मुख्य समाचार:
  1. वॉरेन बफे के पार्टनर चार्ली ने माना, Google को न खरीदना थी बड़ी गलती

वॉरेन बफे के पार्टनर चार्ली ने माना, Google को न खरीदना थी बड़ी गलती

वॉरेन बफे ने हाल ही में अपनी कंपनी बर्कशायर हैथवे के शेयरहोल्डर्स के साथ सालाना मीटिंग की. इस मीटिंग में उनके पार्टनर चार्ली मुंगेर ने दो गलतियों का भी खुलासा किया.

May 7, 2019 7:15 AM
Berkshire's Charlie Munger Says Not Buying Google Was a Mistakeदरअसल बर्कशायर हैथवे ने हाल ही में अमेजॉन के कुछ शेयर खरीदे हैं. (Bloomberg)

Charlie Munger: दुनिया के तीसरे सबसे ज्यादा अमीर शख्स वॉरेन बफे ने हाल ही में अपनी कंपनी बर्कशायर हैथवे के शेयरहोल्डर्स के साथ सालाना मीटिंग की. इस मीटिंग में हमेशा की तरह उनके पार्टनर चार्ली मुंगेर भी मौजूद थे. इस बार की मीटिंग में चार्ली ने दो गलतियों का भी खुलासा किया. ये वे गलतियां हैं जो उनकी कंपनी ने अमेजॉन और गूगल को लेकर कीं.

दरअसल बर्कशायर हैथवे ने हाल ही में अमेजॉन के कुछ शेयर खरीदे हैं. मीटिंग में चार्ली ने कहा कि हमने अमेजॉन के फाउंडर जेफ बेजोस को कम आंका. हमें लगा कि अमेजॉन किताबें बेचकर कितना आगे जा सकती है. लेकिन यह हमारी गलती थी.

Google को लेकर क्या है पछतावा

चार्ली ने गूगल को न खरीदने को लेकर पछतावा जाहिर किया. उन्होंने कहा कि गूगल के शेयर न खरीदना हमारी एक बड़ी गलती थी और इसके लिए हम शर्मिंदा हैं.

वॉरेन बफे की सीख से पिता-पुत्र की यह जोड़ी बन गई अरबपति, क्या है वह कीमती सबक

Apple में भी किया है इन्वेस्ट

बर्कशायर हैथवे ने अमेजॉन के शेयर खरीदने के अलावा एप्पल इंक में भी हाल ही में निवेश किया है. इस निवेश के बाद बर्कशायर हैथवे के शेयरों में 20 फीसदी का उछाल आया और कंपनी ने 10 अरब डॉलर से ज्यादा का मुनाफा दर्ज कर लिया. सालाना मीटिंग में चार्ली ने कहा कि एप्पल में इन्वेस्टमेंट से कमाया मुनाफा अन्य टेक्नोलॉजी कंपनियों को कम आंकने की भरपाई है.

Go to Top