मुख्य समाचार:

ट्रंप प्रशासन से भारतीय IT पेशेवरों को लगा झटका, H-1B वीजा के लिए अप्‍लाई करना हुआ महंगा

अमेरिकी H-1B वीजा की भारतीय आईटी पेशेवरों के बीच बहुत मांग होती है.

November 8, 2019 3:24 PM

अमेरिका ने H-1B वीजा के लिए एप्लीकेशन फीस को 10 अमेरिकी डॉलर बढ़ा दिया है. H-1B वीजा की भारतीय आईटी पेशेवरों के बीच बहुत मांग होती है. H-1B प्रोग्राम से कंपनियों को अमेरिका में दूसरे देशों के कर्मचारियों को नौकरी पर रखने की अनुमति मिलती है. इसमें व्यक्ति में उस क्षेत्र की अच्छी जानकारी और स्नातक या उससे ज्यादा डिग्री की जरूरत होती है.

US Citizenship and Immigration Services (USCIS) ने गुरुवार को कहा कि यह नॉन रिफंडेबल फीस नए इलेक्ट्रॉनिक रजिस्ट्रेशन सिस्टम के जरिए देनी होगी जो H-1B की प्रक्रिया को आवेदकों और फेडरल एजेंसी दोनों के लिए आसान बना देगी. USCIS के एक्टिंग डायरेक्टर Ken Cuccinelli ने कहा कि इससे H-1B की चयन प्रक्रिया ज्यादा आसान और असरदार बनेगी.

नया इलेक्ट्रॉनिक रजिस्ट्रेशन सिस्टम लागू होगा

उन्होंने कहा कि इलेक्ट्रॉनिक रजिस्ट्रेशन सिस्टम एजेंसी की इमिग्रेशन सिस्टम को मॉर्डन बनाने की पहल का हिस्सा है. इसके साथ ही फ्रॉड को कम करना, प्रक्रिया को आसान बनाना और प्रोग्राम को विश्वसनीय बनाना शामिल है. इलेक्ट्रॉनिक रजिस्ट्रेशन सिस्टम को लागू करने के बाद H-1B वीजा के आवेदकों जिनमें वो लोग जिनके पास एडवांस डिग्री है. उनके लिए पहले USCIS के साथ इलेक्ट्रॉनिक रजिस्ट्रेशन करना जरूरी होगा. इसे एक रजिस्ट्रेशन की निश्चित समयावधि के दौरान करना होगा.

फेडरल एजेंसी 2021 की H-1B कैप सिलेक्शन प्रक्रिया के लिए इस रजिस्ट्रेशन सिस्टम को लागू करने जा रही है. हालांकि अभी सिस्टम की टेस्टिंग होना बाकी है. इसे लागू करने की तारीख और समय और रजिस्ट्रेशन करने की समयावधि का एलान तब होगा, जब इसके बारे में आधिकारिक फैसला ले लिया जाएगा. USCIS इसके लिए लोगों को कुछ समय पहले ही सूचित करेगा जिससे वह रजिस्ट्रेशन के लिये जरूरी निर्देशों को पूरा कर लें.

मोदी सरकार को झटका! Moody’s ने भारत का रेटिंग आउटलुक किया ‘निगेटिव’, वित्‍त मंत्री ने कहा- मजबूत हैं फंडामेंटल

USCIS ने नई प्रक्रिया के लिए सुझाव मांगे थे

USCIS ने इसके लिए 4 सितंबर को एक नोटिस प्रकाशित किया था जिसमें भविष्य में नियमों में होने वाले बदलावों पर लोगों से 30 दिन के भीतर सुझाव देने के लिए कहा था. उस दौरान USCIS को सिर्फ 22 सुझाव मिले और उसने सभी राय के बारे में विचार किया और इस पर सार्वजनिक जवाब आखिरी फैसला देने से पहले दिए गए.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. अंतरराष्ट्रीय
  3. ट्रंप प्रशासन से भारतीय IT पेशेवरों को लगा झटका, H-1B वीजा के लिए अप्‍लाई करना हुआ महंगा

Go to Top