scorecardresearch

JP Morgan Predictions: अमेरिका में अगले साल दिखेगा ‘माइल्ड रिसेशन’, मार्च तक और 1% बढ़ेगी ब्याज दर, 2024 के मध्य तक खत्म होंगी 10 लाख नौकरियां

जेपी मॉर्गन के मुताबिक यूएस फेड दिसंबर में ब्याज दर 50 बेसिस प्वाइंट बढ़ा सकता है और 2023 के पूरे साल के दौरान अमेरिका की जीडीपी में 1% गिरावट आ सकती है.

JP Morgan Predictions: अमेरिका में अगले साल दिखेगा ‘माइल्ड रिसेशन’, मार्च तक और 1% बढ़ेगी ब्याज दर, 2024 के मध्य तक खत्म होंगी 10 लाख नौकरियां
जेपी मॉर्गन का अनुमान है कि यूएस फेडरल रिजर्व दिसंबर में ब्याज दरों में 50 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी कर सकता है. इसके बाद फरवरी और मार्च में भी 25-25 बेसिस प्वाइंट्स की बढ़ोतरी की जाएगी. (Reuters File Photo)

JP Morgan Predicts a Mild US Recession in 2023: अमेरिका में अगले साल की दूसरी छमाही तक माइल्ड रिसेशन (mild recession) यानी हल्की मंदी नजर आने लगेगी. इसके साथ ही यूएस फेडरल रिजर्व महंगाई पर काबू पाने के लिए ब्याज दरें बढ़ाने की अपनी मौजूदा पॉलिसी को आगे भी जारी रखेगा. अमेरिकी अर्थव्यवस्था के बारे में ये अनुमान ग्लोबल इनवेस्टमेंट बैंकिंग और फाइनेंशियल सर्विस कंपनी जेपी मॉर्गन (JPM) ने जाहिर किए हैं. जेपीएम का मानना है कि एक बार महंगाई दर के काबू में आने के बाद यूएस फेड को ब्याज दरों में बढ़ोतरी की पॉलिसी में बदलाव करके उनमें धीरे-धीरे कटौती करने का रास्ता अपनाना पड़ेगा, लेकिन यह स्थिति 2024 की दूसरी तिमाही से पहले आने के आसार नहीं हैं. उससे पहले यानी 2024 के मध्य तक अमेरिका में मंदी के कारण 10 लाख नौकरियां जाने की आशंका भी जेपी मॉर्गन ने जाहिर की है.

दिसंबर में 50 बेसिस प्वाइंट बढ़ सकती है ब्याज दर

जेपी मॉर्गन का अनुमान है कि यूएस फेडरल रिजर्व दिसंबर में ब्याज दरों में 50 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी कर सकता है. इसके बाद फरवरी और मार्च में भी 25-25 बेसिस प्वाइंट्स की बढ़ोतरी की जाएगी. इस तरह मार्च तक ब्याज दरों में कुल 100 बेसिस प्वाइंट या 1 फीसदी का इजाफा हो जाएगा. 2022 में यूएस फेड अब तक ब्याज दरों में 300 बेसिस प्वाइंट यानी 3 फीसदी का इजाफा कर चुका है. जेपी मॉर्गन के मुताबिक अगले साल की चौथी तिमाही तक अमेरिका की इकॉनमी में 0.5 फीसदी की गिरावट देखने को मिलेगी और मंदी का यह दौर 2024 तक जारी रहने की आशंका से भी इनकार नहीं किया जा सकता. साथ ही 2023 के पूरे साल के दौरान अमेरिका के ग्रॉस डोमेस्टिक प्रोडक्ट (GDP) में करीब 1 फीसदी की गिरावट आ सकती है. यह आंकड़ा जेपी मॉर्गन के 2022 के लिए घोषित अनुमान के मुकाबले लगभग आधा है.

SCSS vs FD: फिक्स्ड डिपॉजिट पर बेहतर रिटर्न की है तलाश? इन बैंकों में मिल रहा सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम से भी ज्यादा ब्याज

2023 में 4.1% तक आ जाएगी महंगाई दर

अमेरिका के प्रमुख वित्तीय संस्थान ने अगले साल के अंत तक अमेरिका में इंफ्लेशन कम होने की उम्मीद भी जाहिर की है. जेपी मॉर्गन का अनुमान है कि 2023 के अंत तक अमेरिका में कंज्यूमर प्राइस पर आधारित महंगाई दर 4.1 फीसदी के आसपास रहेगी. अक्टूबर में यह आंकड़ा 7.7 फीसदी रहा है. अगले साल पर्सनल कंजंप्शन एक्सपेंडीचर (Personal consumption expenditure) 3.4 फीसदी की दर से बढ़ने की उम्मीद है. यूएस फेड महंगाई दर से जुड़ी अपनी नीतियों के निर्धारण में इसे काफी अहमियत देता है.

Meta India की नई चीफ होंगी संध्या देवनाथन, 1 जनवरी 2023 को संभालेंगी पदभार

2024 तक अमेरिका में 10 लाख नौकरियां खत्म होने की आशंका

जेपी मॉर्गन का मानना है कि ब्याज दरों में लगातार बढ़ोतरी का असर अमेरिकी अर्थव्यवस्था पर भी पड़ेगा, जिसके चलते 2024 के मध्य तक 10 लाख से ज्यादा नौकरियां खत्म हो जाने की आशंका है. जेपीएम को लगता है कि ऐसे हालात बनने पर फेडरल रिजर्व को 2024 की दूसरी तिमाही से अपने रुख में बदलाव करना पड़ेगा और वो ब्याज दरों में कटौती की शुरुआत कर देगा. जेपी मॉर्गन का अनुमान है कि इन हालात में यूएस फेड हरेक तिमाही के दौरान ब्याज दरों में करीब 50 बेसिस प्वाइंट की कटौती करना शुरू करेगा.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

First published on: 17-11-2022 at 06:41:24 pm

TRENDING NOW

Business News