मुख्य समाचार:

COVID-19: क्या खाने-पीने की चीजों पर भी हो सकता है वायरस? कोरोना के कन्फ्यूजन पर जानिए एक्सपर्ट की राय

बहुत से लोग कनफ्यूज हैं कि क्या खाने या पीने की चीजों में, न्यूज पेपर या दरवाजे के हैंडल पर कोरोना वायरस हो सकता है.

March 30, 2020 4:19 PM
COVID-19, Coronavirus live on surfaces, can coronavirus live on food products or in water, coronavirus can live on metal or wood, कोरोना वायरसबहुत से लोग कनफ्यूज हैं कि क्या खाने या पीने की चीजों में, न्यूज पेपर या दरवाजे के हैंडल पर कोरोना वायरस हो सकता है.

Coronavirus in India: कोरोना वायरस महामारी ने पूरी दुनिया की कमर तोड़ दी है. चीन के बाद अमेरिका, इटली, फ्रांस और स्पेन जैसे देश भी इसके सामने पस्त हो चुके हैं. चीन से शुरू हुआ कोरोना वायरस दुनिया के 195 देशों में फैल चुका है. इससे पूरी दुनिया में हेल्थ इमरजेंसी के अलावा लॉकडाउन की स्थिति बन गई है. भारत में भी इसके मामले बढ़ रहे हैं. इस माहामारी की गंभीरता का अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि इसने महज पिछले 24 घटों में दुनियाभर में करीब 3100 जान ले ली है. वहीं, अबतक इसके करीब 7.21 लाख मामले सामने मामले आ चुके हैं. मेडिकल एक्सपर्ट भी लोगों के लिए एडवाइजरी जारी कर रहे हैं, जिसका पालन कर इससे बचाव किया जा सकता है. वहीं, अफवाहों से भी बचने की सलाह दे रहे हैं. हम यहां इसकी पूरी जानकारी दे रहे हैं.

क्या खाने-पीने की चीजों पर हो सकता है जानलेवा वायरस

कंफेडरेशन आफ मेडिकल एसोसिएशन आफ एशिया एंड ओसेनिया (CMAAO) के प्रेसिडेंट डॉ केके अग्रवाल का कहना है कि इसे बारे में बहुत से लोगों में भ्रांतियां हैं कि कोरोना खाने पीने की चीजों पर कितने दिन जिंदा रहता है, क्या वह न्यूज पेपर में हो सकता है या गैस सिलेंडर पर मौजूद रह सकता है. इस बारे में अलग अलग स्टडी और रिपोर्ट के अलावा डअबल्यूएचओ से कुछ जानकारियां सामने आई हैं. इसके आधार पर आप खुद का बचाव कर सकते हैं. मसलन….

खाने की चीजों पर: अबतक ऐसा कोई मामला नहीं आया है, जिसमें खाने की चीजों से इसका एक्सपोजर हुआ हो. लेकिन बेहतर तरीका है कि खाने के पहले फल या सब्जियों को खूब अच्छे से धो लिया जाए. उसे साफ ब्रश से नल के नीचे धो लेना बेहतर तरीका है. सब्जियां अच्छे से पकी होनी चाहिए.

पीने के पानी में: यह पीने के पानी में नहीं पाया जाता है. कोरोना वायरस की वजह से आपका वाटर सप्लाई, फिल्टर या वाटर ट्रीटमेंट प्लांट संक्रमित नहीं होगा.

मेटल: यह दरवाजे के हैंडल या सिटकनी, ज्वैलरी या सिल्वरवेयर पर 5 दिनों तक सक्रिय रह सकता है.

लकड़ी: यह फर्नीचर या डेकिंग पर 4 दिन तक सक्रिय रह सकता है.

प्लास्टिक: यह सबवे, बस सीट, एलीवेटर के बटन, फूड पैकेट पर भी 2 से 3 दिन तक जीवित रह सकता है.

स्टेनलेस स्टील: फ्रीज, पैन, सिंक और कुछ पानी के बोतलों पर 2-3 दिन.

कॉपर: कुकवेयर जैसी चीजों पर 4 घंटे

एल्यूमीनियम: 2 से 8 घंटे

शीशा: 5 दिन. इसमें मिरर, दरवाजे, गिलास या कप हो सकते हैं.

पेपर: कुछ पेपर पर यह सिर्फ कुछ मिनटों तक रह सकते हैं. जबकि कुछ पेपर इन्हें 5 दिन भी कैरी कर सकते हैं.

कोरोना की चपेट में कितने देश: 195
24 घंटे में नए मामले: 58435
24 घंटे में डेथ: 3104
अब तक कुल मामले: 721,562 (5% ज्यादा भी हो सकते हैं)
रविवार तक कुल मौत: 33,965
अब तक रिकवर्ड: 151,128
मौजूदा समय में संक्रमित: 536,469
माइल्ड: 509,680 (95%)
सीरियस: 5%

कितनी तेजी से बढ़ती गई महामारी

पहला 1 लाख संक्रमण: 67 दिनों में
1 लाख से 2 लाख की संख्या: 11 दिनों में
2 लाख से 3 लाख की संख्या: 4 दिनों में
3 लाख से 4 लाख की संख्या: 3 दिनों में
इसके बाद हर एक लाख मामले 2 से 2.5 दिनों में आए हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. अंतरराष्ट्रीय
  3. COVID-19: क्या खाने-पीने की चीजों पर भी हो सकता है वायरस? कोरोना के कन्फ्यूजन पर जानिए एक्सपर्ट की राय

Go to Top