सर्वाधिक पढ़ी गईं

कोरोना महामारी में स्कूल बंद हुआ तो 12 साल के बच्चे ने शुरू की ट्रेडिंग, एक खास टिप्स से निवेश कर हुआ मालामाल

दक्षिण कोरिया के एक 12 वर्षीय बच्चे ने शौकिया तौर पर पिछले साल कोरोना महामारी के दौर में ट्रेडिंग शुरू किया और उसे निवेश पर 43 फीसदी की रिटर्न मिला है.

February 10, 2021 5:19 PM
South Korean boy KWON investor with 43 PERSON gains is new retail trading icon12 वर्षीय बच्चे Kwon के हर दिन की शुरुआत अब कारोबारी खबरों से होती है और वह अगला वॉरेन बफे बनने का सपना संजोए हुए है. (Image- Reuters_

दक्षिण कोरिया के एक 12 वर्षीय बच्चे ने शौकिया तौर पर पिछले साल कोरोना महामारी के दौर में ट्रेडिंग शुरू किया और उसे निवेश पर 43 फीसदी की रिटर्न मिला है. 12 वर्षीय बच्चे Kwon के हर दिन की शुरुआत अब कारोबारी खबरों से होती है और वह अगला Warren Buffett बनने का सपना संजोए हुए है. पिछले साल क्वोन ने अपनी मां को रिटेल ट्रेडिंग अकाउंट खोलने के लिए कहा. 182.06 करोड़ रुपये (2.5 करोड़ डॉलर) की बचत को सीड मनी के तौर पर इस्तेमाल करते हुए उसने ट्रेडिंग शुरू की और 43 फीसदी का रिटर्न हासिल किया. उसने ऐसे समय में ट्रेडिंग शुरू किया जब कोरिया के बेंचमार्क कोस्पी इंडेक्स दशक की सबसे बड़ी गिरावट के बाद रिकवर होना शुरू किया था.

अपने माता-पिता से इस मामले में बातचीत किया क्योंकि उसे बाजार विशेषज्ञों का भरोसा था. बाजार विशेषज्ञों ने टीवी पर लगातार कई बार कहा कि निवेश का ऐसा मौका दस वर्षों में एक बार आता है. क्वोन ने कहा कि उसके रोल मॉडल दिग्गज निवेशक वारेन बफे हैं.

यह भी पढ़ें- सिर्फ 1 रुपये में मिल जाएगा भरपेट खाना, गौतम गंभीर ने शुरू की एक और जन रसोई

लांग टर्म निवेश की रणनीति

कई निवेशक शॉर्ट टर्म निवेश को लेकर रणनीति तैयार करते हैं. क्वोन ने इसके विपरीत कहा कि वह शॉर्ट टर्म की बजाय लांग टर्म निवेश पर फोकस करना चाहते हैं. क्वोन ने अपना निवेश 10 से 20 साल तक बनाए रखने की बात कही ताकि अपने रिटर्न को अधिक से अधिक बढ़ाया जा सके.
कोरोना महामारी के चलते स्कूल बंद हो गए तो क्वोन ने एक सूची बनाई और मार्केट करेक्शन के दौरान इसके आधार पर ट्रेडिंग किया. उसने दक्षिण कोरिया के सबसे बड़े मैसेंजर ऐप ऑपरेटर काकाओ कॉरपोरेशन से लेकर दुनिया की सबसे बड़ी चिपमेकर सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स कॉरपोरेशन और हुंडई मोटर में भी निवेश किया.

कम उम्र के निवेशकों की बढ़ रही संख्या

दक्षिण कोरिया में क्वोन जैसे कई ऐसे लोग हैं जिन्होंने हाल ही में निवेश शुरू किया है, वे उपहार, मिनी कार टॉयज के कारोबार और वेंडिंग मशीन से मिले पैसों से ब्लू चिप शेयरों में निवेश करते हैं. कोरोना महामारी के दौर में इन के निवेश के चलते रिटेल ट्रेड में तेज बढ़ोतरी हुई. दक्षिण कोरिया में पिछले साल 2020 में जितना कारोबार हुआ, उसमें करीब दो-तिहाई टीएनएजर्स या उनसे भी छोटी उम्र के निवेशकों ने किया. 2019 में कम उम्र के ऐसे निवेशकों की हिस्सेदारी 50 फीसदी से भी कम थी.

रोजगार के सिकुड़ते मौके के कारण बढ़ रहा ट्रेडिंग

बुधवार को जारी बेरोजगारी के आंकड़ों के मुताबिक 15-29 वर्ष के आयु वर्ग के बीच बेरोजगारी दर जनवरी 2021 में 27.2 फीसदी के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई. दक्षिण कोरिया के वोकेशनल रिसर्चर मिन सूक विओन का कहना है कि कॉलेज ग्रेजुएट्स के बाद रोजगार के पर्याप्त मौके नहीं हैं जिसके कारण जल्द से जल्द कई लोग आय के अतिरिक्त विकल्प तलाश रहे हैं. विओन का कहना है कि सियोल नेशनल यूनिवर्सिटी जैसे अच्छे संस्थानों में जाने की बजाय वे बड़े निवेशक बनना चाहेंगे.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. अंतरराष्ट्रीय
  3. कोरोना महामारी में स्कूल बंद हुआ तो 12 साल के बच्चे ने शुरू की ट्रेडिंग, एक खास टिप्स से निवेश कर हुआ मालामाल

Go to Top