मुख्य समाचार:

‘Twindemic’ Fear: वैज्ञानिकों के किया अलर्ट, सर्दियों में कोविड-19 महामारी के साथ सीजनल फ्लू का डबल अटैक

पब्लिक हेल्थ से जुड़े एक्सपर्ट्स के मुताबिक सर्दियों में कोविड-19 के साथ सीजनल फ्लू के डबल अटैक का सामना करना पड़ सकता है.

Updated: Aug 17, 2020 10:38 AM
Health Experts ​fearing a Twindemic situation, ​fearing a TwindemicCOVID-19, Seasonal Flu, winter season, flu shots, vaccine, flu, pressure on hospitals, fear of more cases of coronavirus in winter season, double attack of fluपब्लिक हेल्थ से जुड़े एक्सपर्ट्स के मुताबिक सर्दियों में कोविड-19 के साथ सीजनल फ्लू के डबल अटैक का सामना करना पड़ सकता है.

दुनियाभर में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़कर 2.15 लाख के पार चली गई है. वहीं कुछ देशों में इस महामारी की फिर वापसी हुई है. दक्षिण कोरिया और न्यूजीलैंड में कोरोना के नए मरीज आने के बाद से हड़कंप मचा हुआ है. इस बीच इससे भी बड़ा अलर्ट अमेरिकी विशेषज्ञों की ओर से आ रहा है. न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक पब्लिक हेल्थ से जुड़े एक्सपर्ट्स के मुताबिक सर्दियों में कोविड-19 के मामले तो बढ़ ही सकते हैं, इसके साथ ही सीजनल फ्लू भी झेलने के लिए लोग तैयार रहें. इस स्थिति को वौज्ञानिक ‘ट्विनडेमिक’ (twindemic) कह रहे हैं.

मरीजों को लेकर दबाव ज्यादा

विशेषज्ञों के मुताबिक अभी की बात करें तो अस्पतालों में कोविड-19 के मरीजों को लेकर दबाव बहुत ज्यादा है. ऐसे में हल्के फ्लू का मौसम अस्पतालों का बैलेंस पूरी तरह से बिगाड़ सकते हैं. उनका कहना है कि वैसे भी सर्दियों के मौसम में फ्लू आम बात है और अस्पतालों में बड़ी संख्या में मरीज पहुंचते हैं. लेकिन इस बार तो पहले से ही अस्पतालों के बेड फुल हैं. ऐसे में मरीजों की संख्या बढ़ी तो अस्पतालों के सामने बड़ी मुसीबत खड़ी हो सकती है.

एक और समस्या यह है कि कोविड-19 और सीजनल फ्लू के लक्षण भी ऐसे में सीजनल फ्लू होने की स्थिति में भी लोग डरेंगे और कोविड—19 की आशंका से अस्पताल पहुंचेंगे. ऐसे में अस्पतालों में भीड़ तो बढ़ेगी ही कन्फ्यूजन की स्थिति भी पैदा होने जा रही है. सीजनल फ्लू से बचने के लिए लोगों को ‘फ्लू शॉट’ दिए जाते थे, जो इस साल संभव नहीं है. इससे मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा होगा.

वैज्ञानिक ‘ट्विनडेमिक’ से परेशान

दुनिया भर के वैज्ञानिक इस ‘ट्विनडेमिक’ परेशान हैं. इस स्थिति के बारे में चिंता इतनी बड़ी है कि दुनिया भर के अधिकारी क्लीनिक और डॉक्टरों के कार्यालयों में उपलब्ध होने से पहले ही फ्लू शॉट पर जोर दे रहे हैं. अमेरिका के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) के डायरेक्टर रॉबर्ट रेडफील्ड के अनुसार हम बड़ी कंपनियों से कह रहे हैं कि वे ‘फ्लू शॉट’ देने के लिए अभियान चलाएं. कम से कम उनके कर्मचारियों को ये उपलब्ध कराएं. सीडीसी हर साल अस्पतालों को 5 लाख डोज देती रही है, लेकिन इस साल आशंकाओं के मद्देनजर 9.3 मिलियन फ्लू शॉट पहले ही ऑर्डर कर दिए गए हैं.

अमेरिकी कोरोना एक्सपर्ट डॉक्टर एंथनी फाउची ने भी लोगों को फ्लू शॉट लेने की सलाह दी है. उन्होंने कहा कि इसके जरिए आप एक ही वक़्त पर सांस से जुड़ी दो बीमारियों में से एक के खतरे से तो आजाद हो जाएंगे.

ब्रिटिश पीएम ने छेड़ा अभियान

ब्रिटेन में प्रधान मंत्री बोरिस जॉनसन अपने स्वयं के फ्लू-शॉट अभियान को शुरू कर रहे हैं. पिछले महीने, उन्होंने उन लोगों को लेबल किया जो फ्लू के टीके का विरोध करते थे और देश में शॉट्स के सबसे बड़े रोलआउट की घोषणा की. उन्होंने कहा कि यही रास्ता है जिससे महामारी के खिलाफ लड़ाई जारी रख सकते हैं. ऑस्ट्रेलिया ने देश के कई इलाकों में इस तरह के ‘फ्लू शॉट’ कैम्पेन की शुरुआत अप्रैल में ही कर दी थी. अमेरिका में बच्चों के लिए नर्सरी स्कूल में ही टीके की व्यवस्था होती है, लेकिन स्कूल बंद होने के चलते इस बार वैक्सीनेशन नहीं हो पाया.

सीडीसी के मुतबिक, अमेरिका में इस साल सीजनल फ्लू के 39 मिलियन से लेकर 56 मिलियन तक मामले सामने आ सकते हैं. करीब 7 लाख 40 हजार लोगों को अस्पताल की ज़रूरत पड़ सकती है, जबकि इससे 62 हजार तक मौतें भी हो सकती हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. अंतरराष्ट्रीय
  3. ‘Twindemic’ Fear: वैज्ञानिकों के किया अलर्ट, सर्दियों में कोविड-19 महामारी के साथ सीजनल फ्लू का डबल अटैक

Go to Top