मुख्य समाचार:

ड्रैगन का धोखा: पैंपोग झील के पास फिर भिड़े भारत और चीन के सैनिक, 29-30 अगस्त आधी रात की घटना

India-China Face-Off: चीनी सैनिकों ने भारतीय सीमा में घुसपैठ की कोशिश की, जिसके चलते 29-30 अगस्‍त की रात को पूर्वी लद्दाख में फिर झड़प हुई.

Updated: Aug 31, 2020 1:10 PM
India and China Face-Off, indian and chinese troops clash, Indian troops, military movements, China PLA, Pangong Tso lake area, Army, Ladakh incident, On night of August 29/30, Chinese troops violated previous consensus, military and diplomatic engagementsIndia-China Face-Off: चीनी सैनिकों ने भारतीय सीमा में घुसपैठ की कोशिश की, जिसके चलते 29-30 अगस्‍त की रात को पूर्वी लद्दाख में फिर झड़प हुई.

India-China Face-Off: सीमा विवाद और इसे लेकर लगातार बातचीत के बाद चीनी सैनिकों ने फिर भारतीय सीमा में घुसपैठ की कोशिश की है. जिसके चलते 29-30 अगस्‍त की रात को भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में फिर झड़प हुई. पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के सैनिकों ने पहले से बनी सहमति का उल्लंघन करते हुए पूर्वी लद्दाख में घुसपैठ की कोशिश की, जिसके बाद भारतीय सेना ने पैंगों और पैंगोंग झील एरिया में चीनी सैनिकों को घुसने से रोका. बता दें कि 15 जून की रात को गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प के बाद चीन बॉर्डर पर हुई यह दूसरी बड़ी घटना है. हालांकि इसमें अभी तक नुकसान की कोई खबर नहीं है.

चीनी सेना को पीछे खदेड़ा

सरकार की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार भारतीय सेना ने पैंगों और पैंगोंग झील एरिया में चीनी सैनिकों को घुसने से रोका. लेकिन चीनी सैनिकों ने जबरदस्ती की तो भारतीय सैनिकों को उन्हें जबरन रोकने के लिए मजबूर होना पड़ा. जिसके बाद दोनों देशों के सैनिकों के बीच झड़प हो गई. भारतीय सेना ने न सिर्फ चीनी सैनिकों को रोका, बल्कि उन्हें पीछे हटने को मजबूर किया.

भारतीय सेना की सिथति मजबूत

पीआईबी के अनुसार, चीनी सेना ने जिस जगह से सीमा के अंदर घुसपैठ करने की कोशिश की थी उस जगह पर भारतीय सेना ने अपनी स्थिति मजबूत कर ली है. सेना के पीआरओ कर्नल अमन आनंद की ओर से जारी बयान में कहा गया कि भारतीय सेना बातचीत के जरिए शांति स्‍थापित करना चाहती है लेकिन अपने देश की रक्षा के लिए भी उतनी ही संकल्‍पबद्ध है.

दोनों देशों में बातचीत जारी

बता दें कि चुशूल सेक्‍टर में दोनों देशों के बीच बात चीत जारी है, जिससे मसले को हल किया जा सके. पैगोंग का दक्षिणी किनारा आमतौर पर चुशूल सेक्टर के नाम से जाना जाता है. मई में जब से यह तनाव शुरू हुआ है, तब से इस इलाके में सैनिकों की मौजूदगी खासी बढ़ गई है.
बता दें कि कई दौर की बातचीत के बावजूद, पूर्वी लद्दाख में तनाव कम नहीं हो रहा है. भारतीय सेना का कहना है कि चीन को अप्रैल से पहले वाली स्थिति बहाल करनी चाहिए.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. अंतरराष्ट्रीय
  3. ड्रैगन का धोखा: पैंपोग झील के पास फिर भिड़े भारत और चीन के सैनिक, 29-30 अगस्त आधी रात की घटना

Go to Top