सर्वाधिक पढ़ी गईं

1 मई से बदल गए ये 6 नियम, आम लोगों को कहीं मिली राहत तो कुछ फैसलों से बढ़ा बोझ

1 मई से आम लोगों के लिए कई चीजें बदल गई हैं. कुछ बदलाव से उनके जेब पर भार बढ़ा है तो कुछ से उन्हें वित्तीय तौर पर बड़ी राहत मिली है.

May 1, 2021 4:11 PM
1 may some rules changed like sbi home loan rate axis bank irdai and may affect directly common man check here details

चालू वित्त वर्ष का दूसरा महीना आज से शुरू हो गया है. 1 मई से कई चीजें आम लोगों के लिए बदल जाएंगी. इसमें बैंकिंग से लेकर लोन रेट तक शामिल है. इसके अलावा भारत में चल रहे दुनिया के सबसे बड़े वैक्सीनेशन कार्यक्रम को लेकर भी आज से नई शुरुआत हो रही है और 18-44 वर्ष की उम्र के लोगों को भी इसमें शामिल किया जा रहा है. इसके अलावा बैंकिंग से जुड़ी सेवाओं में बदलाव हो गया है जिससे आम जनता की जेब पर भार पड़ेगा, वहीं देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई ने आम लोगों को केवाईसी अपडेट से जुड़े नियमों में बड़ा बदलाव किया है और होम लोन के रेट में कटौती कर घर खरीदारों पर वित्तीय बोझ कम किया है.

1 मई से ये आये ये बदलाव

  • 18 वर्ष से ऊपर वालों का वैक्सीनेशन: भारत में दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन कार्यक्रम चल रहा है लेकिन इसमें अभी तक सिर्फ हेल्थवर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स समेत 45 वर्ष से अधिक की उम्र के लोगों को शामिल किया गया था. 1 मई से 18-44 वर्ष के लोगों को भी इस में शामिल किया गया है यानी कि अब 18 वर्ष से अधिक की उम्र के लोगों को कोरोना वैक्सीन की डोज दी जा सकेगी.
  • SBI ने कम की होम लोन की दरें: अपना घर होने का सपना पूरा करना अब और सस्ता हो गया है. देश के सबसे बड़े बैंक SBI ने घर खरीदने की सोच रहे लोगों को बड़ा तोहफा दिया है और Home Loan की दरों में कटौती की है. एसबीआई द्वारा जारी विज्ञप्ति के मुताबिक अब 30 लाख रुपये तक के होम लोन पर ब्याज दरों की शुरुआत 6.7 फीसदी से होगी. पहले यह 6.95 फीसदी था. ब्याज दरों में कटौती 1 मई 2021से प्रभावी हो गई हैं.

SBI ने घटाई Home Loan की दरें, KYC Update को लेकर भी बैंक ने दी बड़ी राहत

  • केवाईसी अपडेट को लेकर एसबीआई ने दी बड़ी राहत: कोरोना के चलते देश के कई हिस्सों में रिस्ट्रिक्शंस लगे हुए हैं. ऐसे में एसबीआई के कई खाताधारक अपने खाते की केवाईसी अपडेट नहीं करा पा रहे हैं. इसके चलते 31 मई के बाद सीआईएफ (कस्टमर इंफॉर्मेशन फाइल) के आंशिक रूप से फ्रीज होने की आशंका बनी हुई थी लेकिन आज बैंक ने बड़ी राहत दी है. बैंक ने कहा कि 31 मई तक केवाईसी अपडेट न होने के चलते खातों को फ्रीज नहीं किया जाएगा. इसके अलावा पोस्ट या रजिस्टर्ड ई-मेल के जरिए भी भेजे गए डॉक्यूमेंट्स से केवाईसी अपडेट हो जाएगी.
  • Axis Bank ने न्यूनतम बैलेंस के बदले नियम: एक्सिस बैंक ने न्यूनतम एवरेज बैलेंस की लिमिट को बढ़ा दिया है. मेट्रो शहरों में एक्सिस बैंक के ईजी सेविंग्स स्कीम्स वाले अकाउंट के लिए न्यूनतम बैलेंस की अनिवार्यता 10,000 रुपये से बढ़ाकर 15,000 रुपये कर दी गई है. यह सभी घरेलू और एनआरआई ग्राहकों पर लागू होगा. वहीं सेमी अर्बन और रूरल एरिया में प्राइम और लिबर्टी सेविंग्स अकाउंट के लिए न्यूनतम बैलेंस की अनिवार्यता 15000 रुपये से बढ़ाकर 25000 रुपये कर दिया गया है. अगर आपका सैलरी अकाउंट 6 महीने से ज्यादा पुराना है और किसी एक महीने में कोई क्रेडिट नहीं होता है तो 100 रुपए प्रति महीने का चार्ज लिया जाएगा. वहीं, अगर आपके खाते में 17 महीने तक कोई ट्रांजेक्शन नहीं होता है तो 18वें महीने में वन टाइम 100 रुपए का चार्ज लिया जाएगा.

Axis Bank: फ्री लिमिट के बाद कैश निकालने पर डबल चार्ज, 1 मई से बचत खाते में इतना बैलेंस होना जरूरी

  • Axis Bank खाते से कैश निकालना महंगा: एक्सिस बैंक से कैश निकालना भी अब पहले से महंगा पड़ेगा. एक्सिस बैंक हर महीने 4 ATM ट्रांजैक्‍शन या 2 लाख रुपये का फ्री ट्रांजैक्‍शन फ्री देता है. इसके बाद अतिरिक्‍त ट्रांजैक्‍शन पर चार्ज देना होता है. अभी तक फ्री लिमिट के बाद प्रति 1000 रुपये पर 5 रुपये कटते हैं. अब 1 मई से अब ग्राहकों को फ्री लिमिट के बाद प्रति 1000 रुपये के कैश विड्रॉल पर 10 रुपये देने होंगे.
  • IRDAI ने कवर राशि को किया दोगुना: बीमा नियामक इरडा ने आरोग्य संजीवनी बीमा के तहत कवर की जाने वाली राशि को दोगुना करने का निर्देश दिया है. 1 मई से बीमा कंपनियां 50 हजार-10 लाख रुपये तक का कवर देंगी. पिछले साल 1 अप्रैल 2020 से शुरू हुई आरोग्य संजीवनी बीमा पॉलिसी के तहत अधिकतम 5 लाख रुपये तक का कवरेज मिलता था.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. 1 मई से बदल गए ये 6 नियम, आम लोगों को कहीं मिली राहत तो कुछ फैसलों से बढ़ा बोझ

Go to Top