ्रैंक में रिसर्च के ग्लोबल हेड लिएम बेली के मुताबिक करीब 26% वैश्विक UHNWIs 2021 में एक नया घर खरीदने की तलाश में हैं. इसके अलावा ग्रामीण और तटीय प्रॉपर्टी के लिए मांग बढ़ी है क्योंकि UHNWI खुली जगह पर रहने को प्रमुखता दे रहे हैं. महामारी के चलते ऐसे स्थानों के लिए मांग बढ़ी है जो वेलनेस की अधिक पेशकश करते हैं जैसे कि पहाड़ों, झीलों और तटीय हॉट स्पॉट.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. 2021 में बढ़ेगी प्रॉपर्टी की कीमत! 20% अमीर भारतीयों ने इन वजहों से बनाई नया घर खरीदने की योजना

Go to Top