मुख्य समाचार:

आर्थिक मोर्चे पर पाकिस्तान की राह चुनौतियों भरी, IMF ने चेताया

पाकिस्तान के पास आठ अरब डॉलर से भी कम का विदेशी मुद्रा भंडार है जो उसके मात्र 1.7 महीने का आयात करने के लिए काफी है.

July 10, 2019 3:48 PM
pakistan economy declining says imfयह 1980 के बाद से अब तक पाकिस्तान को दिया गया 13वां राहत पैकेज है.

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) का कहना है कि कमजोर और असंतुलित वृद्धि के चलते पाकिस्तान ‘कड़ी आर्थिक चुनौतियों’ का सामना कर रहा है. उसकी अर्थव्यवस्था ऐसे अहम मोड़ पर आकर खड़ी हो गई है जहां उसे महत्वाकांक्षी और मजबूत सुधारों की जरूरत है. नकदी संकट से जूझ रहे पाकिस्तान ने अगस्त 2018 में IMF से राहत पैकेज देने के लिए संपर्क किया था. पाकिस्तान के पास आठ अरब डॉलर से भी कम का विदेशी मुद्रा भंडार है जो उसके मात्र 1.7 महीने का आयात करने के लिए काफी है.

पिछले हफ्ते IMF ने आधिकारिक तौर पर पाकिस्तान को छह अरब डॉलर का कर्ज देने की मंजूरी दे दी. इसमें से एक अरब डॉलर की राशि तत्काल पाकिस्तान को मुहैया करायी गयी. बाकी की राशि उसे तीन दिन के अंदर देना तय हुआ. यह 1980 के बाद से अब तक पाकिस्तान को दिया गया 13वां राहत पैकेज है.

रेवेन्यू के लिए टैक्स का दायरा बढ़ाने की जरूरत

IMF के एक्जिक्यूटिव बोर्ड के फर्स्ट डेप्युटी मैनेजिंग डायरेक्टर और एक्टिंग चेयर डेविट लिप्टन ने कहा, ‘‘पाकिस्तान बड़ी राजकोषीय और वित्तीय जरूरतों और कमजोर एवं असंतुलित वृद्धि के चलते कड़ी आर्थिक चुनौतियों का सामना कर रहा है. पब्लिक डेट को कम करने और लचीलापन लाने के लिए निर्णायक राजकोषीय एकीकरण सबसे अच्छा तरीका है और वित्त वर्ष 2020 का बजट इस दिशा में शुरुआती कदम उठाने के लिए महत्वपूर्ण है.’’

उन्होंने कहा कि राजकोषीय लक्ष्यों को पाने के लिए एक मल्टीईयर रेवेन्यु कलेक्शन रणनीति, टैक्स दायरा और टैक्स रेवेन्यू बढ़ाने की जरूरत है. ये सारे काम एक सटीक, संतुलित और न्यायसंगत तरीके से होने चाहिए.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. अंतरराष्ट्रीय
  3. आर्थिक मोर्चे पर पाकिस्तान की राह चुनौतियों भरी, IMF ने चेताया

Go to Top