मुख्य समाचार:

प्रवासी भारतीय क्यों लगा रहे हैं देश में बन रहे मकानों में पैसा, रिपोर्ट में हुआ खुलासा

प्रवासी भारतीयों की रूचि रीयल एस्टेट मार्केट में बढ़ी

June 4, 2019 4:25 PM
NRI, Real Estate Market, Under Construction Property, Flat, प्रवासी भारतीय, रीयल एस्टेट मार्केट, Invest In Property, Invest In Realtyप्रवासी भारतीयों की रूचि रीयल एस्टेट मार्केट में बढ़ी

विदेश में रहने वाले भारतीयों की रूचि एक बार फिर देश के रीयल एस्टेट मार्केट में बढ़ने लगी है. वे एक बार फिर अंडरकंस्ट्रक्शन मकानों में निवेश करने लगे हैं. ऐसा रीयल एस्टेट क्षेत्र में नियमन के लिये रेरा कानून लागू होने की वजह से हो रहा है. रीयल्टी पोर्टल हाउसिंग एंड मकान डॉट कॉम के एक सर्वे में यह बात सामने आई है. बता दें कि देश में घर खरीदने वालों को बिल्डरों की चालबाजियों और परेशानियों से बचाने के लिये रीयल एस्टेट नियमन प्राधिकरण (रेरा) को लागू किया गया है.

GST घटने का भी असर

निर्माणाधीन परियोजनाओं के मामले में जीएसटी दर को 12 से घटाकर 5 प्रतिशत पर ला दिया गया है, जबकि सस्ती परियोजनाओं के मामले में इसे 8 से घटाकर 1 फीसदी कर दिया गया है. बता दें कि तैयार फ्लैट पर शून्य जीएसटी लागू है.

अध्ययन के मुताबिक इससे पहले रेडी-टु-मूव-इन यानी रहने के लिए तैयार और निर्माणाधीन परियोजनाओं के मामले तरजीह देने का अनुपात 67:33 था. यह अब सुधरकर 56:44 हो गया है.

प्रोजेकट देर होने से दूर हुए थे NRI

अध्ययन रिपोर्ट में कहा गया है कि परियोजनाओं के पूरा होने में लगातार देरी को देखते हुए निवेशक इनसे लगातार दूर होते चले गए थे. प्रवासी भारतीयों को खासतौर से निर्माणाधीन परियोजनायें काफी पसंद आती हैं, लेकिन देरी के कारण उनकी इसमें रुचि कम होती चली गई. अब रीयल एस्टेट क्षेत्र के लिये कानून बन जाने के बाद इस रुख में बदलाव आने लगा है.

इन देशों के भारतीय प्रॉपर्टी खरीदने में आगे

रीयल्टी पोर्टल हाउसिंग एंड मकान के अनुसार अमेरिका, यूएई, ब्रिटेन तथा सिंगापुर के प्रवासी भारतीयों की भारतीय रीयल एस्टेट बाजार में रुचि लगातार बढ़ रही है. कुल खरीदारों में इनका हिस्सा करीब 55 फीसदी है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. अंतरराष्ट्रीय
  3. प्रवासी भारतीय क्यों लगा रहे हैं देश में बन रहे मकानों में पैसा, रिपोर्ट में हुआ खुलासा

Go to Top