सर्वाधिक पढ़ी गईं

कोरोना महामारी के बावजूद विदेशी निवेशकों ने किया भारत का रुख, 2020 में FDI 13% बढ़ा

बीते साल के दौरान भारत के डिजिटल सेक्टर में एफडीआई को तगड़ा बूस्ट मिला है. जबकि, यूके, यूएस, रूस में जबरदस्त गिरावट दर्ज की गई.

Updated: Jan 25, 2021 12:37 PM
Stressing the key role that a proposed development finance institution (DFI) will play in realising the government’s ambitious infrastructure creation goals, Bajaj said the DFI may have access to low-cost funds to keep its operations viable.Stressing the key role that a proposed development finance institution (DFI) will play in realising the government’s ambitious infrastructure creation goals, Bajaj said the DFI may have access to low-cost funds to keep its operations viable.

कोरोना महामारी (COVID-19 Pandemic) में विदेशी निवेशकों का भरोसा जहां विकसित अर्थव्यवस्थाओं को लेकर डगमगाया हुआ था, वहीं भारत का बाजार फेवरेट बना हुआ था. 2020 के दौरान भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) में 13 फीसदी का इजाफा हुआ है. जबकि, इस दौरान UK, US, और रूस जैसी बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में FDI इनफ्लो में तगड़ी ​गिरावट दर्ज की गई थी. खास बात यह है कि भारत में एफडीआई इनफ्लो को डिजिटल सेक्टर का जोरदार डोज मिला. भारत के साथ-साथ चीन में एफडीआई इनफ्लो का सकारात्मक रूख रहा. यूनाइटेड नेशंस (UN) की रिपोर्ट में यह जानकारी सामने आई है.

यूनाइटेड नेशंस कॉन्फ्रेंस आन ट्रेड एंड डेवलपमेंट (UNCTAD) की जारी ‘इन्वेस्टमेंट ट्रेंड्स मॉनिटर’ रिपोर्ट का कहना है कि ग्लोबल विदेशी प्रत्यक्ष निवेश (FDI) 2020 में 42 फीसदी की जोरदार गिरावट दर्ज की गई. अनुमान के मुताबिक 2019 के 1.5 लाख करोड़ डॉलर से गिरकर यह 859 अरब डॉलर रहा. इससे पहले 1990 में एफडीआई इनफ्लो में इस तरह की गिरावट आई थी. वहीं 2008-2009 की वैश्किव मंदी के समय भी एफडीआई इनफ्लो 30 फीसदी से अधिक घटा था. एफडीआई इनफ्लो में गिरावट विकसित देशों में देखा गया. जहां इनफ्लो 69 फीसदी गिरकर करीब 229 अरब डॉलर पर आ गया.

डिजिटल सेक्टर से भारत को मिला बूस्ट

कोविड महामारी के बीच डिजिटल सेक्टर में निवेश की बदौलत भारत में एफडीआई 13 फीसदी बढ़ा. रिपोर्ट के अनुसार, चीन में दुनिया का सर्वाधिक एफडीआई इनफ्लो हुआ. यह करीब 4 फीसदी बढ़कर 163 अरब डॉलर रहा. वहीं, भारत में यह ग्रोथ 13 फीसदी रही, जिसमें डिजिटल सेक्टर ने जोरदार बूस्ट दिया.

दूसरी ओर, तुलनात्मक रूप से देखें तो यूके, इटली, रूस, जर्मनी, ब्राजील और यूएस में कोरोना महामारी के बीच एफडीआई इनफ्लो घटा है. दक्षिण एशिया में एफडीआई 10 फीसदी बढ़कर 65 अरब डॉलर रहा. भारत का एफडीआई इनफ्लो 2020 में 57 अरब डॉलर रहा. रिपोर्ट में कहा गया है कि डिजिटल इकोनॉमी का इसमें अहम योगदान रहा.

मर्जर एंड एक्जीजिशन सेल्स 83% उछला

रिपोर्ट के अनुसार, क्रास बॉर्डर मर्जर एंड एक्वीजिशन (M&A) सेल्स 83 फीसदी उछलकर 27 अरब डॉलर पहुंच गया. सोशल नेटवर्क फेसबुक की तरफ से नई इकाई जाधू होल्डिंग्स एलएलसी के जरिए रिलायंस जियो में 9.9 फीसदी हिस्सेदारी का अधिग्रहण किया गया. इसी तरह की डील एनर्जी सेक्टर में हुई. इससे भारत में मर्जर एंड एक्वीजिशन वैल्यू में उछाल आया.
भारत के अलावा टर्की में भी इन्फॉर्मेशन कंसल्टिंग और डिजिटल सेक्टर्स में बड़ी संख्या में सौदे हुए. इनमें ईकॉमर्स प्लेटफॉर्म, डेटा प्रोसेसिंग सर्विसेज और डिजिटल पेमेंट्स शामिल हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. अंतरराष्ट्रीय
  3. कोरोना महामारी के बावजूद विदेशी निवेशकों ने किया भारत का रुख, 2020 में FDI 13% बढ़ा

Go to Top