मुख्य समाचार:
  1. PM मोदी बने ‘चैंपियंस आॅफ द अर्थ’, संयुक्त राष्ट्र ने पर्यावरण के क्षेत्र में दिया बड़ा अवार्ड

PM मोदी बने ‘चैंपियंस आॅफ द अर्थ’, संयुक्त राष्ट्र ने पर्यावरण के क्षेत्र में दिया बड़ा अवार्ड

पर्यावरण के क्षेत्र में बड़ा योगदान देने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी को संयुक्त राष्ट्र (UN) ने आज चैंपियंस ऑफ अर्थ के खिताब से सम्मानित किया.

October 3, 2018 12:58 PM
pm modi, narendra modi, PM मोदी, चैंपियंस आॅफ द अर्थ, UN award, संयुक्त राष्ट्र, मोदी को संयुक्त राष्ट्र का सम्मानपर्यावरण के क्षेत्र में बड़ा योगदान देने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी को संयुक्त राष्ट्र (UN) ने आज चैंपियंस ऑफ अर्थ के खिताब से सम्मानित किया. (BJP Twitter)

पर्यावरण के क्षेत्र में बड़ा योगदान देने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी को संयुक्त राष्ट्र (UN) ने आज चैंपियंस ऑफ अर्थ के खिताब से सम्मानित किया. राजधानी दिल्ली में हुए एक विशेष कार्यक्रम में यूएन चीफ एंटोनियो गुटेरेस ने प्रधानमंत्री को यह सम्मान दिया. कुछ दिनों पहले ही UN की ओर से इस अवॉर्ड से ऐलान किया गया था. पीएम मोदी के अलावा ये अवॉर्ड फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैंक्रो को भी दिया गया है.

भारत दिखा रहा है दुनिया को राह

यूएन चीफ एंटोनियो गुटेरेस ने कार्यक्रम में कहा कि मोदी ने जो कदम उठाया है, वह दुनिया को राह दिखा रहा है. पेरिस समझौता दुनिया के लिए जरूरी है, लेकिन कुछ देश उसे पूरा नहीं कर रहे हैं. ऐसे में मोदी की अगुवाई में भारत इसमें लीड कर रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 2022 तक प्लास्टिक का इस्तेमाल पूरी तरह खत्म करने की शपथ के लिए यह सम्मान दिया गया है.

मोदी ने क्या कहा

नरेंद्र मोदी ने इस मौके पर कहा कि यह अवार्ड मेरे लिए गर्व की बात है. यह करोड़ों भारतीयों के भी अथक परिश्रम का परिणाम है. उन्होंने कहा कि पर्यावरण के प्रति भारत की संवेदना को आज दुनिया स्वीकार कर रही है. यह भारत के मछुआरों के लिए सम्मान है जो जमीन और समंदर से उतना ही लेते हैं, जितनी जरूरत होती है. वहीं, संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने कहा कि पीएम मोदी ने स्वीकार किया कि जलवायु परिर्वतन से हमें सीधे तौर पर खतरा है. वह जानते हैं कि इस आपदा से बचने के लिए हमें किस चीज की जरूरत है.

सस्ती हुई सौर ऊर्जा

इस दौरान विदेश मंत्री सुषमा स्वराज भी उपस्थित थीं. उन्होंने कहा कि जब पेरिस समझौते से कुछ विकसित देशों ने बाहर निकलने की बात की, तब पीएम मोदी ने कहा था कि भारत ने पेरिस समझौते पर हस्ताक्षर किसी दबाव में नहीं किया था. सुषमा ने कहा कि पीएम मोदी के विजन की वजह से ही 17.19 पैसे वाली ऊर्जा (सौर ऊर्जा) आज आम आदमी को 2 रुपये प्रति यूनिट के हिसाब से मिल रही है.

source: BJP Twitter

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop