मुख्य समाचार:
  1. भारतीय सेना होगी और भी मजबूत, अमेरिका दे रहा अपनी सबसे बेहतर तकनीक

भारतीय सेना होगी और भी मजबूत, अमेरिका दे रहा अपनी सबसे बेहतर तकनीक

अमेरिका अपनी सबसे बेहतर तकनीक भारत को देने के लिए तैयार है.

June 8, 2019 4:15 PM
us india, us india defense deal, defense deal, us offers missile defense systems to India, us india defense, Pulwama terrorist attack, integrated air and missile defence systemsट्रंप प्रशासन ने भारत को आर्म्ड ड्रोन्स बेचने के लिए मंजूरी दे दिया है और इंडीग्रेटेड एयर एंड मिसाइल डिफेंस सिस्टम्स का भी प्रस्ताव भारत के सामने रखा है. (Representative Image)

ट्रंप प्रशासन ने भारत को आर्म्ड ड्रोन्स बेचने के लिए मंजूरी दे दिया है और इंडीग्रेटेड एयर एंड मिसाइल डिफेंस सिस्टम्स का भी प्रस्ताव भारत के सामने रखा है. इंडीग्रेटेड एयर एंड मिसाइल डिफेंस सिस्टम्स से भारतीय सेना की क्षमता में बढ़ोतरी होगी और इससे इंडो-पैसेफिक रीजन में सुरक्षा चिंताएं खत्म होंगी. यह रणनीतिक रूप से अहम फैसला है. अमेरिका ने ऑफर पुलवामा में हुए आतंकी हमले में 40 सीआरपीएफ के जवानों के शहीद होने और इंडो-पैसफिक रीजन में चीन की बढ़ती सैन्य ताकत को संतुलित करने के लिए रखा है. वॉइट हाउस के एक ऑफिसियल के मुताबिक अमेरिका अपनी सबसे बेहतर तकनीक भारत को देने के लिए तैयार है. हालांकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि आर्म्ड ड्रोन्स कब तक भारत को हासिल होंगे.

2017 में मोदी-ट्रंप की मुलाकात में अमेरिका हुआ था सहमत

दो साल पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप और भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच एक बैठक हुई थी. उस बैठक में अमेरिका अपने गॉर्डियन ड्रोन्स के सर्विलांस वर्जन भारत को बेचने पर सहमत हुआ था. भारत पहला नॉन-ट्रीटी पार्टनर है जिसे जनरल एटॉमिक्स द्वारा निर्मित एनटीसीआर कैटेगरी-1 अनमैन्ड एरियल सिस्टम-द सी गॉर्डियन यूएएस बेचने का फैसला किया गया.

17350 करोड़ रुपये की डील

चुनावों के कारण इस डील को होने में देरी हुई है. डिफेंस इंडस्ट्री के सोर्स के मुताबिक अगर यह डील होती है तो यह करीब 17350 करोड़ रुपये की डील होगी. अमेरिका ने इस डील पर अपना पक्ष स्पष्ट कर दिया है और अब भारत को अमेरिकी ऑफर पर अपनी प्रतिक्रिया देनी है. अमेरिकी ऑफर पर अभी भारत में सभी पहलुओं की जांच चल रही है. इससे पहले अमेरिका और भारत के बीच एमएच-60आर शीहॉक हेलीकॉप्टर्स (18 हजार करोड़ रुपये), अपाचे हेलीकॉप्टर्स (16 हजार करोड़ रुपये), पी-8आई मैरिटाइम पैट्रोल एयरक्राफ्ट (21 हजार करोड़ रुपये) और एम777 होवित्जर्स (5100 करोड़ रुपये) जैसी डिफेंस डील हुई है.

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop