मुख्य समाचार:
  1. NDA सरकार ने UPA से 20% सस्ता खरीदा राफेल जेट, कांग्रेस के आरोप झूठे: जेटली

NDA सरकार ने UPA से 20% सस्ता खरीदा राफेल जेट, कांग्रेस के आरोप झूठे: जेटली

जेटली ने कहा कि भारत को प्रत्येक एयरक्रॉफ्ट फुली लोडेड मिलेगा. यह डील दो देशों के बीच है, इसमें कोई तीसरा शामिल नहीं है. 

August 29, 2018 5:10 PM
Rafale jets, Finance Minister Arun Jaitley, Rafale jets deal latest news updates, NDA, UPA जेटली ने कहा कि भारत को प्रत्येक एयरक्रॉफ्ट फुली लोडेड मिलेगा. यह डील दो देशों (भारत और फ्रांस) के बीच है, इसमें कोई तीसरा शामिल नहीं है. (PTI)

राफेल डील पर विपक्षी दलों के आरोपों के जवाब में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि मौजूदा एनडीए सरकार ने यूपीए सरकार के मुकाबले 20 फीसदी सस्ती राफेल जेट डील की है. 2016 की डील के अनुसार, सरकार ने राफेल जेट की कीमतों को लेकर काफी सख्त बातचीत की, जिसके चलते 2007 में यूपीए के समय हुए समझौते की तुलना में प्रत्येक जेट की कीमत करीब 20 फीसदी तक कम हुई.

एएनआई को दिए इंटरव्यू में जेटली ने कहा कि भारत को प्रत्येक एयरक्रॉफ्ट फुली लोडेड मिलेगा. यह डील दो देशों (भारत और फ्रांस) के बीच है, इसमें कोई तीसरा शामिल नहीं है. उन्होंने कहा, क्या आप बेसिक एयरक्रॉफ्ट के कीमत की तुलना एक लोडेड एयरक्रॉफ्ट से कर सकते हैं? क्या आप एक सामान्य एयरक्रॉफ्ट की तुलना एक हथियारों से लैस एयरक्रॉफ्ट से कर सकते हैं? यदि 2012 में समझौता हो गया होता तो 2017 में राफेल की पहली खेप मिल गई होती.

जेटली ने कहा, ”अब प्राइसिंग की बात करते हैं. मेरा सवाल है कि यदि आप पूरी तरह जानते हैं, एंटनी ने पूरी फाइल पढ़ी और सौदे को छोड़ दिया. उन्हें अपनी पार्टी को बताया कि 2007के L1 आॅफर में बेसिक 2007 की कीमत और मूल्य वृद्धि साथ में करंसी में बदलाव का इम्पैक्ट शामिल था. 2015 में वह 2016 में हुई डील से प्रति एयरक्रॉफ्ट 9 फीसदी अधिक कीमत होती. लोडेड से अनलोडेड की कीमत की फिर तुलना करें, तो 2016 में यह कीमत 2007 के मुकाबले 20 फीसदी कम है.

कांग्रेस के आरोप झूठे: जेटली

जेटली ने कहा कि राफेल सौदे पर कांग्रेस के आरोप पूरी तरह गलत हैं. जेटली ने एक ब्लॉगपोस्ट में कांग्रेस पर इस सौदे में करीब एक दशक की देरी का आरोप लगाया, जिससे राष्ट्रीय सुरक्षा पर गंभीर असर पड़ा. उन्होंने आरोप लगाया कि वे रक्षा खरीद में और देरी के लिए मुद्दों को उठा रहे हैं, ताकि भारत की रक्षा तैयारी को और जूझना पड़े.

मोदी सरकार के खिलाफ झूठा अभियान

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने लड़ाकू विमानों के लिए अधिक राशि भुगतान करने, एक उद्योगपति का पक्ष लेने और सार्वजनिक क्षेत्र के हितों के साथ समझौता करने को लेकर मोदी सरकार के खिलाफ झूठा अभियान चला रखा है. जेटली ने कहा, “ये सभी मुद्दे केवल और केवल झूठ पर आधारित हैं. राष्ट्रीय राजनीतिक दलों और उनके जिम्मेदार राजनेताओं से इस प्रकार की उम्मीद की जाती है कि वे रक्षा लेनदेन पर जनता के बीच जाने से पहले तथ्यों की जांच कर लें.”

राहुल गांधी राफेल की 4 कीमत बता चुके हैं

उन्होंने कहा, “कैसे गांधी ने अप्रैल व मई में दिल्ली और कर्नाटक में प्रत्येक विमान की कीमत 700 करोड़ रुपये बताई थी? संसद में उन्होंने कीमत घटाकर 520 करोड़ प्रति विमान कर दी, रायपुर में उन्होंने इसे बढ़ाकर 540 करोड़ रुपये कर दिया. जयपुर में उन्होंने एक ही भाषण में 520 और 540 करोड़ रुपये कीमत बताया था.” उन्होंने पूछा, “सच का केवल एक रूप होता है और झूठ के कई. क्या ये आरोप राफेल की खरीद से जुड़े तथ्यों की जांच किए बिना लगाए गए हैं?”

(इनपुट: आईएएनएस)

Go to Top