सर्वाधिक पढ़ी गईं

Apple के नए प्राइवेसी नियमों से Facebook को परेशानी, क्या छोटे कारोबारियों को होगा नुकसान?

फेसबुक ने कई बड़े समाचार पत्रों में पूरे पेज का विज्ञापन प्रकाशित कराया है.

December 17, 2020 11:04 AM
Facebook criticised Apple new privacy policy in newspaper ads to limiting personalised adsएप्पल के नए प्राइवेसी नियमों के खिलाफ सोशल मीडिया की दिग्गज कंपनी फेसबुक ने विज्ञापन प्रकाशित कराया है.

एप्पल के नए प्राइवेसी नियमों के खिलाफ सोशल मीडिया की दिग्गज कंपनी फेसबुक ने विज्ञापन प्रकाशित कराया है. ये नियम फेसबुक को इतना नागवार गुजरे हैं कि उसने समाचार पत्रों में पूरे पेज का विज्ञापन प्रकाशित कराकर लोगों को बता रही है कि इससे छोटे कारोबारियों को बहुत नुकसान है. इस विज्ञापन में फेसबुक ने कहा कि वह छोटे कारोबारियों के साथ है जिन्हें एप्पल के नए प्राइवेसी नियमों से नुकसान हो सकता है. एप्पल ने अपने ग्राहकों को जल्द एक नया फीचर देने का ऐलान किया है जिसके तहत ऐड देने के लिए ऐप्स को यूजर की इजाजत लेनी होगी.

Facebook ने कई बड़े न्यूजपेपर में निकाले विज्ञापन

द न्यूयॉर्क टाइम्स, द वाल स्ट्रीट जनरल में प्रकाशित विज्ञापन में और अन्य अमेरिकी नेशनल न्यूजपेपर्स में फेसबुक ने शिकायत की है कि एप्पल के नए नियमों से पर्सनलाइज्ड एड देने में दिक्कते आएंगी और कंपनियां अपने ग्राहकों से प्रभावी तरीके से कनेक्ट नहीं हो पाएंगी. फेसबुक का कहना है कि पर्सनाइलज्ड ऐड को सीमित करने से न सिर्फ बड़ी कंपनियों को बल्कि छोटे कारोबारियों को भी समस्याएं होंगी. फेसबुक के इस आरोप पर एप्पल ने कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया.

यह भी पढ़ें- डाकघर की सेविंग्स स्कीम: अनहोनी होने पर कैसे किया जा सकता है क्लेम?

यह है Apple के रूल्स जिन पर फेसबुक चिंतित

एप्पल ने इस हफ्ते की शुरुआत में कहा था कि उसके प्रॉडक्ट के ऐप स्टोर में जो भी ऐप्स हैं, वे यूजर्स की कौन-सी पर्सनल इंफॉर्मेशन जुटा सकती हैं, इसे लेकर एक नियम बनाएगा. इसके अलावा एप्पल ने यह भी कहा है कि जल्द ही आईफोन ऐप्स को यूजर्स से डिवाइस पर उनकी एक्टिविटी को ट्रैक करने की इजाजत लेनी होगी. आसान शब्दों में कहें तो आप कोई ऐप इंस्टाल करते हैं तो वह आपकी पसंद के मुताबिक ऐड दिखाए या नहीं, इसे लेकर पहले वह आपसे इजाजत लेगा. आपकी पसंद के मुताबिक ऐड दिखाने के लिए ऐप्स डिवाइस पर आपकी गतिविधियों को ट्रैक करते हैं. यह फीचर अगले साल तक आने की संभावना है.

एप्पल ने ऐप्स को चेतावनी भी दी

वर्तमान में यह सिस्टम है कि अधिकतर ऐप्स ऑटौमैटिकली यह इजाजत ले लेते हैं और यूजर्स को खुद उसे सेटिंग्स में जाकर हर ऐप के लिए अलग-अलग ट्रैकिंग ब्लॉक करनी पड़ती है. एप्पल ने यह भी कहा कि अगर उसके स्टोर के किसी ऐप ने अगले साल नए एंटी-ट्रैकिंग रूल लागू होने के बाद उसे बायपास करने की कोशिश तो उसे ऐप स्टोर से निकाल दिया जाएगा.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. अंतरराष्ट्रीय
  3. Apple के नए प्राइवेसी नियमों से Facebook को परेशानी, क्या छोटे कारोबारियों को होगा नुकसान?

Go to Top