मुख्य समाचार:

ड्रैगन को बड़ी चेतावनी! चीन के साथ युद्ध हुआ तो भारत का साथ देगी अमेरिकी सेना

अमेरिका ने साफ संदेश देते हुए कहा कि अगर चीन के साथ भारत का युद्ध हुआ तो अमेरिकी सेना भारत का साथ देगी.

Published: July 7, 2020 8:45 AM
US clear message to Dragon, US military will stand with Indian army, conflict between india and china, india-china face off, india-china border dispute, India army, galwan valleyअमेरिका ने साफ संदेश देते हुए कहा कि अगर चीन के साथ भारत का युद्ध हुआ तो अमेरिकी सेना भारत का साथ देगी.

महाशक्तियों भारत और चीन के बीच सीमा विवाद और युद्ध की आशंका पर पूरी दुनिया की नजरें हैं. इस बीच अमेरिका ने ड्रैगन के लिए साफ संदेश देते हुए कहा कि अगर चीन के साथ भारत का युद्ध हुआ तो अमेरिकी सेना भारत का साथ देगी. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार यह बात व्हाइट हाउस के चीफ आफ स्टाफ मार्क मीडोज ने दक्षिण चीन सागर में अमेरिकी उपस्थिति को मजबूत करने के लिए दो एयरक्राफ्ट कैरियर की तैनाती के बाद कही है. उन्होंने कहा कहा अमेरिकी सेना अपने रिश्तों को निभाने के लिए मजबूती से डटी हुई है. उन्होंने कहा कि हमारा संदेश साफ है.

ट्रंप ने भी ट्वीट किया

व्हाइट हाउस ने स्पष्ट कहा कि वे चीन को एशिया में दादागिरी करने नहीं दे सकते. व्हाइट हाउस के चीफ ऑफ स्टॉफ मार्क मीडोज ने एक न्यूज चैनल को बताया कि संदेश स्पष्ट है. हम खड़े होकर चीन को या किसी और को सबसे शक्तिशाली या प्रभावी बल होने के संदर्भ में कमान नहीं थामने दे सकते, फिर चाहे वह उस क्षेत्र में हो या यहां. व्हाइट हाउस के इस ऐलान के कुछ ही देर बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी ट्वीट कर कहा कि चीन के कारण अमेरिका और बाकी दुनिया को भारी क्षति पहुंची है.

चीन के लिए साफ है संदेश

अमेरिका की ओर से कहा गया कि हमारी सेना मजबूत है और मजबूत बनी रहेगी. मार्क ने कहा कि अमेरिका ने दक्षिण चीन सागर में अपने एयर क्राफ्ट भेजकर दुनिया को यह संदेश देना चाहा है कि दुनिया की सबसे बड़ी महाशक्ति हम ही हैं. उन्होंने कहा कि अमेरिका ने दक्षिण चीन सागर में अपने दो विमान वाहक पोत भेजे हैं. बता दें कि चीन, दक्षिण चीन सागर और पूर्वी चीन सागर में क्षेत्रीय विवादों में लगा हुआ है. वियतनाम, फिलीपींस, मलेशिया, ब्रुनेई और ताइवान के भी क्षेत्र को लेकर भी विवाद है. अमेरिका ने भारत द्वारा चीन के 59 ऐप्स पर बैन लगाने के फैसलों को भी सही बताया है.

चीनी सेना ने पीछे हटना शुरू किया

भारत और चीन के सैनिकों के बीच पैंगोंग सो, गलवान घाटी और गोग्रा हॉट स्प्रिंग सहित पूर्वी लद्दाख के कई इलाकों में 8 हफ्तों से गतिरोध जारी है. 15 जून को गलवान घाटी में दोनों देशों के सैनिकों के बीच हुई झड़प के बाद स्थिति और बिगड़ गई. हालांकि चीनी सेना ने गलवान घाटी और गोग्रा हॉट स्प्रिंग से सोमवार को अपने सैनिकों की वापसी शुरू कर दी. राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने रविवार को टेलीफोन पर बात की जिसमें वे वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) से सैनिकों के ‘तेजी से’ पीछे हटने की प्रक्रिया को पूरा करने पर सहमत हुए.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. अंतरराष्ट्रीय
  3. ड्रैगन को बड़ी चेतावनी! चीन के साथ युद्ध हुआ तो भारत का साथ देगी अमेरिकी सेना

Go to Top