मुख्य समाचार:
  1. Vijay Mallya: लंदन HC से माल्या को झटका, प्रत्यर्पण के खिलाफ याचिका खारिज; भारत लाने की उम्मीद बढ़ी

Vijay Mallya: लंदन HC से माल्या को झटका, प्रत्यर्पण के खिलाफ याचिका खारिज; भारत लाने की उम्मीद बढ़ी

विजय माल्या पर बैंकों के साथ धोखाधड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप हैं. वह ब्रिटेन में हैं और भारतीय एजेंसियों की ओर से प्रत्यर्पण मामले का सामना कर रहा है.

April 8, 2019 5:20 PM
vijay mallya, Vijay Mallya extradition order, UK Court, extradition order, bank defaulter mallya, विजय माल्या, प्रत्यर्पण, प्रत्यर्पण याचिका, लंदन कोर्ट, किंगफिशर, भगोड़ा शराब कारोबारी विजय माल्याविजय माल्या पर बैंकों के साथ धोखाधड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप हैं.

भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या (Vijay Mallya) की लंदन कोर्ट से प्रत्यर्पण के खिलाफ दायर अर्जी को खारिज हो गई है. इसके साथ ही माल्या के भारत लाने की उम्मीद बढ़ गई है. माल्या ने अपने प्रत्यर्पण को ब्रिटिश गृह मंत्री साजिद जाविद की ओर से दी गई मंजूरी के खिलाफ हाईकोर्ट में अपील की थी.

बता दें कि चीफ मजिस्ट्रेट एम्मा अर्बुथनॉट ने माल्या के प्रत्यर्पण को मंजूरी देते हुए अपने फैसले में कहा था कि उनके खिलाफ कर्ज धोखाधड़ी के पर्याप्त सुबूत हैं और प्रथम दृष्टया पाया कि माल्या बैंकों से धोखाधड़ी की साजिश में शामिल थे. विजय माल्या पर बैंकों के साथ धोखाधड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप हैं. वह ब्रिटेन में हैं और भारतीय एजेंसियों की ओर से प्रत्यर्पण मामले का सामना कर रहा है.

दोबारा अपील के लिए 5 दिन की मोहलत

UK जुडिशरी के एक प्रवक्ता ने बताया कि कोर्ट ने विजय माल्या को प्रत्यर्पण के खिलाफ अपील करने की अनुमति नहीं दी. उन्होंने बताया, ‘जस्टिस विलियम डेविस ने 5 अप्रैल को प्रत्यर्पण के खिलाफ अपील करने की अनुमति देने के उनके आवेदन को अस्वीकार कर दिया.’ प्रवक्ता ने कहा कि याचिकाकर्ता (माल्या) के पास मौखिक विचार के लिए आवेदन करने को 5 दिन हैं. अगर फिर से कोई आवेदन किया जाता है तो यह मामला हाई कोर्ट के जज के सामने जाएगा.

ब्रिटिश कानून में संक्षिप्त मौखिक सुनवाई का प्रावधान

ब्रिटिश कानून के अनुसार, पुनर्विचार प्रक्रिया में संक्षिप्त मौखिक सुनवाई होगी जिसमें माल्या और भारत सरकार की तरफ से मौजूद टीमों की तरफ से दलीलें रखी जाएंगी. इसके बाद जज यह फैसला लेंगे कि इस पर पूर्ण सुनवाई की जरूरत है या नहीं. बता दें, हाल में संकट में फंसे शराब कारोबारी ने कई भारतीय बैंकों को संतुष्ट करने के लिए अपनी शानो-शौकत की जिंदगी छोड़ने की पेशकश की थी. UK कोर्ट को भी यह जानकारी दी गई थी.

Vijay Mallya पर बैंकों का 9000 करोड़ बकाया

विजय माल्या पर भारतीय बैंकों के 9,000 करोड़ रुपये बकाया हैं. बैंकों का डिफॉल्ट कर माल्या मार्च 2016 में लंदन भाग गया. माल्या की किंगफिशर एयरलाइंस ने बैंकों से लोन लिया था. जिसे माल्या नहीं चुका पाया. भगोड़ा आर्थिक अपराधी कानून-2018 के तहत माल्या पहला अपराधी है जिसे भगोड़ा घोषित किया गया है. लंदन की अदालत और वहां का गृह विभाग माल्या के प्रत्यर्पण की मंजूरी दे चुके हैं. माल्या ने इस फैसले के खिलाफ लंदन के हाईकोर्ट में अपील की थी.

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop