मुख्य समाचार:

चीन का धोखा: गलवान की हिंसक झड़प में 20 सैनिक शहीद, जानें लद्दाख में क्या-क्या हुआ

लद्दाख के गलवान घाटी में सोमवार देर रात भारत और चीन की सेना के बीच हिंसक झड़प हुई. इसमें भारत के 20 जवानों के शहीद होने की खबर है.

Updated: Jun 17, 2020 11:08 AM
India China border face-off, Galwan Valley, 20 Indian soldiers were killed in a face-off on 15 june, galwan Valley face-Off full updates, know what happen in ladakh between, indian and chinese soldiers clash, Indo China Borderलद्दाख के गलवान घाटी में सोमवार देर रात भारत और चीन की सेना के बीच हिंसक झड़प हुई. इसमें भारत के 20 जवानों के शहीद होने की खबर है.

चीन ने करीब 45 साल बाद एक बार फिर भारत को बड़ा धोखा दिया है. लद्दाख के गलवान घाटी में सोमवार देर रात भारत और चीन की सेना के बीच हिंसक झड़प हुई. इसमें भारत के 20 जवानों के शहीद होने की खबर है. कई घायल भी है. जानकारी के मुताबिक चीन की ओर से भी करीब 43 सैनि​कों के हताहत होने की खबर है, लेकिन इसकी पुष्टि अभी चीन की ओर से नहीं हुई है. चीन के सैनिकों द्वारा यह हमला त्थरों, लाठियों और धारदार हथियारों से किया गया. ​इस झगड़े की शुरुआत चीन की तरफ से हुई, जब बातचीत के बाद उसे पीछे हटाया जा रहा था. सोमवार को शाम से आधी रात तक यह सब कुछ चलता रहा.

ग्लोबल टाइम्स के एडिटर इन चीफ के ट्वीट के अनुसार, इस झड़प में चीन पक्ष को भी नुकसान हुआ है. झड़प के पहले सोमवार सुबह ब्रिगेड कमांडर लेवल के साथ लोकल कमांडर लेवल की मीटिंग हुई थी.

गैलवान घाटी में क्या हुआ था

शाम को भारतीय सेना के ऑफिसर टीम के साथ गलवान वैली में पीपी-14 पहुंचे, जहां से चीनी सैनिकों को पीछे हटना था. बताया जा रहा है कि उस दौरान चीनी सैनिकों की तादाद बहुत कम थी. लेकिन अचानक से ही वहां बड़ी संख्या में चीनी सैनिक आ गए. भारतीय अफसर और उनके 2 जवानों पर पत्थरों और लोहे की रॉड से हमला किया गसा. उसके बाद भारी संख्या में भारतीय सैनिक भी उस प्वॉइंट पर पहुंचे और आधी रात तक हिंसक झड़प चलती रही.

दोनों देशों ने एक दूसरे पर लगाए आरोप

गलवान घाटी में ये हिंसक झड़प भारतीय सेना सेना द्वारा चीनी टेंट हटाए जाने के बाद शुरू हुई थी. इस टेंट को कर्नल संतोष बाबू के नेतृत्व में सैनिकों ने हटाया था. लेकिन चीनी सैनिकों ने ये प्वॉइंट छोड़ने से इनकार कर दिया था. गैलवान घाटी में झड़प के बाद भारत ने कहा है कि इसके लिए चीन की सेना जिम्मेदार है. भारत का जिम्मेदार रवैया है. विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारत सारे काम LAC में अपनी सीमा के अंदर ही करता है. चीन द्वारा स्थिति बदलने की एकतरफा कोशिश करने पर हिंसक झड़प हुई है. इसमें दोनों पक्षों के लोगों की मौत हुई है, इससे बचा जा सकता था. वहीं, चीन ने अनुसार भारतीय सैनिकों ने सोमवार को 2 बार LAC पार की. चीनी सैनिकों पर हमला किया गया, जिसके बाद टकराव हुआ.

अमेरिका की भी नजर

अमेरिका के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता के अनुसार भारत और चीन दोनों देशों ने तनाव को कम करने की इच्छा जताई है. हम शांतिपूर्ण समाधान का समर्थन करते हैं. अमेरिका मौजूदा स्थिति पर बारीकी से नजर बनाए हुए हैं. हम भारत के शहीद 20 जवानों के परिवारों के प्रति संवेदनाएं जाहिर करते हैं. अमेरिका ने कहा कि वह हालात पर नजर बनाए हुए हैं. उम्मीद है कि इस मसले का हल शांतिपूर्ण तरीके और आपसी बातचीत से निकाला जाएगा.

कांग्रेस से PM पर साधा निशाना

इस घटना के बाद कांग्रेस ने सरकार पर निशाना साधा है. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इस हिंसक झड़प को लेकर पीएम मोदी पर निशाना साधा है. राहुल ने ट्वीट किया है कि पीएम चुप क्यों हैं, वह क्यों छिप रहे हैं. हम जानना चाहते हैं कि क्या हुआ है. चीन की हिम्मत कैसे हुई हमारे सैनिकों को मारने की. उनकी हिम्मत कैसे हुई हमारी जमीन लेने की. फिलहाल इस हिंसक झड़प के बाद सीमा पर हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं. भारतीय सेना की ओर से शहीद हुए 20 जवानों का नाम आज जारी किया जाएगा.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. अंतरराष्ट्रीय
  3. चीन का धोखा: गलवान की हिंसक झड़प में 20 सैनिक शहीद, जानें लद्दाख में क्या-क्या हुआ

Go to Top