मुख्य समाचार:
  1. अमेरिका में पढ़ाई का है इरादा, तो जान लें भारतीय दूतावास की एडवाइजरी, नहीं लौटना पड़ेगा वापस

अमेरिका में पढ़ाई का है इरादा, तो जान लें भारतीय दूतावास की एडवाइजरी, नहीं लौटना पड़ेगा वापस

अमेरिकी यूनिवर्सिटी में पढ़ने की इच्छा रखने वाले छात्रों के लिए भारतीय दूतावास ने एडवायजरी जारी किया है.

April 11, 2019 3:29 PM
us, usa, america, study in america, study in us, indian embassy in us, us university, american university, student visa, student visa for us, frodgery in us, us fraud, Study in US: अमेरिकी विश्वविद्यालयों में प्रवेश से पहले अच्छी तरह जांच पड़ताल कर लें.

Study in US: विदेशों में पढ़ने की इच्छा रखने वाले भारतीयों की सूची में पहला स्थान अमेरिका का होता है. उनकी इच्छा होती है कि किसी अच्छी अमेरिकी यूनिवर्सिटी में उन्हें एडमिशन मिल सके. ऐसे छात्रों के लिए भारतीय दूतावास ने एडवायजरी जारी किया है. भारतीय दूतावास ने एडवायजरी में अपील किया है कि छात्र जिस अमेरिकी यूनिर्विसटी में पढ़ना चाहते हैं वहां जाने से पहले पता कर लें कि वे कहीं धोखाधड़ी के शिकार तो होने नहीं जा रहे हैं. दूतावास की सलाह में कहा गया है कि ऐसे छात्र खासतौर पर तीन बातों का ख्याल रखें.

पहली बात यह कि विश्वविद्यालय किसी कैम्पस से चल रहा है या फिर उसके पास महज प्रशासनिक कमरा है और वह वेबसाइट ही चला रहा है. दूसरी बात यह है कि क्या उसके पास टीचर हैं या नहीं और तीसरी बात यह कि विश्वविद्यालय क्या पढ़वाएगा और वह नियम से कक्षा चलवाता है या नहीं.

कानूनी समस्याओं में फंसने का खतरा

दूतावास की एडवायजरी के मुताबिक फर्जी यूनिवर्सिटी में प्रवेश ले चुके छात्रों के पास भले ही नियमित स्टूडेंट वीजा हो, पर वे कानूनी पचड़े में फंस सकते हैं और उन्हें अमेरिका से वापस लौटना पड़ सकता है.

कुछ समय पहले अमेरिकी प्रशासन ने ‘पे टू स्टे’ वीजा रैकेट का भांडाफोड़ करके 129 भारतीय छात्रों को गिरफ्तार कर लिया था. इन छात्रों ने फर्जी विश्वविद्यालयों में प्रवेश लिया था.

भारतीय दूतावास के प्रवक्ता शंभु हक्की ने इस परामर्श में कहा, ‘‘ये सुनिश्चित करने के लिए कि भारतीय छात्र किसी ‘‘जाल’’ में न फंसे, ये सलाह दी जाती है कि अमेरिकी विश्वविद्यालयों में प्रवेश से पहले अच्छी तरह जांच पड़ताल कर लें.’’

पिछले महीने करीब 100 भारतीय छात्र उस वक्त समस्या में फंस गए थे जब उन्हें यह समझ में आया कि जिस यूनिर्विसटी का उन्होंने फॉर्म भरा है वह वास्तव में फर्जी है.

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop