सर्वाधिक पढ़ी गईं

भरोसा बनाने के लिए Covid-19 वैक्सीन लगवाएंगे तीन पूर्व US राष्ट्रपति, प्रेसिडेंट-इलेक्ट बिडेन भी राजी

Covid-19 Vaccine Updates: तीन पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपतियों ने कहा है कि वे वैक्सीन उपलब्ध होने पर इसका टीका जरूर लगवाएंगे ताकि अमेरिकी इसे लेकर अपनी आशंका दूर कर सकें.

December 4, 2020 11:02 AM
Ex-presidents would get vaccine publicly to boost confidence IN CORONA VACCINE DEVELOPED BY Pfizer AND Modernaअमेरिकी नियामक फूड एंड ड्रग एडिमिनिस्ट्रेशन इस महीने फाइजर और मोडेर्ना द्वारा तैयार की गई दो वैक्सीन के आपात स्थिति में प्रयोग की मंजूरी पर अपना फैसला देगी.

Covid-19 Vaccine Updates: कोरोना वायरस की वैक्सीन को लेकर लोगों के मन से किसी प्रकार की आशंका खत्म करने के लिए तीन पूर्व अमेरिकियों राष्ट्रपतियों ने इसे लेकर अपना रुख स्पष्ट किया है. पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा, जॉर्ज डब्ल्यू बुश और बिल क्लिंटन ने कहा है कि वे वैक्सीन उपलब्ध होने पर इसका टीका जरूर लगवाएंगे ताकि अमेरिकी इसे लेकर अपनी आशंका दूर कर सकें.
अमेरिका में कोरोना वायरस के कारण अब तक 2.75 लाख लोगों की मौत हो चुकी है. एक ही दिन में अमेरिका में 3 हजार से अधिक लोगों की मौत के आंकड़े सामने आ रहे हैं. इसके अलावा 1 लाख से अधिक अमेरिकी अस्पतालों में भर्ती हैं. ऐसे में लोगों को वैक्सीन के टीके लगवाने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है.

यह भी पढ़ें- रूस में अगले सप्ताह से शुरू होगा COVID-19 के खिलाफ मास वैक्सिनेशन

विज्ञान पर भरोसे के लिए टीका लगवाएंगे ओबामा

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने SiriusXM के एक कार्यक्रम दि जो मेडिशन शो के एक एपिसोड में वादा किया कि जब कम खतरे वाले लोगों के लिए वैक्सीन उपलब्ध हो जाएगी, वे इसका टीका जरूर लगवाएंगे. उन्होंने कहा कि जब वह टीका लगवाएंगे, तो या इसे टीवी पर प्रदर्शित किया जाएगा या इसकी फिल्म बनाई जाएगी ताकि लोगों का विज्ञान पर भरोसा बना रहे.

बिल क्लिंटन ने भी किया वादा

बराक ओबामा के अलावा पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन ने भी उपलब्ध होने पर वैक्सीन के टीके लगवाने की बात कही है. क्लिंटन के प्रवक्ता एंजेन यूरिया ने कहा कि अगर इससे अमेरिकियों के मन में वैक्सीन के प्रति भरोसा बढ़ता है तो वे इसे सार्वजनिक तौर पर लगवाएंगे. हालांकि उन्होंने इसका कोई जवाब नहीं दिया कि क्या वे संयुक्त तौर पर टीकाकरण के लिए किसी और पू्र्व अमेरिकी राष्ट्रपति के संपर्क में हैं या नहीं.

लाइव टेलीकास्ट के जरिए बुश लगवाएंगे टीका

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश के चीफ ऑफ स्टॉफ फ्रेडी फोर्ड ने भी एक अमेरिकी चैनल को बताया कि बुश ने उनसे संक्रामक बीमारियों के टॉप अमेरिकी विशेषज्ञ डॉ एंथोनी फाउकी और वाइट हाउस के कोरोना वायरस रिस्पांस कोऑर्डिनेटर डॉ डेबोराह बिर्क्स से मिलने को कहा था. बुश ने यह जानकारी मांगी थी कि वैक्सीन कब तक उपलब्ध होगी ताकि खुद इसके डोज लगवाकर वैक्सीन टीकाकरण के लिए अमेरिकियों को प्रोत्साहित कर सकें. फोर्ड ने कहा कि पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति की इच्छा टीवी पर लाइव टेलीकास्ट के जरिए टीके लगवाने की है.

ट्रंप ने वैक्सीनेशन से किया इनकार

इन तीनों राष्ट्रपतियों के अलावा एक और पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति जिमी कार्टर ने लोगों को वैक्सीन के टीके लेने के लिए प्रोत्साहित किया है. हालांकि उन्होंने सार्वजनिक तौर पर खुद डोज लेने का वादा नहीं किया. कार्टर 96 वर्ष के हैं और इस समय अमेरिकी इतिहास के सबसे उम्रदराज जीवित पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति हैं.
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक अमेरिकी टीवी चैनल से कहा था कि वे इसे सबसे पहले नहीं लगवाएंगे. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि वे इसे सबसे पहले इसलिए नहीं लगवाना चाहते क्योंकि इससे सभी उन्हें स्वार्थी समझेंगे लेकिन रिकमेंड होने पर इसे जरूर लगवाएंगे. उनसे इस बाबत सवाल पूछा गया था कि क्या वे इसका टीका लगवाएंगे ताकि लोगों के बीच इसके सुरक्षित होने का संदेश जाए.

प्रेसिडेंट-इलेक्ट बिडेन भी टीके के लिए राजी

सेंटर्स फऑर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के डायरेक्टर डॉ रॉबर्ट रेडफील्ड का मानना है कि इस समय सबसे बड़ी चुनौती लोगों के बीच कोरोना वैक्सीन के टीके लगवाने को लेकर लोगों की झिझक खत्म करनी है. इसे लेकर अमेरिकी उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने कहा है कि उपलब्ध होने पर वे इसका टीका जरूर लगवाएंगे. इसके अलावा यूएस प्रेसिडेंट- इलेक्ट जो बिडेन ने भी कहा है कि लोगों को प्रोत्साहित करने के लिए वे इसे सार्वजनिक तौर पर लगवाना चाहेंगे. बिडेन का मानना है कि लोगों वैक्सीन के प्रभावी होने पर आशंका है.

इस महीने दो वैक्सीन के आपात प्रयोग पर मंजूरी

अमेरिकी नियामक फूड एंड ड्रग एडिमिनिस्ट्रेशन इस महीने फाइजर और मोडेर्ना द्वारा तैयार की गई दो वैक्सीन के आपात स्थिति में प्रयोग की मंजूरी पर अपना फैसला देगी. हालांकि अभी तक के अनुमान के मुताबिक दोनों कंपनियों के 4 करोड़ डोज ही तैयार हो पाएंगे. इसके अलावा सभी लोगों को दो डोज दिए जाएंगे. इम्यूनिजाइजेशन प्रैक्टिसेज की एक एडवायजरी कमेटी के मुताबिक पहले इसे स्वास्थ्य कर्मियों और नर्सिंग होम रेजिडेंट्स को दिया जाना चाहिए जिनकी संख्या करीब 2.4 करोड़ है. अमेरिका की जनसंख्या 33 करोड़ है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. अंतरराष्ट्रीय
  3. भरोसा बनाने के लिए Covid-19 वैक्सीन लगवाएंगे तीन पूर्व US राष्ट्रपति, प्रेसिडेंट-इलेक्ट बिडेन भी राजी

Go to Top