मुख्य समाचार:
  1. ड्रोन गिराए जाने के बाद US ने ईरान पर बोला साइबर हमला, मिसाइल नियंत्रण प्रणाली और जासूसी नेटवर्क बना निशाना

ड्रोन गिराए जाने के बाद US ने ईरान पर बोला साइबर हमला, मिसाइल नियंत्रण प्रणाली और जासूसी नेटवर्क बना निशाना

अमेरिकी न्यूजपेपर वॉशिंगटन पोस्ट ने यह खबर दी है.

June 23, 2019 12:53 PM
US launched cyber attacks on Iran after drone shootdown: reportsImage: Reuters

अमेरिका ने ईरान में अपने निगरानी ड्रोन गिराए जाने के बाद ईरान की मिसाइल नियंत्रण प्रणाली और एक जासूसी नेटवर्क पर साइबर हमले किए हैं. अमेरिकी न्यूजपेपर वॉशिंगटन पोस्ट ने यह खबर दी है. न्यूजपेपर ने लिखा है कि हमले से रॉकेट और मिसाइल प्रक्षेपण में इस्तेमाल होने वाले कंप्यूटरों को नुकसान पहुंचा है. हालांकि अमेरिका के रक्षा अधिकारियों ने न्यूजपेपर की रिपोर्ट की पुष्टि नहीं की है.

ईरान के परमाणु सौदे से अमेरिका के बाहर निकलने के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ा हुआ है. ईरान ने बृहस्पतिवार को अमेरिका के एक ड्रोन को मार गिराया था. ईरान का दावा है कि ड्रोन ने उसके हवाई क्षेत्र का उल्लंघन किया था.

याहू ने दो पूर्व खुफिया अधिकारियों के हवाले से कहा है कि अमेरिका ने सामरिक हॉर्मूज जलडमरूमध्य में जहाजों पर नजर रखने वाले एक जासूसी समूह को निशाना बनाया. अमेरिका का आरोप है कि ईरान ने इसी जगह हाल में ही में दो बार उसके तेल टैंकरों पर हमले किए थे.

अमेरिका ने सुपरकंप्यूटिंग क्षेत्र के पांच चीनी समूहों को किया ब्लैक लिस्ट, राष्ट्रीय सुरक्षा का दिया हवाला

हमले के बजाय अब प्रतिबंध लगाएगा अमेरिका

ड्रोन हमले के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने ईरान पर हमला करने के बात कही थी. बाद में उन्होंने हमले का विचार छोड़ कर शनिवार को कहा कि अमेरिका अगले सप्ताह ईरान पर बड़े प्रतिबंध लगाएगा.

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop