मुख्य समाचार:
  1. ‘सुअर’ बना चीन के लिए मुसीबत, इन वजहों से रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई महंगाई

‘सुअर’ बना चीन के लिए मुसीबत, इन वजहों से रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई महंगाई

चीन के लिए सुअर क्यों बना मुसीबत

June 12, 2019 1:55 PM
China Inflation, Pork Meat, China CPI, CPI, NBS, PPI, Retail Inflation, Trade War, US-China Trade war, Demand Slow, चीन, सुअर बना मुसीबतचीन के लिए क्यों मुसीबत बना ‘सुअर’

चीन के लिए सुअर का मांस और फल बड़ी मुसीबत बन गए हैं. चीन में महंगाई दर 15 महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है. इसके पीछे सुअर के मांस और फलों की कीमतों में तेजी बड़ी वजह बन गए हैं. वहीं अमेरिका के साथ चल रहे ट्रेड वार से भी चीन में महंगाई में इजाफा देखा जा रहा है. ऐसे में कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स (CPI) फरवरी 2018 के बाद रिकॉर्ड स्तर पर है. चीन के आधिकारिक आंकड़ों में ये जानकारी दी गई है.

इन वजहों से बढ़ी महंगाई

रिपोर्ट के अनुसार चीन में सुअर के मांस की कीमत में बढ़ोतरी की वजह अफ्रीका में स्वाइन बुखार की महामारी फैलना और मौसम का खराब होना है. एक तरफ जहां कीमतें बढ़ रही हैं, वहीं दूसरी तरफ मांग कमजोर बनी हुई है. इसकी एक बड़ी वजह अमेरिका के साथ चल रहे व्यापार युद्ध के चलते बने आर्थिक अनिश्चिता के हालात हैं.

CPI इंडेक्स 2.5% पर

चीन के नेशनल ब्यूरो आफ स्टैटीस्टिक्स (NBS) के अनुसार चीन का कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स 2.7 फीसदी पर पहुंच गया. अप्रैल में यह 2.5 फीसदी था. कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स (CPI) रिटेल महंगाई का पता लगाने का एक अहम कारक है. मई की रिटेल महंगाई दर फरवरी 2018 के बाद सबसे ऊंची है. यह आंकड़े ब्लूमबर्ग न्यूज के अनुमान के मुताबिक हैं.

डोमेस्टिक डिमांड हुई सुस्त

चीन में सुअर के मांस की कीमत में मई में 18.2 फीसदी तक की बढ़ोत्तरी देखी गई है. ताजे फलों के मूल्य में भी 26.7 फीसदी तक की बढ़ोत्तरी दर्ज की गयी है. बता दें कि स्वाइन बुखार की महामारी की वजह से लाखों सुअरों को मार दिया गया है, जिससे चीन सहित कई उपभोक्ता देशों में सुअर के मांस में कमी आई है. प्रोड्यूसर प्राइस इंडेक्स (PPI) मई में 0.6 फीसदी पर आ गया जो अप्रैल में 0.9 फीसदी पर था. यह डोमेस्टिक डिमांड बनाते वाला प्रमुख इंडीकेटर है.

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop