मुख्य समाचार:

भारत दौरे से पहले शी जिनपिंग का पाकिस्तान को भरोसा, अटूट और चट्टान जैसी मजबूत है दोनों देशों की दोस्ती

शी ने बीजिंग में सरकारी अतिथिगृह में पाकिस्तानी PM इमरान खान से मुलाकात के दौरान यह टिप्पणी की.

October 9, 2019 9:02 PM
Pak-China friendship 'unbreakable and rock-solid': Xi Jinping assures Imran KhanImage: Reuters

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने बुधवार को प्रधानमंत्री इमरान खान को आश्वस्त किया कि अंतरराष्ट्रीय और क्षेत्रीय हालात में बदलाव आने के बावजूद चीन और पाकिस्तान की मित्रता अटूट और चट्टान जैसी मजबूत है. शी ने बीजिंग में सरकारी अतिथिगृह में खान से मुलाकात के दौरान यह टिप्पणी की. बता दें कि दो दिन बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से दूसरी अनौपचारिक शिखर वार्ता के लिए शी को भारत के लिए रवाना होना है. चेन्नई के निकट मामल्लपुरम में यह वार्ता 11-12 अक्टूबर को होने वाली है.

सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने शी के हवाले से कहा कि नए दौर में साझा भविष्य वाला चीन-पाकिस्तान समुदाय स्थापित करने की खातिर वह पाकिस्तान के साथ मिलकर काम करने को तैयार हैं. शी ने चीन और पाकिस्तान को सदा के लिए एक रणनीतिक सहयोग वाला साथी बताया और कहा, ‘‘इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि अंतरराष्ट्रीय और क्षेत्रीय हालात में क्या बदलाव आ रहे हैं, चीन और पाकिस्तान के बीच की मित्रता हमेशा अटूट और चट्टान की तरह मजबूत है. चीन और पाकिस्तान के बीच हमेशा से जीवंत सहयोग बना रहा है.’’

इमरान खान पिछले वर्ष अगस्त माह में प्रधानमंत्री बने थे, उसके बाद से उनका यह तीसरा चीन दौरा है. उनका यह दौरा इस मायने में महत्वपूर्ण है कि राष्ट्रपति शी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अनौपचारिक शिखर वार्ता के लिए 11-12 अक्टूबर 2019 को भारत जा रहे हैं.

‘कश्मीर की स्थिति पर रखे हैं नजर’

बीजिंग इस्लामाबाद का पुराना सहयोगी है. उसने कश्मीर मुद्दे पर भी पाकिस्तान का समर्थन किया. कश्मीर मुद्दे पर शी ने इमरान खान से कहा कि चीन कश्मीर की स्थिति पर नजर रखे हुए है. उन्होंने उम्मीद जताई कि संबंधित पक्ष शांतिपूर्ण वार्ता के जरिए इस मामले को सुलझा सकते हैं. सरकारी ‘चाइना ग्लोबल टेलीविजन नेटवर्क’ (सीजीटीएन) ने कहा, ‘‘राष्ट्रपति शी ने भरोसा दिलाया कि चीन कश्मीर में हालात पर नजर रखे हुए है.’’ चैनल के अनुसार शी ने खान से कहा, ‘‘चीन पाकिस्तान के जायज हितों की रक्षा के लिए उसका समर्थन करता है और उम्मीद करता है कि संबंधित पक्ष शांतिपूर्ण वार्ता के जरिए विवाद सुलझा सकते हैं.’’ चैनल के अनुसार खान ने ‘‘(कश्मीर में) हालात को और खराब होने और नियंत्रण में बाहर होने से रोकने के लिए और प्रयास किए जाने की अपील की.’’

भारत सुना चुका है दो टूक

वहीं भारत ने अंतरराष्ट्रीय बिरादरी को स्पष्ट शब्दों में कह दिया है कि अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को खत्म करना और जम्मू-कश्मीर को प्रदत्त विशेष दर्जे को खत्म करना उसका आतंरिक मामला है. भारत ने यह कहा है कि कश्मीर एक द्विपक्षीय मुद्दा है और इसमें किसी भी तीसरे पक्ष की कोई भूमिका नहीं है.

पाकिस्तान को बेहतर बनाने में मदद करना चाहता है चीन

खान से मुलाकात के दौरान शी ने कहा कि पाकिस्तान को बेहतर बनाने और उसके तेज विकास में चीन वाकई मदद देना चाहता है. शिन्हुआ के मुताबिक, शी ने कहा कि चीन और पाकिस्तान में साझा समर्थन और सहायता की परंपरा है. जब चीन परेशानी में था, तब पाकिस्तान ने उसे नि:स्वार्थ सहायता दी. वहीं इस्लामाबाद में प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक खान ने कश्मीर मुद्दे पर शी और चीन की सरकार द्वारा उसूल के अनुरूप रुख अपनाने के लिए उनका शुक्रिया अदा किया. खान ने कहा कि चीन ने मुश्किल वक्त में पाकिस्तान का साथ दिया।

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. अंतरराष्ट्रीय
  3. भारत दौरे से पहले शी जिनपिंग का पाकिस्तान को भरोसा, अटूट और चट्टान जैसी मजबूत है दोनों देशों की दोस्ती

Go to Top