मुख्य समाचार:

चीन की Huawei को भारत के ‘लोकतंत्र’ पर भरोसा, 5G ट्रायल पर लगी है उम्मीद

Huawei ने भरोसा जताया कि 5G ट्रायल को लेकर दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र ‘स्वतंत्र निर्णय’ लेगा.

September 10, 2019 11:44 AM
Chinese take giant Huawei, Huawei 5G trial in India, Indian telecom industry, India China Economic Cooperation Forum, US ban on Huawei, cybersecurity issue in 5G Trial, National Cyber SecurityHuawei ने भरोसा जताया कि 5G ट्रायल को लेकर दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र ‘स्वतंत्र निर्णय’ लेगा. (Reuters)

अमेरिकी प्रतिबंधों का सामना कर रही चीनी टेक कंपनी हुवावे को भारत से 5G ट्रायल के मसले पर काफी उम्मीद हैं. चीन की टेक कंपनी हुवावे (Huawei) को मानना है कि भारत सरकार सभी तरह के विदेशी निवेश के साथ ‘निष्पक्ष’ व्यवहार करेगी. कंपनी ने भरोसा जताया कि यह देश में 5G ट्रायल को लेकर दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र ‘स्वतंत्र निर्णय’ लेगा.

भारतीय उद्योग परिसंघ (CII) के भारत-चीन आर्थिक सहयोग फोरम को संबोधित करते हुए हुवावे इंडिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) जे चेन ने यह भी कहा कि वह भारत सरकार को आश्वासन दिलाती है कि वह देश के सभी कानूनों का पालन करने के लिए बाध्य है. वह साइबर सुरक्षा से लेकर जुड़ी चिंताओं को दूर करने के लिए भी तैयार हैं.

उन्होंने कहा कि वह भारत सरकार को यह वचन देना चाहते हैं कि वह देश के सभी नियम-कायदों को लागू करना बरकरार रखेंगे. वहीं साइबर सुरक्षा को लेकर सरकार के साथ सकारात्मक सहयोग करेंगे और नेटवर्क सुरक्षा को बेहतर करने के लिए साथ मिलकर काम करेंगे.

अमेरिका ने हुवावे के अमेरिकी कंपनियों के साथ काम करने पर प्रतिबंध लगा दिया है. हालांकि, उसे नवंबर तक काम करने की अनुमति दी गई है. हालांकि हुवावे के बारे में भारत का निर्णय लेना अभी बाकी है. चेन ने कहा, ‘‘हमें उम्मीद है कि भारत सरकार सभी विदेशी निवेशकों के साथ निष्पक्ष और न्यायोचित व्यवहार करेगी. सभी निवेशकों को समान अवसर उपलब्ध कराएगी. हमें आशा है कि भारत के लॉन्ग टर्म बेनेफिट को देखते हुए भारत सरकार मूल देश के आधार पर भेदभाव किए बिना 5जी पर एक स्वतंत्र निर्णय लेगी.’

5G में सिक्युरिटी एक बड़ा मसला

पिछले सप्ताह नेशनल साइबर सिक्युरिटी कोऑर्डिनेटर लेफ्टिनेंट जनरल राजेश पंत ने कहा था कि 5जी में सिक्युरिटी एक बड़ा मसला है. इसमें हुवावे की भागीदारी के बादे में कोई भी फैसला ​विस्तृत परामर्श के बाद लिया जाना चाहिए. उन्होंने कहा था कि 5जी सिर्फ टेलिकॉम नेटवर्क तक ही सीमित नहीं रहेगा बल्कि यह सभी सेक्टर को भी प्रभावित करेगा.

इससे पहले, टेलिकॉम मिनिस्टर रवि शंकर प्रसाद ने कहा था कि भारत इस बात पर विचार कर रहा है कि क्या हुवावे को 5जी ट्रायल में भागीदारी के लिए मंजूरी दी जाए? चेन ने कहा कि हुवावे का बिजनेस भारत में रिसर्च एंड डेवलपमेंट, मैन्युफैक्चरिंग और सर्विसेज में फैला हुआ. इनमें करीब 6000 लोगों को रोजगार मिला हुआ है.

 

Input: PTI

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. अंतरराष्ट्रीय
  3. चीन की Huawei को भारत के ‘लोकतंत्र’ पर भरोसा, 5G ट्रायल पर लगी है उम्मीद

Go to Top