Bezos को पछाड़ Musk ने हासिल किया Nasa से अहम कांट्रैक्ट, 1972 के बाद से पहली बार चांद पर इंसानों को भेजने की है तैयारी

अगर सब कुछ सफलतापूर्वक रहा तो 2024 तक पहली बार कोई महिला और कोई अश्वेत शख्स अपने कदम चांद की धरती पर रखेंगे.

elon musk spaces got nasa contract to send astronauts on Moon as part of the Artemis program surpassing amazon head jeff bezos
नासा ने स्पेसएक्स के साथ स्पेसक्राफ्ट को बनाने के लिए 289 करोड़ डॉलर का करार किया है.

अगले तीन साल में स्पेस मिशन के तहत एक नया रिकॉर्ड कायम होने वाला है. अगर सब कुछ सफलतापूर्वक रहा तो 2024 तक पहली बार कोई महिला और कोई अश्वेत शख्स अपने कदम चांद की धरती पर रखेंगे. Nasa ने अपने अर्टेमिस प्रोग्राम के तहत चांद को एक्सप्लोर करने के लिए अमेरिकी एस्ट्रोनॉट्स को चांद पर भेजने पर काम कर रहा है. इसके लिए फर्स्ट कॉमर्शियल ह्यूमन लैंडर को Elon Musk की स्पेस कंपनी SpaceX डेवलप करेगी. नासा ने स्पेसएक्स के साथ इस स्पेसक्राफ्ट को बनाने के लिए 289 करोड़ डॉलर का करार किया है. नासा के साथ करार होने के बाद मस्क ने ट्विटर पर ‘नासा रूल्स’ का ट्वीट किया. नासा ने अपोलो प्रोग्राम के बाद से पहली बार चांद की धरती पर किसी इंसान को ले जाने के लिए स्टारशिप को चुना है.

दुनिया के सबसे अमीर शख्स बेजॉस को पछाड़ा मस्क ने

राउटर्स की खबर के मुताबिक इस दौड़ में मस्क ने दुनिया के सबसे अमीर शख्स और Amazon के मालिक Jeff Bezos को पछाड़ा है क्योंकि इस दौड़ में जेफ बेजॉस की ब्लू ओरिजिन भी शामिल थी. मस्क और बेजॉस दोनों ही 1972 के बाद से पहली बार इंसानों को चांद पर ले जाने के लिए प्रतिस्पर्धा में थे. मस्क ने अकेले बिड लगाई थी लेकिन बेजॉस की ब्लू ओरिजिन ने लॉकहेड मार्टिन कॉरपोरेशन, नॉर्थ्रोप ग्रूमैन कॉरपोरेशन और ड्रेपर डाईनेटिक्स के साथ मिलकर बोली लगाई थी.

24 घंटे में रिकॉर्ड 2.34 लाख केसेज और 1341 की मौत, PM Modi ने कुंभ मेले को प्रतीकात्मक रखने का किया आग्रह

एस्ट्रोनॉट्स को ले जाने से पहले टेस्ट फ्लाइट करेगा स्पेसएक्स

राउटर्स की खबर के मुताबिक स्पेसएक्स को एस्ट्रोनॉट्स ले जाने से पहले चांद तक की लैंडर की एक टेस्ट फ्लाइट करनी होगी. नासा ऑफिशियल लिजा वाटसन-मोर्गन ने इसकी जानकारी दी. नासा की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक नासा का पॉवरफुल स्पेस लांच सिस्टम रॉकेट चांद की कक्षा में ओरिओन स्पेस्क्रॉफ्ट पर चार एस्ट्रोनॉट्स को भेजेगा. वहां दो क्रू मेंबर्स को स्पेसएक्स ह्यूमन लैंडिंग सिस्टम (HLS) में शिफ्ट किया जाएगा और वे फिर चांद की धरती पर कदम रखने के सफर पर निकलेंगे. एक हफ्ते तक वहां एक्स्प्लोर करने के बाद वे लैंडर पर वापस आएंगे और कक्षा में वापस ओरिओन पर लौटेंगे. फिर इसके बाद सभी धरती पर वापस आएंगे.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

Financial Express Telegram Financial Express is now on Telegram. Click here to join our channel and stay updated with the latest Biz news and updates.

TRENDING NOW

Business News