मुख्य समाचार:
  1. घर पैसे भेजने में सबसे आगे हैं हिंदुस्तानी, 1 साल में विदेशों से भेज दिए 5.50 लाख करोड़

घर पैसे भेजने में सबसे आगे हैं हिंदुस्तानी, 1 साल में विदेशों से भेज दिए 5.50 लाख करोड़

Remittance: विदेश से पैसे भेजने के मामले में भारतीय सबसे आगे

April 9, 2019 12:46 PM
Remittance, रेमिटेंस, India Tops Global List, विदेश से पैसे भेजने में भारतीय, World Bank Report, Remittance ReportRemittance: विदेश से पैसे भेजने के मामले में भारतीय सबसे आगे

Remittance: विदेश से अपने देश में पैसे भेजने के मामले में भारतीय एक बार फिर सबसे आगे रहे हैं. 2018 में प्रवासी भारतीयों ने 79 अरब डॉलर यानी करीब 5.50 लाख करोड़ रुपये अपने घर भेजे हें. विश्वबैंक ने सोमवार को जारी अपनी रिपोर्ट में यह बात कही. विश्वबैंक की रिपोर्ट माइग्रेशन एंड डेवलपमेंट ब्रीफ के अनुसार इस मामले में भारत के बाद चीन का नंबर आता है.

घर पैसे भेजने में ये हैं टॉप 5

देश                              रेमिटेंस

भारत                           5.50 लाख करोड़
चीन                            4.65 लाख करोड़
मैक्सिको                     2.50 लाख करोड़
फिलिपीन                    2.36 लाख करोड़
इजिप्ट                        2.01 लाख करोड़

Remittance: 3 साल से हो रही है बढ़ोत्तरी

पिछले 3 साल में विदेश से भारत को भेजे गए पैसों में लगातार बढ़ोत्तरी हुई है. यह 2016 में 6270 करोड़ डॉलर से बढ़कर 2017 में 6530 करोड़ डॉलर हो गया था. विश्वबैंक ने कहा कि भारत को भेजे गए धन में 14 फीसदी से अधिक की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है. माना जा रहा है कि केरल में आई बाढ़ के चलते प्रवासी भारतीयों द्वारा अपने परिवारों को ज्यादा आर्थिक मदद भेजी गई.

विकासशील देशों का हाल

रिपोर्ट के मुताबिक, विकासशील देशों (कम और मध्यम आय वाले देश) को भेजा गया धन 2018 में 9.6 फीसदी बढ़कर 52900 करोड़ डॉलर के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है. यह 2017 में 48300 करोड़ डॉलर पर था. बैंक ने कहा कि दक्षिण एशिया में भेजी गई रकम 12 फीसदी बढ़कर 13100 करोड़ डॉलर हो गई.

दुनियाभर का हाल

दुनिया भर के देशों में भेजा जाने वाला धन 2018 में 68900 करोड़ डॉलर पर पहुंच गया. 2017 में यह 63300 करोड़ डॉलर पर था. इसमें विकसित देशों में उनके नागरिकों द्वारा भेजा जाने वाला पैसा भी शामिल है. अमेरिका में आर्थिक परिस्थितियों में मजबूती और तेल की कीमतों में तेजी के चलते इसमें बढ़ोत्तरी हुई.

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop