सर्वाधिक पढ़ी गईं

COVID-19 पर बड़ी खबर, आम लोगों को 2022 के पहले कोराना की प्रभावी वैक्सीन मुश्किल; सर्वे में खुलासा

Covid-19 Vaccine Development: कोरोना वैक्सीन के टीके को लेकर दुनियाभर में इंतजार हो रहा है.

October 2, 2020 3:23 PM
COVID-19 VaccineCovid-19 Vaccine Development: कोरोना वैक्सीन के टीके को लेकर दुनियाभर में इंतजार हो रहा है.

Covid-19 Vaccine Development: कोरोना वैक्सीन के टीके को लेकर दुनियाभर में इंतजार हो रहा है. कोरोना के असर को खत्म करने वाली वैक्सीन बनाने में दुनियाभर की करीब 150 कंपनियां लगी हैं. कई ने तो इसके पहले फेज से तीसरे फेज तक के सफल ट्रॉयल का भी दावा किया है. इस बीच अगल अलग समय पर कोविड वैक्सीन बाजार में आने का दावा किया जा रहा है. किसी का दावा है कि वैक्सीन इसी साल आ जाएगी तो कोई मार्च 2021 तक वैक्सीन आने का दावा कर रहा है. लेकिन इसी बीच एक नई रिपोर्ट आम लोगों की चिंता बढ़ाने वाली है.

टीका डेवलपमेंट के क्षेत्र में काम करने वाले एक्सपर्ट के अनुसार, 2021 के खत्म होने से पहले एक प्रभावशाली टीका आम जनता के लिए उपलब्ध होने की संभावना बहुत कम है. कनाडा के मैकगिल विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने जून 2020 के अंत में वैक्सीनोलॉजी में काम करने वाले 28 विशेषज्ञों का एक सर्वेक्षण किया. सर्वेक्षण में शामिल लोगों में से अधिकांश कनाडा या अमेरिकन अकेडमिक्स के थे. इन्हें अपने क्षेत्र में औसतन 25 साल का अनुभव था.

मैकगिल विश्वविद्यालय के एक प्रोफेसर जोनाथन किमेलमैन ने अपने बयान में कहा कि हमारे सर्वेक्षण में शामिल विशेषज्ञों ने टीके के डेवलपमेंट पर पूर्वानुमान व्यक्त किया है. ये एक्सपर्ट आमतौर पर अमेरिकी सार्वजनिक अधिकारियों द्वारा पेश किए गए अनुमान की तुलना में कम आशावादी थे.

2021 के अंत तक आएगी वैक्सीन

जनरल इंटरनल मेडिसिन जर्नल में प्रकाशित पेपर पर वरिष्ठ लेखक किमेलमैन ने कहा कि सामान्य तौर पर इस सर्वे में शामिल विशेषज्ञों का मानना है कि अगर सबसे अच्छी स्थिति की बात करें तो अगले गर्मियों तक कोरोना वायरस की वैक्सीन आम लोगों के लिए बाजार में आ सकती है. लेकिन इसकी संभावना बहुत कम है. हालांकि इस बात की संभावना ज्यादा है कि 2021 के अंत में ही वैक्सीन आम लोगों के लिए उपलब्ध होगी. हो सकता है कि 2022 में यह बाजार में आए.

झूठी शुरुआत का डर

कई विशेषज्ञ यह भी मानते हैं कि एक प्रभावी टीका उपलब्ध होने से पहले कुछ झूठी शुरुआत हो सकती है. मैकगिल विश्वविद्यालय में पोस्टडॉक्टरल फेलो के लेखक पैट्रिक केन ने कहा कि हमने जो सर्वे किया है, उसके अनुसार उनका मानना ​​है कि 3 में से 1 संभावना है कि टीके को मंजूरी के बाद एक सुरक्षा चेतावनी लेबल प्राप्त होगा. 10 में 4 बात की संभावना यह है कि पहले बड़े क्षेत्र की स्टडी में एफिसिएंसी की रिपोर्ट नहीं होगी.

दिख सकती हैं 2 विफलताएं

अध्ययन से यह भी पता चला है कि सर्वे में शामिल एक तिहाई लोगों का मानना ​​है कि टीका डेवलपमेंट में दो मुख्य असफलताओं का सामना करने की संभावना है. शोधकर्ताओं ने कहा कि पहला यह कि वैक्सीन के व्यापक रूप से बाजार में आने के बाद इसके निगेटिव प्रभाव को लेकर रेगुलेटरी यानी यूएस एफडीए से चेतावनी मिलेगी. इसके अलावा, अमेरिका या कनाडा में पहले बड़े क्षेत्र के ट्रॉयल में इसे लेकर अशक्त या निगेटिव रिजल्ट की रिपोर्ट आए. अ

तेजी से हो रहा है काम

अमेरिका में कार्नेगी मेलन विश्वविद्यालय में एक एसोसिएट प्रोफेसर स्टीफन ब्रूमेल ने कहा कि हमारे अध्ययन में पाया गया है कि विशेषज्ञ मोटे तौर पर SARS-CoV-2 वैक्सीन की समयसीमा के बारे में एग्रीमेंट में हैं. उन्होंने एक बयान में कहा कि हालांकि यह सर्वे बहुत अधिक आशावादी सरकारी अनुमानों पर नजर नहीं रखता है, लेकिन यह इस धारणा को दिखाता है कि शोधकर्ता विकास की तेज गति पर हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. अंतरराष्ट्रीय
  3. COVID-19 पर बड़ी खबर, आम लोगों को 2022 के पहले कोराना की प्रभावी वैक्सीन मुश्किल; सर्वे में खुलासा

Go to Top