मुख्य समाचार:

दुनिया को भीषण मंदी में झोंक सकता है कोरोना वायरस, वैश्विक व्यापार 2020 में गिर सकता है एक तिहाई

यह मंदी ऐसी होगी जिसे अब तक हमने न सुना है और न पढ़ा है.

April 8, 2020 8:37 PM
COVID-19 Pandemic Could Cause Deepest 'Economic Recession', Global Trade to Plunge upto 32 percent in 2020, Says WTOImage: Reuters

कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के कारण दुनिया भीषण वैश्विक मंदी की चपेट में आ सकती है. यह मंदी ऐसी होगी जिसे अब तक हमने न सुना है और न पढ़ा है. यह बात विश्व व्यापार संगठन (WTO) के प्रमुख रोबर्टों ऐजेवेदो ने की है. उन्होंने जिनेवा में एक तरह के संवाददाता सम्मेलन में आगाह किया कि हम आज जिसका सामना कर रहे हैं, उससे विश्व भीषण आर्थिक मंदी में जा सकता है.

यह मंदी ऐसी होगी जसके बारे में हमने अबत क न पढ़ा है और न सुना है. हमारा लक्ष्य होना चाहिए कि सतत आर्थिक वृद्धि के लिए जो भी उपाय हैं, उनका इस्तेमाल करें ताकि स्थिति में बदलाव लाया जा सके.

32% तक गिर सकता है वैश्विक व्यापार

विश्व व्यापार संगठन ने यह भी कहा है कि कोरोना वायरस महामारी के कारण वैश्विक व्यापार में 2020 में एक तिहाई तक की गिरावट आने की आशंका है. डब्ल्यूटीओ ने एक बयान में कहा, ‘‘विश्व व्यापार में 2020 में 13 फीसदी से लेकर 32 फीसदी तक की गिरावट आने की आशंका है. इसका कारण कोरोना वायरस महामारी के कारण सामान्य आर्थिक गतिविधियां और जीवन बुरी तरीके से प्रभावित होना है.’’

कोरोना असर: FY21 में कई दशक के निचले स्तर पर आ सकती है GDP ग्रोथ, गोल्डमैन सैक्स ने 1.6% का जताया अनुमान

पूरी दुनिया में 14.30 लाख मामले

दुनियाभर में कोरोना वायरस के अब तक कुल 14,30,919 मामले सामने आ चुके हैं. इनमें से 82,034 की मौत हो चुकी है. जबकि 301,095 मामले रिकवर हो चुके हैं. अमेरिका में इसके चलते 12,841 लोगों ने, इटली में 17,127 लोगों ने और स्पेन में 14,045 लोगों ने अपनी जान गंवाई है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. अंतरराष्ट्रीय
  3. दुनिया को भीषण मंदी में झोंक सकता है कोरोना वायरस, वैश्विक व्यापार 2020 में गिर सकता है एक तिहाई

Go to Top