मुख्य समाचार:
  1. Samsung ने कर्मचारियों से माफी मांगी, 95 लाख तक देगी मुआवजा; फैक्ट्री में काम करते हुआ था कैंसर

Samsung ने कर्मचारियों से माफी मांगी, 95 लाख तक देगी मुआवजा; फैक्ट्री में काम करते हुआ था कैंसर

यह मामला पहली बार साल 2007 में सामने आया, जब सैमसंग की फैक्ट्रियों के कर्मचारियों और उनके परिवार ने आरोप लगाया कि काम करने के दौरान उन्हें कई तरह के कैंसर हो गए, जिससे कई की मौत हो गई.

November 23, 2018 1:29 PM
Samsung Electronics apologised to workers for cases, Samsung Electronics, world's top chipmaker, Samsung Electronics co-president Kim Ki-nam, samsung semiconductor and LCD factoriesसैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स ने शुक्रवार को उन कर्मचारियों से माफी मांग ली, जिन्हें सेमीकंडक्टर फैक्ट्रियों में काम करने के दौरान कैंसर हो गया था. (Reuters)

सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स ने शुक्रवार को उन कर्मचारियों से माफी मांग ली, जिन्हें सेमीकंडक्टर फैक्ट्रियों में काम करने के दौरान कैंसर हो गया था. इस तरह देश की टॉप चिपमेकर कंपनी के साथ कई साल पुराना चल रहा विवाद खत्म हो गया. कंपनी के को-प्रेसिडेंट किम की नैम ने कहा, ‘हम उन कर्मचारियों और उनके परिजनों से माफी मांगते हैं, जिन्हें कैंसर व अन्य बीमारियां हुई थीं. हम अपनी सेमीकंडक्टर और एलसीडी फैक्ट्रियों में स्वास्थ्य के जोखिम को उचित ढंग से संभालने में नाकाम रहे.’

सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स दुनिया की सबसे बड़ी मोबाइल फोन मैन्युफैक्चरर और चिपमेकर है. यह सैमसंग समूह की प्रमुख सब्सिडियरी है. इस समूह का नियंत्रण एक परिवार के पास है और दक्षिण कोरिया की अर्थव्यवस्था में इसका काफी प्रभाव है. दक्षिण कोरिया को दुनिया की 11वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने में सैमसंग का अहम रोल रहा लेकिन उस पर गलत राजनीतिक संपर्कों के आरोप भी लगे हैं.

करीब 240 लोग हुए थे बीमार

कैम्पेन ग्रुप्स के अनुसार, सैमसंग की फैक्ट्रियों में काम करने वाले करीब 240 लोग काम करने की परिस्थितियों की वजह से बीमार हो गए. इनमें से करीब 80 की मौत हो गई. बीमार कर्मचारियों और उनके पक्ष में अभियान चलाने वाले समूहों ने सैमसंग के खिलाफ लंबी कानूनी लड़ाई लड़ी. इस माह की शुरुआत में हुई डील के तहत सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स ग्रुप के कर्मचिारयों को मुआवजे के तौर पर प्रति केस 1.33 लख डॉलर (करीब 95 लाख रुपये) तक मुआवजा देगी.

2007 में सामने आया मामला

यह मामला पहली बार साल 2007 में सामने आया, जब सियोल के दक्षिण में स्थित सुवोन में सैमसंग की सेमीकंडक्टर और डिस्प्ले फैक्ट्रियों के कर्मचारियों और उनके परिवार ने आरोप लगाया कि काम करने के दौरान उन्हें कई तरह के कैंसर हो गए, जिससे कई की मौत हो गई. हालांकि कई पीड़ितों ने सैमसंग की माफी को नाकाफी बताया है. अपनी बेटी को खोने वाले हवांग सैंग-गीन ने कहा कि हम इस माफी को स्वीकार नहीं करेंगे.

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop