मुख्य समाचार:

60 साल में पहली बार 0% रह सकती है एशिया की GDP ग्रोथ, संकटग्रस्त देशों को 1000 अरब डॉलर के मदद की तैयारी: IMF

IMF का कहना है कि इस महामारी के कारण वैश्विक अर्थव्यवस्था 1930 दशक की महामंदी के बाद के सबसे बड़े संकट से गुजर रही है.

April 16, 2020 1:50 PM
Asia to see zero percent growth in 2020 it happens first time in 60 years says IMF make a plan for financial help amid coronavirus pandemicIMF का हालांकि यह भी मानना है कि गतिविधियों के संदर्भ में अन्य क्षेत्रों की तुलना में अभी भी एशिया बेहतर स्थिति में है.

कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के कारण इस साल एशिया की आर्थिक वृद्धि दर (GDP) शून्य रह सकती है. यदि ऐसा हुआ तो यह पिछले 60 साल का सबसे बुरा प्रदर्शन होगा. अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने यह आशंका व्यक्त की है. हालांकि, IMF का यह भी मानना है कि गतिविधियों के संदर्भ में अन्य क्षेत्रों की तुलना में अभी भी एशिया बेहतर स्थिति में है. IMF ने ‘COVID-19 महामारी और एशिया-प्रशांत क्षेत्र: 1960 के दशक के बाद की सबसे कम वृद्धि दर’ शीर्षक से एक ब्लॉग में कहा कि इस महामारी का एशिया-प्रशांत क्षेत्र में गंभीर और अप्रत्याशित असर होगा. वहीं, IMF प्रमुख क्रिस्टालिना जॉर्जीवा ने कहा है कि कोरोना संकट से जूझ रहे देशों की मदद मांग को पूरा करने के लिए संस्था बतौर लोन 1000 अरब डॉलर की वित्तीय मदद के लिये प्रतिबद्ध है.

IMF का कहना है, ‘‘2020 में एशिया की वृद्धि दर शून्य रहने की आशंका है. एशिया की आर्थिक वृद्धि दर वैश्विक वित्तीय संकट के दौरान 4.7 फीसदी और एशियाई वित्तीय संकट के दौरान 1.3 फीसदी थी. शून्य वृद्धि दर करीब 60 साल की सबसे खराब स्थिति होगी.’’ बहरहाल, इसके साथ ही आईएमएफ ने जोड़ा कि अब भी एशिया क्षेत्र अन्य क्षेत्रों की तुलना में बेहतर कर सकता है. इस साल वैश्विक अर्थव्यवस्था में तीन प्रतिशत की गिरावट आने के अनुमान हैं.

चीन की GDP 1.2% पर आने की आशंका

आईएमएफ के अनुसार, एशिया के दो बड़े व्यापारिक भागीदार अमेरिका और यूरोप में क्रमश: छह फीसदी और 6.6 फीसदी की गिरावट के अनुमान हैं. इस साल चीन की आर्थिक वृद्धि दर भी 2019 के 6.1 प्रतिशत से गिरकर 1.2 फीसदी पर आ जाने की आशंका है. आईएमएफ ने कहा कि कोविड-19 के कारण एशिया में उत्पादकता में भारी गिरावट देखने को मिल सकती है. उसने कहा, ‘‘चीन ने पिछले वित्तीय संकट के दौरान जीडीपी के 8 फीसदी के बराबर के राहत उपाय किये थे, जिसके कारण 2009 में चीन की आर्थिक वृद्धि दर मामूली असर के बाद 9.4 फीसदी रही थी. हमें इस बार उस स्तर के राहत उपायों की उम्मीद नहीं है.

World COVID-19: कोरोना के मामले 20 लाख के पार; हर 10 लाख पर 17 डेथ, भारत में किस राज्य का क्या है हाल

चीन 2009 की तरह इस संकट में एशिया की वृद्धि दर को सहारा देने की स्थिति में नहीं है.’’ आईएमएफ ने दक्षिण कोरिया और ऑस्ट्रेलिया के लिये आर्थिक वृद्धि दर के अनुमान में क्रमश: 3.5 फीसदी और 9 फीसदी की कटौती की है.

IMF 1000 अरब डॉलर की मदद को तैयार

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) की प्रमुख क्रिस्टालिना जॉर्जीवा ने बुधवार को कहा कि कोरोना वायरस महामारी के कारण सदस्य देश मदद की भारी मांग कर रहे हैं. अप्रत्याशित तरीके से 189 सदस्य देशों में से 102 देश अब तक मदद की मांग कर चुके हैं. उन्होंने विश्वबैंक के साथ सालाना ग्रीष्मकालीन बैठक की शुरुआत पर एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि आईएमएफ मदद की मांग को पूरा करने के लिए 1000 अरब डॉलर की पूरी क्षमता के कर्ज वितरित करने के लिये प्रतिबद्ध है. आईएमएफ प्रमुख और विश्वबैंक के अध्यक्ष डेविड मालपास दोनों ने जी20 देशों के वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंक के गर्वनरों द्वारा गरीब देशों के लिये कर्ज की किस्तों की देनदारी निलंबित करने के निर्णय की सराहना की.

1930 की महामंदी के बाद सबसे बड़ा संकट

आईएमएफ प्रमुख ने कहा, ‘‘यह एक ऐसा संकट है जो पहले कभी नहीं देखा गया. इस महामारी के कारण वैश्विक अर्थव्यवस्था 1930 दशक की महान आर्थिक मंदी के बाद के सबसे बड़े संकट से गुजर रही है. वैश्विक जीडीपी में तीन प्रतिशत की गिरावट आ सकती है. तीन महीने पहले हमारा आकलन था कि हमारे सदस्य देशों में से 160 देशों में प्रति व्यक्ति आय में वृद्धि होगी, लेकिन अब 170 देशों में प्रति व्यक्ति आय में गिरावट की आशंका है.’’

उन्होंने कहा कि यह इतिहास में पहला मौका है, जब आईएमएफ के वृहद आर्थिक अनुमान में आपदा विशेषज्ञों से राय ली जा रही है. ये विशेषज्ञ आईएमएफ को बता रहे हैं कि यदि यह वायरस लंबे समय तक कहर ढाता रहा या टीका एवं उपचार के दवाओं के विकास में देरी हुई तो स्थिति और खराब हो सकती है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. अंतरराष्ट्रीय
  3. 60 साल में पहली बार 0% रह सकती है एशिया की GDP ग्रोथ, संकटग्रस्त देशों को 1000 अरब डॉलर के मदद की तैयारी: IMF

Go to Top