मुख्य समाचार:
  1. गोलकुंडा का यह हीरा 23.5 करोड़ में बिका, कभी अर्काट के नवाब थे इसके मालिक

गोलकुंडा का यह हीरा 23.5 करोड़ में बिका, कभी अर्काट के नवाब थे इसके मालिक

Christie's auction: इन सभी शाही चीजों में 17 कैरेट का गोलकुंडा हीरा ‘‘अर्काट 2’’ भी शामिल है जो 3,37,500 डॉलर (23.5 करोड़ रुपये) की कीमत पर बिका.

June 20, 2019 5:44 PM
Christies auction Maharajas & Mughal Magnificence arcot 2 of golconda and other indian diamond soldइस हीरे का स्वामित्व एक वक्त में अर्काट के नवाब के पास था.

Maharajas & Mughal Magnificence: अमेरिका में शाही भारतीय आभूषणों के कलेक्शन के लिए 10.9 करोड़ डॉलर से अधिक की बोली लगाई गई. वैश्विक नीलामी घर ‘क्रिस्टीज’ के मुताबिक यह किसी भी भारतीय कला या आभूषण संबंधी चीजों के लिए लगने वाली अब तक की सबसे ऊंची बोली है. इन सभी शाही चीजों में 17 कैरेट का गोलकुंडा हीरा ‘‘अर्काट 2’’ भी शामिल है जो 3,37,500 डॉलर (23.5 करोड़ रुपये) की कीमत पर बिका. एक जमाने में अर्काट के नवाब इस हीरे के मालिक थे. बाद में यह हीरा ब्रिटेन के राजघराने में शामिल कर लिया गया. इसके अलावा एक प्राचीन हीरे के हार की भी बोली लगी जिस पर कभी हैदराबाद के निजाम का मालिकाना हक था. यह करीब 2,415,000 डॉलर (17 करोड़ रुपये) में बिका.

बेहद ऊंचे दामों पर बिके भारतीय शाही आभूषण

क्रिस्टीज ने ट्विटर पर बताया कि 33 हीरों वाले हार के 15,00,000 डॉलर (10.5 करोड़ रुपये) में बिकने की उम्मीद थी. इंदौर के महाराज यशवंत राव होलकर द्वितीय से संबंधित एक हार 1.44 करोड़ रुपये में बिका. इसके अलावा जयपुर की राजमाता गायत्री देवी की हीरे की एक बेहद पुरानी अंगूठी 4.45 करोड़ रुपये में बिकी.

नीलामी घर ने एक बयान में कहा, ‘‘इस संग्रह और विशेष रूप से तैयार न्यूयॉर्क ऑक्शन ‘महाराजास एंड मुगल मैग्निफिशेन्स’ नीलामी में 10,92,71,875 डॉलर की बिक्री हुई जो भारतीय कला या आभूषणों की नीलामी में लगने वाले सबसे अधिक बोली है और किसी निजी आभूषण संग्रह में लगी दूसरी सबसे अधिक बोली है.’’वर्तमान में यह रिकॉर्ड ‘द कलेक्शन ऑफ एलिजाबेथ टेलर’ के नाम है जो 2011 में हुई नीलामी में कुल 14.4 करोड़ डालर में बिका था.

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop