मुख्य समाचार:

ईरान से रुपये में तेल खरीद कर सकता है भारत, डॉलर में पेमेंट पर US प्रतिबंध होगा वजह

यूको बैंक या IDBI बैंक बन सकती हैं माध्यम

September 20, 2018 7:48 PM
India to pay in rupees for Iranian oilयह प्रतिबंध 4 नवंबर से होगा लागू (PTI)

भारत, ईरान से लिए जाने वाले तेल के लिए आगे रुपये में भुगतान कर सकता है. इसकी वजह ऐसे कारोबारों के लिए डॉलर में भुगतान किए जाने को लेकर अमेरिका द्वारा लगाया गया प्रतिबंध है. यह प्रतिबंध 4 नवंबर से लागू होगा.

एक शीर्ष अधिकारी से मिली जानकारी के मुताबिक, इंडियन आॅयल कॉर्पोरेशन (IOC) और मंगलौर रिफाइनरी एंड पेट्रोकेमिकल्स लिमिटेड (MRPL) जैसी सरकारी तेल रिफाइनरियों द्वारा ईरान को तेल के पेमेंट के लिए यूको बैंक या आईडीबीआई बैंक को जरिया बनाया जा सकता है.

सितंबर-अक्टूबर के लिए बुक हो गया है माल

अधिकारी के मुताबिक, रिफाइनरीज ने सितंबर और अक्टूबर के लिए ईरान से कार्गो बुक कर लिए हैं. सितंबर माह की तेल खरीद का भुगतान नवंबर में किया जाएगा क्योंकि ईरान भुगतान के लिए 60 दिनों की मोहलत उपलब्ध कराता है.

इस वित्त वर्ष ईरान से 2.5 करोड़ टन क्रूड तेल खरीदने का है प्लान

भारत ने मौजूदा वित्त वर्ष में ईरान से लगभग 2.5 करोड़ टन क्रूड तेल इंपोर्ट करने की योजना बनाई है. 2017-18 में भारत ने ईरान से 2.26 करोड़ टन तेल इंपोर्ट किया था. हालांकि वास्तविक इंपोर्ट का आंकड़ा इससे कम भी हो सकता है क्योंकि रिलायंस इंडस्ट्रीज जैसी कंपनियों ने ईरान से तेल की खरीद पूरी तरह बंद कर दी है. वहीं अन्य कंपनियां भी इंपोर्ट को घटा रही हैं.

कुछ प्रतिबंध 6 अगस्त से हो चुके हैं लागू

बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मई में ईरान के साथ 2015 से चालू परमाणु अनुबंध रद्द कर दिया था. साथ ही उस पर फिर से आर्थिक प्रतिबंध लगा दिए थे. इनमें से कुछ प्रतिबंध 6 अगस्त से लागू हो गए, वहीं तेल और बैंकिंग सेक्टर को प्रभावित करने वाले प्रतिबंध 4 नवंबर से लागू होंगे.

अभी यूरो में होता है भुगतान

अधिकारी ने यह भी बताया कि ईरान रुपये में पेमेंट लेने के लिए राजी है और इसका इस्तेमाल भारत से इक्विपमेंट्स और फूड आइटम्स खरीदने के लिए कर सकता है. अभी भारत ईरान को यूरोपीय बैंकिंग माध्यम के जरिए यूरो में भुगतान करता है. ये माध्यम भी नवंबर से ब्लॉक हो जांएगे.

ईरान, भारत के लिए तीसरा सबसे बड़ा तेल सप्लायर

ईराक और सऊदी अरब के बाद ईरान भारत के लिए तीसरा सबसे बड़ा तेल सप्लायर है. 2010-11 तक यह भारत का दूसरा सबसे बड़ा क्रूड तेल सप्लायर रहा लेकिन उसके बाद इसके संदिग्ध न्यूक्लियर प्रोग्राम को लेकर अमेरिका द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों के बाद यह अपने पायदान से खिसक गया.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. अंतरराष्ट्रीय
  3. ईरान से रुपये में तेल खरीद कर सकता है भारत, डॉलर में पेमेंट पर US प्रतिबंध होगा वजह

Go to Top