मुख्य समाचार:
  1. चीन के कर्ज जाल से डरा पाकिस्तान, सिल्क रोड प्रोजेक्ट की लागत 200 करोड़ डॉलर घटाई, कमजोर इकोनॉमी बनी वजह

चीन के कर्ज जाल से डरा पाकिस्तान, सिल्क रोड प्रोजेक्ट की लागत 200 करोड़ डॉलर घटाई, कमजोर इकोनॉमी बनी वजह

CPEC पाकिस्तान के लिए बहुत महत्वपूर्ण, लेकिन इकोनॉमी पर कर्ज का बोझ बढ़ाया नहीं जा सकता- पाकिस्तानी रेल मंत्री

October 2, 2018 6:50 PM
Pakistan government slashes cost of CPEC rail project by billionपाकिस्तान सरकार प्रोजेक्ट की लागत 820 करोड़ डॉलर से घटाकर 620 करोड़ डॉलर करने जा रही है. (Reuters)

पाकिस्तानी अखबार डॉन की एक रिपोर्ट के मुताबिक, सोमवार को पाकिस्तान के रेल मंत्री शेख रशीद ने घोषणा की कि इमरान खान की अगुवाई वाली नई पाकिस्तान सरकार चीन-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर CPEC के तहत पाकिस्तान रेलवे पीआर प्रोजेक्ट्स सिल्क रोड प्रोजेक्ट की लागत 820 करोड़ डॉलर से घटाकर 620 करोड़ डॉलर करने जा रही है.

क्या है सिल्क रोड प्रोजेक्ट

बता दें कि चीन के सीपीईसी प्रोजेक्ट के तहत पाकिस्तान में इंफ्रास्ट्रक्चर को बेहतर बनाने के लिए बेल्ट एंड रोड इनीशिएटिव प्रोजेक्ट्स तय हैं. इन्हीं प्रोजेक्ट्स में कराची और पेशावर के बीच की रेल लाइन, स्टेशनों का अपग्रेडेशन आदि भी शामिल है. इसे ही सिल्क रोड प्रोजेक्ट कहा जाता है.

मंत्री ने आगे कहा कि आगे हम इस प्रोजेक्ट की लागत घटाकर 420 करोड़ डॉलर करने की कोशिश करेंगे. सीपीईसी पाकिस्तान के लिए बहुत महत्वपूर्ण है लेकिन पाकिस्तानी इकोनॉमी पर कर्ज का बोझ बढ़ाया नहीं जा सकता.

BRI पर चीन करेगा 600 करोड़ डॉलर का इन्वेस्टमेंट

BRI प्रोजेक्ट्स में चीन द्वारा 600 करोड़ डॉलर का इन्वेस्टमेंट किया जाना है. लेकिन अब नई पाकिस्तानी सरकार इस इन्वेस्टमेंट को लेकर थोड़ी डरी हुई है और इसीलिए बीआरआई प्रोजेक्ट्स पर फिर से विचार कर रही है.

नई सरकार कर रही कर्ज कम रखने की कोशिश

इमरान खान की अगुवाई वाली पाकिस्तान की नई सरकार के सत्ता में आने के बाद प्रतिरोध बढ़ा है. यह सरकार देश पर बढ़ रहे कर्ज के खिलाफ आवाज उठाते रही है. उनका कहना है कि देश को विदेशी कर्जों से दूर रहना चाहिए. पाकिस्तान के योजना मंत्री खुशरो बख्तियार ने हाल ही में बयान दिया था कि ‘हम एक ऐसा मॉडल विकसित करना चाहते हैं, जिसमें सारे जोखिम पाकिस्तान पर ही ना हों.

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop