मुख्य समाचार:

COVID-19: 1 मीटर की दूरी से 4 गुना तक कम होगा रिस्क, मास्क नहीं पहना तो 17% संक्रमण का खतरा

लैसेंट मैगजीन में छपी स्टडी के अनुसार 1 मीटर से कम दूरी रहने पर कोरोना के संक्रमण का खतरा 13 फीसदी रहता है.

Published: June 4, 2020 11:16 AM
COVID-19, social distancing, you can minimize covid-19 risk more than 4 times if follow social distancing of 1 meter, face mask, eye protection, Coronavirus, WHO study, publish in the lancet, सोशल डिस्टेंसिंग, कोरोना वायरसलैसेंट मैगजीन में छपी स्टडी के अनुसार 1 मीटर से कम दूरी रहने पर कोरोना के संक्रमण का खतरा 13 फीसदी रहता है.

भारत सहित दुनियाभर में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. दुनियाभर के हेल्थ एक्सपर्ट और स्टडीज बता रही हैं कि जब तक इस बीमारी का इलाज नहीं मिलता है, सोशल डिस्टेंसिंग ही इसके बचाव का सबसे कारगर उपाय है. इसके अलावा फेस मास्क और आई प्रोटेक्शन भी उतना ही जरूरी है. इस बारे में हाल ही में लैसेंट मैगजीन ने भी एक रिपोर्ट छापी है. इसमें साफ कहा गया है कि 1 मीटर से कम दूरी रहने पर कोरोना के संक्रमण का खतरा 13 फीसदी रहता है, जबकि 1 मीटर या ज्यादा दूरी बनाए रहने पर यह खतरा 3 फीसदी रह जाता है. यह स्टडी डबल्येूएचओ द्वारा की गई है. इसमें 16 देशों की 172 स्टडीज को आधार बनाया गया है. स्टडी में क्या मिला….

1 मीटर की दूरी जरूरी

स्टडी के अनुसार जिन देशों में कोविड 19 का असर ज्यादा है, वहां सोशल डिस्टेंसिंग के पालन न करने से कम्युनिटी ट्रांसमिशन का खतरा हो सकता है. वहां अगर लोग आपस में 1 मीटर से कम दूरी रखते हैं तो कोरोना के वायरस से संक्रमण का खतरा 13 फीसदी होता है. जबकि 1 मीटर या ज्यादा दूरी रखते हैं तो यह खतरा 3 फीसदी ही रह जाता है. 1 मीटर के बाद हर मीटर की दूरी बढ़ने से यह खतरा आधा होता चला जाता है. 3 मीटर से ज्यादा दूरी पर कोई खतरा नहीं है.

फेस मास्क

फेस मास्क न पहनने से भी संक्रमण का खतरा बहुत ज्यादा होता है. स्टडी के अनुसार अगर आपने फेस मास्क (N95 मास्क) नहीं पहना है तो बीमारी का खतरा 17.4 फीसदी होता है. जबकि आपने प्रोटेक्शन लिया है तो यह घटकर 3.1 फीसदी ही रह जाता है.

आंखों के लिए प्रोटेक्शन

कोरोना संक्रमण से बचने के लिए आंखों के लिए भी प्रोटेक्शन जरूरी है. अगर आपने प्रोटेक्शन नहीं लिया है तो बीमारी का खतरा 16 फीसदी होता है. लेकिन सुरक्षा उपाय किए हैं तो यह घटकर 5.5 ही रह जाता है. प्रोटेक्शन में फेस शील्ड, चश्मा आदि हो सकते हैं.

छींकने या खांसने से क्या खतरा

स्टडी के अनुसार जब कोई संक्रमित व्यक्ति छींकता या खांसता है तो संक्रमण की बूंदें करीब 8 मीटर तक जा सकती हैं. इस संक्रमण से बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ही मास्क पहना जरूरी है. अगर लोग 1 मीटर से ज्यादा दूरी बना कर रखते हैं तो संक्रमण फैलने का खतरा 3 फीसदी तक कम हो सकता है.

दुनियाभर में कोरोना के 65.7 लाख मामले

दुनियाभर में कोरोना के मामले बढ़कर 65,67,260 हो गए हैं. वहीं इससे अबतक कुल 3,87,911 लोगों की जान जा चुकी है. इससे अबतक 31,64,346 रिकवरी हुई है. एक्टिव केस अब 30,15,003 हैं. एक्टिव के कुल मामलों में करीब 98 फीसदी यानी 29,60,802 माइल्ड केस हैं, जबकि 2 फीसदी यानी 54,201 मामले गंभीर हैं. हर 10 लाख पर मरीजों की संख्या 830.6 है. जबकि हर 10 लाख पर मौतों के आंकड़े 49 हो गए हैं.

भारत में तेजी से बढ़ रहे हैं मामले

भारत कोरोनावायरस संक्रमण से प्रभावित दुनिया का सातवां सबसे बड़ा देश बन गया है. पिछले कुछ दिनों के आंकड़े देखें तो हर दिन औसतन 8000 से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं. पिछले 24 घंटे में कोरोना के 9304 मरीज और जुड़ गए हैं. इसी के साथ देश में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़कर 2.10 लाख के पार चली गई है. केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से 4 जून सुबह 8 बजे तक के आंकड़ों के मुताबिक, देश में कोविड-19 पॉजिटिव केस 2,16,919 पहुंच गए हैं. अभी तक कोरोना वायरस के चलते 6,075 लोगों की मौत हो चुकी है. कोरोना से 1,04,107 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं. वहीं, अभी सक्रिय मामले 1,06,737 हैं. बीते 24 घंटे में देश में कोरोना के रिकॉर्ड 9,304 मामले सामने आए हैं और 260 मौतें हुईं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. अंतरराष्ट्रीय
  3. COVID-19: 1 मीटर की दूरी से 4 गुना तक कम होगा रिस्क, मास्क नहीं पहना तो 17% संक्रमण का खतरा

Go to Top