सर्वाधिक पढ़ी गईं

भारत में बनेगी अमेरिकी वैक्सीन की 100 करोड़ डोज, जापान की फंडिंग और ऑस्ट्रेलिया के लॉजिस्टिक्स सपोर्ट से खत्म होगा कोरोना

कोरोना महामारी को समाप्त करने के लिए अमेरिका, भारत ऑस्ट्रेलिया और जापान साथ आए हैं.

Updated: Mar 13, 2021 7:42 PM
India to make US vaccines with Japan funds Australia logistics quad vaccine decided by quad group in summit of pm modi us president joe biden Japan PM Yoshihide Suga Australian PM Scott Morrisonचार देशों के शीर्ष नेताओं ने मिलकर क्वाडिलैटरल ग्रुपिंग की पहली बैठक में Quad Vaccine इनीशिएटव का एलान किया है. (Image- PTI)

कोरोना महामारी को समाप्त करने के लिए अमेरिका, भारत ऑस्ट्रेलिया और जापान साथ आए हैं.चारों देशों के शीर्ष नेताओं ने मिलकर क्वाडिलैटरल ग्रुपिंग की पहली बैठक में Quad Vaccine इनीशिएटव का एलान किया है. इसके तहत भारत अमेरिकी वैक्सीन का निर्माण करेगा और इसके लिए फंडिंग जापान करेगा. वैक्सीन तैयार होने के बाद एशिया-प्रशांत क्षेत्र के देशों को आपूर्ति के लिए ऑस्ट्रेलिया के लॉजिस्टिकल सपोर्ट का प्रयोग किया जाएगा. योजना के तहत अगले साल 2020 के अंत तक करीब 100 करोड़ वैक्सीन डोज तैयार करने का लक्ष्य रखा गया है.
इसके अलावा तीन वर्किंग ग्रुप को भी लांच किया गया- क्वाड वैक्सीन एक्सपर्ट्स ग्रुप, क्वाड क्रिटिकल एंड इमर्जिंग टेक्नोलॉजी ग्रुप और क्वाड क्लाइमेट वर्किंग ग्रुप. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक ग्रुपिंग की पहली बैठक में भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन, जापान के प्रधानमंत्री योशिहिडे सुगा और ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मोरिसन ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए वार्ता की.

Corona Lockdown: महाराष्ट्र के औरंगाबाद में कंप्लीट लॉकडाउन, भोपाल-इंदौर में लग सकती है पाबंदी ; मास्क उतारा तो हवाई सफर बैन

2022 के अंत तक भारत में बनेगी 100 करोड़ वैक्सीन

चारों देशों ने अपने नागरिकों के लिए कोरोना वैक्सीन की उपलब्धता सुनिश्चित करते हुए दुनिया के अन्य देशों को भी वैक्सीन उपलब्ध कराने के लिए साथ मिलकर काम करने का फैसला किया. बैठक के बाद जारी फैक्टशीट के मुताबिक फाइनेंस करने के लिए बॉयोलॉजिकल ई लिमिटेड के साथ काम करेगा. बॉयोलॉजिकल ई लिमिटेड को अगले साल 2022 के अंत तक 100 करोड़ वैक्सीन तैयार करने की क्षमता के लिए फाइनेंस की जरूरत है. इसमें जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन भी तैयार की जाएगी. वैक्सीन सख्त रेगुलेटरी ऑथराइजेशन या/और डब्ल्यूएचओ के इमरजेंसी यूज लिस्टिंग (ईयूएल) के मुताबिक तैयार की जाएगी. विदेश सचिव हर्ष वर्धन सिंगला के मुताबिक वर्चुअल मीटिंग में फैसला किया गया कि भारत की मैनुफैक्चरिंग कैपेसिटी अमेरिकी वैक्सीन के उत्पादन को बढ़ाने में बहुत मददगार साबित हो सकती है.

पेरिस समझौते को लेकर बनेगा क्वाड क्लाइमेट वर्किंग ग्रुप

बैठक में क्वाड देशों और एशिया-प्रशांत क्षेत्र में क्लाइमेंट चैलेंज को प्रॉयोरिटी पर रखा गया. इसके लिए एक क्वाड क्लाइमेंट वर्किंग ग्रुप बनाया जाएगा. यह ग्रुप क्वाड देशों और अन्य देशों के साथ मिलकर पेरिस समझौते की बातों को लागू करवाने में सहयोग करेगा. बता दें कि बाइडेन प्रशासन के लिए जलवायु परिवर्तन का मुद्दा टॉप प्रॉयोरिटी में है. यह ग्रुप कम उत्सर्जन वाली तकनीक को बढ़ावा देने के लिए काम करेगा.

तकनीकी को लेकर मिलकर करेंगे काम

बैठक में शामिल क्वाड नेताओं ने एशिया-प्रशांत क्षेत्र के लिए ऐसी तकनीक की जरूरत महसूस की जो आपसी इंटेरेस्ट्स और वैल्यूज के मुताबिक हो. इसके लिए एक क्रिटिकल व इमर्जिंग टेक्नोलॉजी वर्किंग ग्रुप का गठन किया जाएगा. यह ग्रुप टेक्नोलॉजी डिजाइन और डेवलपमेंट को लेकर नियम बनाएगा. चारों देशों ने टेलीकम्युनिकेशंस डिप्लॉयमेंट की तैनाती, एक्विपमेंट सप्लायर्स के डाइवर्सिफिकेशन और फ्यूचर टेलीकम्यूनिकेशंस को लेकर आपसी सहयोग बढ़ाने की बात कही. इसमें निजी सेक्टर्स और इंडस्ट्री को भी शामिल किया जाएगा.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. अंतरराष्ट्रीय
  3. भारत में बनेगी अमेरिकी वैक्सीन की 100 करोड़ डोज, जापान की फंडिंग और ऑस्ट्रेलिया के लॉजिस्टिक्स सपोर्ट से खत्म होगा कोरोना

Go to Top